👏🚩🛐🌺🙏🌺🙏🌺🙏🌺🛐🚩👏 ब्रह्मा मुरारिस्त्रिपुरान्तकारी भानुः शशी भूमिसुतो बुधश्च । गुरुश्च शुक्रः शनिराहुकेतवः कुर्वन्तु सर्वे मम सुप्रभातम् ॥ अर्थ ग्रहों में प्रथम परिगणित, अदिति के पुत्र तथा विश्व की रक्षा करने वाले भगवान सूर्य विषम स्थानजनित मेरी पीड़ा का हरण करें ।। दक्षकन्या नक्षत्र रूपा देवी रोहिणी के स्वामी, अमृतमय स्वरूप वाले, अमतरूपी शरीर वाले तथा अमृत का पान कराने वाले चंद्रदेव विषम स्थानजनित मेरी पीड़ा को दूर करें ।। भूमि के पुत्र, महान् तेजस्वी, जगत् को भय प्रदान करने वाले, वृष्टि करने वाले तथा वृष्टि का हरण करने वाले मंगल (ग्रहजन्य) मेरी पीड़ा का हरण करें ।। जगत् में उत्पात करने वाले, महान द्युति से संपन्न, सूर्य का प्रिय करने वाले, विद्वान तथा चन्द्रमा के पुत्र बुध मेरी पीड़ा का निवारण करें ।। सर्वदा लोक कल्याण में निरत रहने वाले, देवताओं के मंत्री, विशाल नेत्रों वाले तथा अनेक शिष्यों से युक्त बृहस्पति मेरी पीड़ा को दूर करें ।। दैत्यों के मंत्री और गुरु तथा उन्हें जीवनदान देने वाले, तारा ग्रहों के स्वामी, महान् बुद्धिसंपन्न शुक्र मेरी पीड़ा को दूर करें ।। सूर्य के पुत्र, दीर्घ देह वाले, विशाल नेत्रों वाले, मंद गति से चलने वाले, भगवान् शिव के प्रिय तथा प्रसन्नात्मा शनि मेरी पीड़ा को दूर करें ।। विविध रूप तथा वर्ण वाले, सैकड़ों तथा हजारों आंखों वाले, जगत के लिये उत्पातस्वरूप, तमोमय राहु मेरी पीड़ा का हरण करें ।। महान शिरा (नाड़ी)- से संपन्न, विशाल मुख वाले, बड़े दांतों वाले, महान् बली, बिना शरीर वाले तथा ऊपर की ओर केश वाले शिखास्वरूप केतु मेरी पीड़ा का हरण करें।। 🌄🌄ॐ शांति शांति शांति🌄🌄

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर

🌼🙏🔯जय श्रीराम🔯🙏🌼 🌷🛐जय रामदूत हनुमान🛐🌷 🌟🏵शुभ मंगलवार🌻शुभ दिन🏵🌟 🌹👏शुभप्रभात❤😊❤स्नेहवंदन👏🌹 🌞🌞🌞🌞🚩🌻🚩🌻🚩🌞🌞🌞🌞 प्रभू ने सृष्टि की रचना करते समय *तीन* विशेष रचना की... *1.* अनाज में *कीड़े* पैदा कर दिए, वरना लोग इसका संग्रह सोने और चाँदी की तरह करते। *2.* मृत्यु के बाद शरीर में *दुर्गन्ध* उत्पन्न कर दी, वरना कोई अपने प्यारों को कभी भी जलाता या दफ़न नहीं करता। *3.* जीवन में किसी भी प्रकार के संकट या अनहोनी के साथ *रोना और समय के साथ भुलना* दिया, वरना जीवन में निराशा और अंधकार ही रह जाता और जीने की इच्छा नहीं होती। **************************** जीना *सरल* है... प्यार करना *सरल* है.. हारना और जीतना भी *सरल* है... तो फिर *कठिन* क्या है? *सरल* होना बहुत *कठिन* है? 🙏🏻🙏🏻🙏🏻

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर