🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 07 मई 2021* ⛅ *दिन - शुक्रवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2078 (गुजरात - 2077)* ⛅ *शक संवत - 1943* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - ग्रीष्म* ⛅ *मास - वैशाख (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - चैत्र)* ⛅ *पक्ष - कृष्ण* ⛅ *तिथि - एकादशी शाम 03:32 तक तत्पश्चात द्वादशी* ⛅ *नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद दोपहर 12:26 तक तत्पश्चात उत्तर भाद्रपद* ⛅ *योग - वैधृति शाम 07:31 तक तत्पश्चात विष्कम्भ* ⛅ *राहुकाल - सुबह 10:58 से दोपहर 12:35 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:05* ⛅ *सूर्यास्त - 19:04* ⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - वरुथिनी एकादशी* 💥 *विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है l राम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।* 💥 *आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l* 💥 *एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।* 💥 *एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।* 💥 *जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌷 *वरूथिनी एकादशी* 🌷 ➡ *06 मई 2021 गुरुवार को दोपहर 02:11 से 07 मई, शुक्रवार को शाम 03:32 तक एकादशी है ।* 💥 *विशेष - 07 मई, शुक्रवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।* *वरूथिनी एकादशी (सौभाग्य, भोग, मोक्ष प्रदायक व्रत; १०,००० वर्षों की तपस्या के समान फल | माहात्म्य पढ़ने-सुनने से १००० गोदान का फल )* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌷 *पुण्यदायी तिथियाँ* 🌷 ➡ *14 मई - अक्षय तृतिया ( पूरा दिन शुभ मुहूर्त ), त्रेता युगादि तिथि ( स्नान, दान, जप, तप, हवन आदि का अनंत फल ), विष्णुपदी संक्रांति (पुण्यकाल : दोपहर 12:35 से सूर्यास्त ) ध्यान, जप व पुण्यकर्म का लाख गुना फल )* ➡ *19 मई - बुधवारी अष्टमी ( दोपहर 12:51से 20 मई सूर्योदय तक )* ➡ *23 मई - त्रिस्पृशा-मोहिनी एकादशी* ➡ *24 मई - वैशाख शुक्ल त्रयोदशी इसी दिन से वैशाखी पूर्णिमा (26 मई) तक के प्रात: पुण्यस्नान से सम्पूर्ण वैशाख मास-स्नान का फल व गीता-पाठ से अश्वमेध यज्ञ का फल |* ➡ *26 मई - खग्रास व खंडग्रास चन्द्रग्रहण (पूर्वी भारत के कुछ क्षेत्रों में खंडग्रास दिखेगा, वही नियम पालनीय | ➡ *02 जून - बुधवारी अष्टमी (सूर्योदय से रात्रि 01:13 तक )* ➡ *06 जून - अपरा एकादशी ( व्रत से बहुत पुण्यप्राप्ति और बड़े-बड़े पातकों का नाश )* ➡ *13 जून - रविपुष्यामृत योग ( रात्रि 07:01 से 14 जून सुयोदय तक )* ➡ *15 जून - षडशीति संक्रान्ति (पुण्यकाल : सूर्योदय से दोपहर 12:39 तक) (ध्यान, जप व पुण्यकर्म का ८६,००० गुना फल। 🌞 *~ हिन्दू पंचाग ~* 🌞 🙏🍀🌻🌹🌸💐🍁🌷🌺🙏

+481 प्रतिक्रिया 94 कॉमेंट्स • 627 शेयर

+340 प्रतिक्रिया 78 कॉमेंट्स • 205 शेयर

+255 प्रतिक्रिया 58 कॉमेंट्स • 91 शेयर

+298 प्रतिक्रिया 62 कॉमेंट्स • 91 शेयर