Vivek Singh Jan 17, 2020

*हिन्दी बोलने का प्रयास करें...* ये वो उर्दू के शब्द जो आप प्रतिदिन प्रयोग करते हैं, इन शब्दों को त्याग कर मातृभाषा का प्रयोग करें... *उर्दू* *हिंदी* 01 ईमानदार - निष्ठावान 02 इंतजार - प्रतीक्षा 03 इत्तेफाक - संयोग 04 सिर्फ - केवल, मात्र 05 शहीद - बलिदान 06 यकीन - विश्वास, भरोसा 07 इस्तकबाल - स्वागत 08 इस्तेमाल - उपयोग, प्रयोग 09 किताब - पुस्तक 10 मुल्क - देश 11 कर्ज - ऋण 12 तारीफ - प्रशंसा 13 तारीख - दिनांक, तिथि 14 इल्ज़ाम - आरोप 15 गुनाह - अपराध 16 शुक्रिया - धन्यवाद, आभार 17 सलाम - नमस्कार, प्रणाम 18 मशहूर - प्रसिद्ध 19 अगर - यदि 20 ऐतराज - आपत्ति 21 सियासत - राजनीति 22 इंतकाम - प्रतिशोध 23 इज्जत - मान, प्रतिष्ठा 24 इलाका - क्षेत्र 25 एहसान - आभार, उपकार 26 अहसानफरामोश - कृतघ्न 27 मसला - समस्या 28 इश्तेहार - विज्ञापन 29 इम्तेहान - परीक्षा 30 कुबूल - स्वीकार 31 मजबूर - विवश 32 मंजूरी - स्वीकृति 33 इंतकाल - मृत्यु, निधन 34 बेइज्जती - तिरस्कार 35 दस्तखत - हस्ताक्षर 36 हैरानी - आश्चर्य 37 कोशिश - प्रयास, चेष्टा 38 किस्मत - भाग्य 39 फैसला - निर्णय 40 हक - अधिकार 41 मुमकिन - संभव 42 फर्ज - कर्तव्य 43 उम्र - आयु 44 साल - वर्ष 45 शर्म - लज्जा 46 सवाल - प्रश्न 47 जवाब - उत्तर 48 जिम्मेदार - उत्तरदायी 49 फतह - विजय 50 धोखा - छल 51 काबिल - योग्य 52 करीब - समीप, निकट 53 जिंदगी - जीवन 54 हकीकत - सत्य 55 झूठ - मिथ्या, असत्य 56 जल्दी - शीघ्र 57 इनाम - पुरस्कार 58 तोहफा - उपहार 59 इलाज - उपचार 60 हुक्म - आदेश 61 शक - संदेह 62 ख्वाब - स्वप्न 63 तब्दील - परिवर्तित 64 कसूर - दोष 65 बेकसूर - निर्दोष 66 कामयाब - सफल 67 गुलाम - दास 68 जन्नत -स्वर्ग 69 जहरनुम -नर्क 70 खौफ -डर 71 जश्न -उत्सव 72 मुबारक -बधाई/शुभेच्छा 73 लिहाजा -अर्थात 74 निकाह -विवाह/शादी 75 आशिक -प्रेमी 76 मासुका -प्रेमिका 77 हकीम -वैद्य 78 नवाब -राजसाहब 79 रुह -आत्मा 80 खुदखुशी -आत्महत्या 81 इजहार -प्रस्ताव 82 बादशाह -राजा/महाराजा 83 ख़्वाहिश -महत्वाकांक्षा 84 जिस्म -शरीर/अंग 85 हैवान -दैत्य/असुर 86 रहम -दया 87 बेरहम -बेदर्द/दर्दनाक 88 खारिज -रद्द 89 इस्तिफा -त्यागपत्र 90 रोशनी -प्रकाश 91मसिहा -देवदुत 92 पाक -पवित्र 93 कत्ल -हत्या 94 कातिल -हत्यारा इनके अतिरिक्त हम प्रतिदिन अनगिनत उर्दू शब्द प्रयोग में लेते हैं ! *भाषा बचाइये, संस्कृति बचाइये...*🙏

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Vivek Singh Nov 12, 2019

*सुप्रभातम्*🌞✨ *देव दीपावली एवं प्रकाश पर्व की शुभकामनाएं* 🙏🏻विद्युनमाली, तारकाक्ष एवं विर्यवान ये तीन असुर त्रिपुरासुर के पुत्र थे जो तीन नगरी बनाकर लोगों के परेशान करते थे। इस दिन *शंकर भगवान* ने *राक्षस त्रिपुरासुर* और तीनो नगरी का संहार किया था. इसी खुशी में *देवताओं* ने इस दिन *स्वर्ग लोक में दीपक* जलाकर जश्न मनाया था। ✨इसलिए इस दिन को *देव दिवाली* के रुप में मनाया जाता है। त्रिपुरासुर के वध करने के कारण *त्रिपुरारी पूर्णिमा* से भी यह पर्व जाना जाता है। 💐इस दिन को *कुमार कार्तिकेय, मत्स्यावतार एवं तुलसी महारानी के जन्मोत्सव* के रूप में भी मनाया जाता है। *👳🏽सिख सम्प्रदाय* में कार्तिक पूर्णिमा का दिन प्रकाशोत्सव के रूप में मनाया जाता है। क्योंकि इस दिन सिख सम्प्रदाय के संस्थापक *गुरू नानक देव का जन्म*(1469-1539) हुआ था। 😇इस दिन सिख सम्प्रदाय के अनुयायी गुरूद्वारों में जाकर गुरूवाणी सुनते हैं और नानक जी के बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लेते हैं। इसे *गुरु पर्व या प्रकाश पर्व* भी कहा जाता है। 🙏🏻गुरु नानक ने अपने शिष्यों से *तीन मुख्य बातों का पालन* करने के लिए कहा है। 1)ईश्वर का नाम जपें। 2)सच्ची कीरत (कमाई) करें। 3)गरीब मार नहीं करें। (दान करें)। *शुभ देव दीपावली*✨ *शुभ त्रिपुरारी पूर्णिमा*🌝 *Happy 550th Birthday to Guru Nanak Dev ji*🙏🏻 *सतनाम वाहेगुरु*🙏🏻

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vivek Singh Oct 13, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Vivek Singh Jul 16, 2019

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर