Vnita Kasniaa Punjab Feb 26, 2021

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है. शुक्रवार को पिछले 24 घंटों में जहां 256 नए कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए, वहीं 1 मरीज की मौत भी हुई है. संक्रमण से एक और व्यक्ति की मौत होने से दिल्ली में मृतकों की संख्या 10,906 हो गई है. By समाजसेवी वनिता कासनियां पंजाब फरवरी में एक दिन में संक्रमण का ये सबसे ज्यादा मामला है. इसके अलावा पॉजिटिविटी रेट में भी हल्का इजाफा दर्ज हुआ है. पॉजिटिविटी रेट 0.41 फीसदी है. साथ ही रिकवरी रेट 98.1 फीसदी, एक्टिव मरीज रेट 0.19 फीसदी, डेथ रेट 1.71 फीसदी है. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 256 नए मामले सामने आने के बाद दिल्ली में अब तक कुल मामले 6,38,849 हो गए हैं.पिछले 24 घंटों में 62,768 कोरोना टेस्ट हुए हैं, जिसके बाद अब तक हुए कुल टेस्ट की संख्या का आंकड़ा 1,22,55,443 हो गया है. इससे पहले गुरुवार को दिल्ली में पिछले 24 घंटों के दौरान 220 नए मामले सामने आए थे. वहीं 18.5 लाख से अधिक स्वास्थ्यकर्मी, जिन्हें कोविड टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से टीकों की पहली खुराक मिली थी, उन्हें दूसरी और अंतिम खुराक के रूप में टीका लगाया गया है, जबकि 2,44,511 ने दूसरा शॉट प्राप्त किया. अब तक, दूसरी खुराक टीकाकरण में उन स्वास्थ्य कर्मचारियों के 55.23 प्रतिशत शामिल हैं, जो मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, टीके की अपनी दूसरी खुराक प्राप्त करने के लिए पात्र हैं. 25 फरवरी तक दूसरी खुराक के साथ कुल 18,60,859 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाया गया है.In the capital of the country, the process of increase in corona cases is going on. In the last 24 hours on Friday, where 256 new corona infection cases were reported, 1 patient has also died. With the death of one more person due to infection, the number of dead in Delhi has increased to 10,906. By social worker Vanita Kasani Punjab, this is the highest case of infection in one day in February. Apart from this, there has been a slight increase in the positivity rate. The positivity rate is 0.41 percent. Also, the recovery rate is 98.1 percent, the active patient rate is 0.19 percent, the death rate is 1.71 percent. After the arrival of 256 new corona cases in the last 24 hours, the total number of cases in Delhi has gone up to 6,38,849. , Is 55,443. Earlier on Thursday, 220 new cases were reported in Delhi during the last 24 hours. Over 18.5 lakh health workers, who received the first dose of vaccines since the commencement of the Kovid vaccination campaign, have been vaccinated as the second and final dose, while 2,44,511 received the second shot. So far, the second dose vaccination comprises 55.23 percent of the health workers who, according to the Ministry's data, are eligible to receive their second dose of the vaccine. A total of 18,60,859 health workers have been vaccinated with the second dose until 25 February.

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vnita Kasniaa Punjab Feb 25, 2021

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vnita Kasniaa Punjab Feb 15, 2021

http://vnita30.blogspot.com/2021/02/cow-dung-paint-in-india-dung-by-cow.htmlCow Dung Paint in India: गाय-भैंस जैसे जानवरों का गोबर (Dung) कई तरह इस्तेमाल होता है. गाँवों में लोग वर्मी कम्पोस्ट या खाद बनाकर खेतों में डालते हैं. उपले भी बना लिए जाते हैं, लेकिन इसके बाद भी बहुत बड़ी मात्रा में गोबर बर्बाद हो जाता है. जबकि गोबर का कई और तरीकों से इस्तेमाल कर कमाई भी की जा सकती है. देश में अब ऐसा होने की पूरी संभावना है. By समाजसेवी वनिता कासनियां पंजाब गोबर की खपत के लिए हर गाँव में फैक्ट्री खुलेगी. ये फैक्ट्री पेंट (Cow Dung Paint Factory) बनाने को होगी. पेंट गोबर से बनाया जाएगा, जिसे गोबर पेंट (Gobar Paint) कहा जाएगा. केंद्र सरकार इसकी योजना में लगी हुई है. एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) इसकी योजना बना रहे हैं. वह देश के हर गांव में गोबर से पेंट बनाने की फैक्ट्री (Gobar Paint Factory) खुलवाने की तैयारी में जुटे हुए हैं. इसके लिए उनका सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम मंत्रालय खास प्लान तैयार करने में जुटा है. गोबर से पेंट बनाने के लिए एक फैक्ट्री खोलने में 15 लाख रुपये का खर्च आ रहा है. मंत्रालय का मानना है कि केंद्रीय मंत्री गडकरी का सपना साकार हुआ तो हर गांव में रोजगार के अवसर उपलब्ध होने से शहरों की तरफ पलायन की समस्या खत्म होगी. नितिन गडकरी के मुताबिक, गोबर से बना अनोखा पेंट लांच होने के बाद डिमांड काफी तेजी से बढ़ी है. अभी जयपुर में ट्रेनिंग की व्यवस्था है. इतने आवेदन आए कि सबकी ट्रेनिंग नहीं हो पा रही है. साढ़े तीन सौ लोग वेटिंग लिस्ट मे हैं. पांच से सात दिनों की ट्रेनिंग होती है. ऐसे में हम ट्रेनिंग सुविधा (Cow Dung Paint Training) बढ़ाने पर ध्यान दे रहे हैं. ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग ट्रेनिंग लेकर गोबर से पेंट बनाने की फैक्ट्री का संचालन करें. हर गांव में एक फैक्ट्री (Gobar Paint Plant) खुलने से ज्यादा रोजगार पैदा होगा. दरअसल, केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री नितिन गडकरी ने बीते 12 जनवरी, 2021 को खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग की तरफ से तैयार गोबर (Gobar Paint Factory Kaise Lagaen) से बना प्राकृतिक पेंट लॉन्च किया था. यह पेंट इकोफ्रेंडली है. पहला ऐसा पेंट है, जो विष-रहित होने के साथ फफूंद-रोधी, जीवाणु-रोधी गुणों वाला है. गाय के गोबर से बने और भारतीय मानक ब्यूरो से प्रमाणित, यह पेंट गंधहीन है. यह पेंट दो रूपों में उपलब्ध है- डिस्टेंपर तथा प्लास्टिक इम्यूलेशन पेंट के रूप में मार्केट में आया है. एमएसएमई मिनिस्ट्री के एक अधिकारी ने बताया, केंद्रीय मंत्री गडकरी ने पिछले साल मार्च 2020 से गोबर से पेंट बनाने के लिए खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग को प्रेरित किया था. आखिरकार, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) की जयपुर में स्थित यूनिट कुमारप्पा नेशनल हैंडमेड पेपर इंस्टीट्यूट ने इस तरह के अनोखे पेंट को तैयार करने में सफलता हासिल की. इस पेंट में सीसा, पारा, क्रोमियम, आर्सेनिक, कैडमियम जैसे भारी धातुओं का असर नहीं है. किसानों की बढ़ेगी कमाई (Income From Cow Dung) पेंट की बिक्री बढ़ने के बाद गांवों में गोबर की खरीद भी बढ़ेगी. खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के अधिकारियों के मुताबिक, सिर्फ एक मवेशी के गोबर से किसान हर साल 30 हजार रुपये कमाएंगे. अभी तक किसान गोबर का सिर्फ खेतों में खाद के रूप में इस्तेमाल करते हैं. लेकिन, गांव-गांव पेंट की फैक्ट्रियां खुलने के बाद गोबर की खरीद का भी एक तंत्र बन जाएगा, जिससे किसानों की आमदनी में इजाफा होगा. मोदी सरकार किसानों की आमदनी दोगुनी करने की कोशिशों में जुटी है. ऐसे में गोबर के माध्यम से भी किसानों की आय बढ़ाने की दिशा में गडकरी के मंत्रालय ने यह प्रयास किया है. Manufacturing of Cow Dung Paint अगर गोबर फैक्ट्री लगाना चाहते हैं तो इसके लिए उद्योग मंत्रालय इसकी रूपरेखा बनाने में लगा है. इसके तहत आप अप्लाई (How To Apply Cow Dung Paint Factory) कर सकते हैं.

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vnita Kasniaa Punjab Feb 14, 2021

Punjab News: मोदी सरकार ने लाखों सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के हित में अहम फैसला लिया है. By समाजसेवी वनिता कासनियां पंजाब केंद्र सरकार ने फैमि‍ली पेंशन भुगतान के नियम में सुधार करते हुए फैमि‍ली पेंशन भुगतान की सीमा 45,000 रुपये से बढ़ाकर 1,25,000 रुपये प्रतिमाह कर दी है. इसकी जानकारी केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) ने हाल ही में दी है. उन्होंने बताया कि फैमिली पेंशन में सुधार किया गया है और उसके भुगतान की सीमा 45,000 रुपये से बढ़ाकर 1,25,000 रुपये प्रतिमाह कर दी गई है. उन्‍होंने कहा कि इस कदम से स्‍वर्गवासी हो चुके कर्मचारियों के परिवार के सदस्‍यों का जीवन आसान हो जाएगा और उन्‍हें पर्याप्‍त वित्‍तीय सुरक्षा मिलेगी.डॉ सिंह ने कहा कि पेंशन एवं पेंशनर कल्‍याण विभाग (डीओपीपीडब्‍ल्‍यू) ने उस राशि के मामले में स्‍पष्‍टीकरण जारी किया है, जिसमें अपने माता या‍ पिता की मृत्‍यु हो जाने पर कोई बच्‍चा फैमिली पेंशन की दो किस्‍तें निकालने का हकदार होता है. डॉ. सिंह ने कहा कि अब ऐसी दो किस्‍तों की कुल राशि 1,25,000 से ज्‍यादा नहीं हो सकती. यह पिछली सीमा से ढ़ाई गुना अधिक की वृद्धि है. फैमि‍ली पेंशन का पुराना नियम केन्‍द्रीय सिविल सेवा (पेंशन) नियमन 1972 के नियम 54 के उपनियम 11 के अनुरूप, यदि पति और पत्‍नी दोनों ही सरकारी सेवा में हैं और इस नियम के तहत आते हैं, तो उनकी मौत की स्थिति में उनका जीवित बच्‍चा अपने माता-पिता की दो फैमिली पेंशन पाने के योग्‍य होगा. इससे पहले के निर्देशों में तय किया गया था कि ऐसे मामलों में दो फैमिली पेंशन की कुल राशि 45,000 रुपये प्रतिमाह और 27,000 रुपये प्रतिमाह, यानी क्रमश: 50 प्रतिशत और 30 प्रतिशत की दर से अधिक नहीं होगी. यह दर छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप 90,000 रुपये के अधिकतम वेतन के संदर्भ में तय की गई थी. 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार किया गया सुधार अब ज‍बकि 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार अधिकतम वेतन बढ़कर 2,50,000 रुपये प्रतिमाह हो गया है, तो केन्‍द्रीय सिविल सेवा पेंशन के नियम 54 (11) के अनुसार यह राशि 2,50,000 रुपये का 50 प्रतिशत यानी 1,25,000 रुपये और 2,50,000 रुपये का 30 प्रतिशत यानी 75,000 रुपये तय की गई है. यह स्‍पष्‍टीकरण विभिन्‍न मंत्रालयों/विभागों से प्राप्‍त संदर्भों के मामले में जारी किया गया है. मौजूदा नियमों के अनुसार यदि किसी बच्‍चे के माता-पिता सरकारी सेवा में हैं और उनमें से एक की सेवाकाल में मृत्‍यु हो जाती है या वह सेवानिवृत्‍त हो जाते हैं तो स्‍वर्गवासी होने वाले व्‍यक्ति की फैमिली पेंशन उसके जीवित साथी को दी जाएगी और यदि उस साथी की भी मौत हो जाती है, तो जीवित बच्‍चे को, अपनी योग्‍यता साबित करने के बाद, अपने स्‍वर्गवासी माता-पिता दोनों की फैमिली पेंशन अदा की जाएगी. वनिता पंजाब* Change yourself before changing the world, the world itself will look changing. * * Business or any aspect of life, * * Anyone in doubt and doubt can do anything, success will not be achieved. * * 🙏Good Mhttp://baluwana.blogspot.com/2021/02/punjab-news-by-45000-125000-jitendra.html

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vnita Kasniaa Punjab Feb 13, 2021

+4 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vnita Kasniaa Punjab Feb 12, 2021

http://vnita30.blogspot.com/2021/02/by-20-14-50-12-38-6-21-22-23-30-31-32.html संवाद सूत्र, फाजिल्का : कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों की ओर से लगातार भाजपा उम्मीदवारों का विरोध किया जा रहा है। By समाजसेवी वनिता कासनियां पंजाब लेकिन फाजिल्का में दोपहर को उस समय माहौल गर्म हो गया, जब भाजपा ने किसानी झंडा हाथों में लेकर आए लोगों पर उनके समर्थकों के साथ-साथ महिला से भी गलत व्यवहार करने के आरोप लगाते हुए गोशाला रोड पर धरना दे दिया। यह धरना करीब आधे घंटे तक चला, जिसके बाद डीएसपी ने मौके पर पहुंचकर भाजपा नेताओं से बातचीत करते हुए धरना खत्म करवाया। धरने पर मौजूद भाजपा के पूर्व विधायक सुरजीत कुमार ज्याणी, भाजपा जिलाध्यक्ष राकेश धूड़िया, मंडल अध्यक्ष मनोज त्रिपाठी ने कहा कि किसानों की ओर से लगातार भाजपा उम्मीदवारों का विरोध किया जा रहा है।लेकिन वीरवार को किसानी झंडा हाथों में लिए कुछ लोग वार्ड नंबर 20 में बने भाजपा के कार्यालय पर पहुंचे और वहां बड़े उनके समर्थकों के साथ अपशब्द बोले। उधर धरने के चलते एचडीएफसी मार्ग बंद हो जाने के कारण लोगों को कई गलियों से घूमकर जाना पड़ा, जबकि सबसे ज्यादा परेशान चार पहिया वाहन चालकों को हुई। सूचना मिलने पर डीएसपी जसबीर सिंह धरना स्थल पर पहुंचे और पूर्व विधायक सुरजीत कुमार ज्याणी से बातचीत की, जिसके बाद उन्होंने धरनाकारियों को विश्वास दिलाया कि उक्त मामले में जांच के साथ जल्द कार्रवाई होगी। शांतिपूर्ण माहौल में होंगे नगर निगम चुनाव: डीएसपी संवाद सहयोगी, अबोहर : नगर निगम के चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न करवाने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी तैयारी कर चुका है। डीएसपी राहुल भारद्वाज ने बताया कि नगर निगम चुनाव वाले दिन 14 फरवरी को बिना किसी डर के वोटर वोट डाले। इसके लिए व्यापक प्रबंध किए जा रहे हैं। अबोहर के कुल 50 वार्डो में से 12 को अति संवेदनशील व 38 को संवेदनशील घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि अतिसंवेदनशील वार्डो में वार्ड नं 6, 21, 22, 23, 30 ,31, 32, 35 ,44, 46, 49 व 50 शामिल है। यहां पर पुलिस फोर्स की तैनाती के पूर्ण प्रबंध होंगे और किसी भी बूथ पर असमाजिक तत्वों को फटकने नही दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का पर्व है और सभी मतदाता इस पर्व को बिना खौफ के मनाएं। पुलिस उनकी सुरक्षा में तैनात रहेगी।Dialogues, Fazilka: BJP candidates are continuously opposing the farmers who are protesting against the agrarian reform laws. By social worker Vanita Kasani Punjab, but the atmosphere in Fazilka started to heat up in the afternoon when BJP staged a sit-in on Goshala Road, accusing the people who took the peasants' flag for mistreating their supporters as well as women . The picket lasted for about half an hour, after which the DSP reached the spot and finished the strike while talking to BJP leaders. Former BJP MLA Surjit Kumar Jeyani, BJP District President Rakesh Dhudia, Divisional President Manoj Tripathi, who were present on the protest said that farmers are constantly opposing the BJP candidates. Arrived at the BJP office in Meerut and spoke loudly with his supporters there. On the other hand, due to the shutdown of the HDFC route, people had to walk through many lanes, while the four-wheelers were the most upset. On receiving the information, DSP Jasbir Singh reached the dharna site and spoke to former MLA Surjit Kumar Jeyani, after which he assured the dharnais that action would be taken soon with the investigation in the said case. Municipal elections will be held in a peaceful environment: DSP Dialogue aide, Abohar: The police administration has made complete preparations for the municipal elections to be conducted peacefully. DSP Rahul Bhardwaj said that on February 14, the day of the municipal elections, voters cast votes without any fear. Extensive arrangements are being made for this. Of the total 50 wards of Abohar, 12 have been declared as very sensitive and 38 as sensitive. He said that ward number 6, 21, 22, 23, 30, 31, 32, 35, 44, 46, 49 and 50 are included in the susceptible wards. There will be full arrangements for the deployment of police force here and anti-social elements will not be allowed to burst at any booth. He said that election is a festival of democracy and all voters should celebrate this festival without fear. Police will be deployed under their protection.

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vnita Kasniaa Punjab Feb 12, 2021

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर