Yogesh Kumar Sharma Dec 14, 2018

*✌उनकी ‘परवाह’ मत करो,*
*जिनका ‘विश्वास’ “वक्त” के साथ बदल जाये..*
*👍‘परवाह’ सदा ‘उनकी’ करो;*
*जिनका ‘विश्वास’ आप पर “तब भी” रहे’*
*जब आप का “वक्त बदल” जाये..*

+39 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Yogesh Kumar Sharma Dec 13, 2018

*तृणानि नोन्मूलयति प्रभन्जनो*
*मृदूनि नीचैः प्रणतानि सर्वतः।*
*स्वभाव एवोन्नतचेतसामयं*
*महान्महत्स्वेव करोति विक्रम॥*

जिस प्रकार से प्रचण्ड आँधी-तूफ़ान बड़े बड़े वृक्षों को जड़ से उखाड़ देता है किन्तु छोटे से तृण को नहीं उखाड़ता उसी प्रकार...

(पूरा पढ़ें)
+40 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Yogesh Kumar Sharma Dec 12, 2018

*तू मूझे संभालता है, ये तेरा उपकार है मेरे दाता।*

*वरना तेरी मेहरबानी के लायक मेरी हस्ती कहाँ,*

*रोज़ गलती करता हूँ, तू छुपाता है अपनी बरकत से,*

*मै मजबूर अपनी आदत से, तू मशहूर अपनी रेहमत से!*

*तू वैसा ही है जैसा मैं चाहता हूँ..*
*बस.. मुझे वै...

(पूरा पढ़ें)
+44 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर