भूले तो नहीं हैं...!! दुर्गा शक्ति नागपाल.... ज्यादा पुरानी नही सन् 2013 की बात है। IAS थी गौतम बुद्ध नगर जिले में उस समय के समाजवादी खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ने की गलती कर बैठी। टोंटी चोर ने बेचारी को सस्पैंड कर दिया था क्योंकि सपा के भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रही थीं।यूपी तो छोड़ो, सारे देश में बवाल मचा था। IAS ऐसोसियेशन, IPS ऐसोसियेशन,चीफ सेक्रेटरी, हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट, और खुद तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हस्तक्षेप किया मगर टोंटी चोर ने उस महिला IAS अधिकारी का सस्पेंशन Revoke करने बजाय, उसे चार्जशीट दे दी गई। इस पूरे प्रकरण मे गौर करने वाली बात ये थी कि ग्रेटर नोएडा के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट रविकांत ने खुद मामले की जाँच करके रिपोर्ट दाखिल की थी जिसमें उन्होने बाकायदा लिखा था कि दुर्गा शक्ति नागपाल ने मस्जिद की दीवार गिराना तो दूर की बात है, वहाँ अभी तक कोई दीवार बनी ही नही थी। वहाँ केवल कथित मस्जिद बनाने के लिए नींव खोदी जा रही थी, क्योंकि वो जगह सरकारी थी, और सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार किसी भी सरकारी जमीन पर कब्जा करना और उस पर धर्म स्थल बनाना अवैध है। इसीलिए दुर्गा शक्ति नागपाल पर दीवार गिराने का आरोप लगाना ही गलत है।उन्होंने केवल सरकारी जमीन पर धर्म स्थल बनाने का प्रयास कर रहे लोगों को चेतावनी दी थी। एक मुख्यमंत्री की जिद और खुले तुष्टीकरण के चलते, IAS एसोसिएशन , पूरी ब्यूरोक्रेट लाॅबी, सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट और प्रधानमंत्री तक पानी भरते नजर आये।प्रधानमंत्री तक की नहीं चलती थी, क्योंकि इसी मुलायम ने जनवरी 2013 में अल्पमत में आई UPA सरकार को गिरने से बचाया था। खुलेआम बयान दिये गये कि केवल "मुस्लिम लडकियाँ" ही हमारी बेटियाँ है और सरकार से 30,000/- रूपये का शिक्षा अनुदान केवल उन्ही को मिलेगा। निर्धन हिंदू लडकियों को शिक्षा अनुदान देने की कोई योजना सपा सरकार में नहीं है और यही हुआ था। नोएडा में एक BA पास डिप्लोमा होल्डर जो कि इंजीनियर तक नहीं था उसको नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण का चीफ इंजीनियर और यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण का चीफ बनाकर दिया गया।और नतीजा 954 करोड़ रुपए का घोटाला था और उत्तर प्रदेश सरकार चीफ इंजिनियर यादव सिंह को बचाने सुप्रीम कोर्ट तक गई, जहाँ से लतियाकर भगा दिये गये। 2020 में यादव सिंह को फिर से CBI ने गिरफ्तार किया है। सपा करतूतें केवल यहीं समाप्त नही होती। One more feather had been added to their लाल टोपी जब मथुरा में इनके गुर्गे "रामवृक्ष यादव" और उसकी चांडाल चौकड़ी ने, मथुरा के जवाहर बाग से अपनी समानांतर सरकार चलाना शुरू कर दी थी। कोर्ट के आदेश को अखिलेश बाबू की शह पर, रामवृक्ष यादव ने 2 पुलिस अफसर बेमौत मारवा दिये।वहाँ से मात्र 47 बंदूकें,6 राईफल,179 हैंड ग्रेनेड ही मिले थे। रामवृक्ष यादव कौन था? किसका गुर्गा था? बच्चे-2 को पता था कि अखिलेश यादव सहित पूरे यादव परिवार का संरक्षण प्राप्त था और ये आदमी मथुरा के जवाहर बाग से अपनी समानांतर सरकार लाल टोपी गैंग के संरक्षण में चला रहा था।ये तो बस छोटे मोटे कारनामे हैं, लाल टोपी,टोंटीचोर गैंग के। इनकी शान में अगर पूरी फेहरिस्त पढ़ी जाये, तो सुबह हो जायेगी मगर इनके चमत्कारी कारनामों का दूसरा छोर नजर नही आयेगा। गुंडा राज, सैफई का मुजरा,ये सब तो क्षुद्र किस्म के कारनामे थे, जो चमत्कार की श्रेणी मे आते ही नही। यह तो समाजवादी पार्टी की सरकार का ट्रैलर था इसीलिए, याद दिलाने की हिमाकत की है ताकि सनद रहे और वोट डालते समय अपनी वोट भाजपा को देकर गुंडागर्दी और माफियाओं के रहनुमाओं सपाइयों को कड़ा सबक सिखाएं और भय मुक्त, सुरक्षित और अपराध मुक्त उत्तरप्रदेश बनाने के लिए भाजपा को वोट करें। #upelections2022

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 17 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर

शाहजहाँ ने बताया था, हिंदू क्यों गुलाम हुआ ? समय न हो तो भी, एक बार तो अवश्य पढें । मुग़ल बादशाह शाहजहाँ लाल किले में तख्त-ए-ताऊस पर बैठा हुआ था । दरबार का अपना सम्मोहन होता है और इस सम्मोहन को राजपूत वीर अमर सिंह राठौर ने अपनी पद चापों से भंग कर दिया । अमर सिंह राठौर शाहजहां के तख्त की तरफ आगे बढ़ रहे थे । तभी मुगलों के सेनापति सलावत खां ने उन्हें रोक दिया । सलावत खां - ठहर जाओ अमर सिंह जी, आप 8 दिन की छुट्टी पर गए थे और आज 16वें दिन तशरीफ़ लाए हैं । अमर सिंह - मैं राजा हूँ । मेरे पास रियासत है फौज है, मैं किसी का गुलाम नहीं । सलावत खां - आप राजा थे ।अब सिर्फ आप हमारे सेनापति हैं, आप मेरे मातहत हैं । आप पर जुर्माना लगाया जाता है । शाम तक जुर्माने के सात लाख रुपए भिजवा दीजिएगा । अमर सिंह - अगर मैं जुर्माना ना दूँ । सलावत खां- (तख्त की तरफ देखते हुए) हुज़ूर, ये काफि़र आपके सामने हुकूम उदूली कर रहा है । अमर सिंह के कानों ने काफि़र शब्द सुना । उनका हाथ तलवार की मूंठ पर गया, तलवार बिजली की तरह निकली और सलावत खां की गर्दन पर गिरी । मुगलों के सेनापति सलावत खां का सिर जमीन पर आ गिरा । अकड़ कर बैठा सलावत खां का धड़ धम्म से नीचे गिर गया । दरबार में हड़कंप मच गया । वज़ीर फ़ौरन हरकत में आया और शाहजहां का हाथ पकड़कर उन्हें सीधे तख्त-ए-ताऊस के पीछे मौजूद कोठरीनुमा कमरे में ले गया । उसी कमरे में दुबक कर वहां मौजूद खिड़की की दरार से वज़ीर और बादशाह दरबार का मंज़र देखने लगे । दरबार की हिफ़ाज़त में तैनात ढाई सौ सिपाहियों का पूरा दस्ता अमर सिंह पर टूट पड़ा था । देखते ही देखते अमर सिंह ने शेर की तरह सारे भेड़ियों का सफ़ाया कर दिया । बादशाह - हमारी 300 की फौज का सफ़ाया हो गया्, या खुदा । वज़ीर - जी जहाँपनाह । बादशाह - अमर सिंह बहुत बहादुर है, उसे किसी तरह समझा बुझाकर ले आओ । कहना, हमने माफ किया । वज़ीर - जी जहाँपनाह । हुजूर, लेकिन आँखों पर यक़ीन नहीं होता । समझ में नहीं आता, अगर हिंदू इतना बहादुर है तो फिर गुलाम कैसे हो गया ? बादशाह - सवाल वाजिब है, जवाब कल पता चल जाएगा । अगले दिन फिर बादशाह का दरबार सजा । शाहजहां - अमर सिंह का कुछ पता चला । वजीर- नहीं जहाँपनाह, अमर सिंह के पास जाने का जोखिम कोई नहीं उठाना चाहता है । शाहजहां - क्या कोई नहीं है जो अमर सिंह को यहां ला सके ? दरबार में अफ़ग़ानी, ईरानी, तुर्की, बड़े बड़े रुस्तम-ए-जमां मौजूद थे, लेकिन कल अमर सिंह के शौर्य को देखकर सबकी हिम्मत जवाब दे रही थी । आखिर में एक राजपूत वीर आगे बढ़ा, नाम था अर्जुन सिंह । अर्जुन सिंह - हुज़ूर आप हुक्म दें, मैं अभी अमर सिंह को ले आता हूँ । बादशाह ने वज़ीर को अपने पास बुलाया और कान में कहा, यही तुम्हारे कल के सवाल का जवाब है । हिंदू बहादुर है लेकिन वह इसीलिए गुलाम हुआ । देखो, यही वजह है । अर्जुन सिंह अमर सिंह के रिश्तेदार थे । अर्जुन सिंह ने अमर सिंह को धोखा देकर उनकी हत्या कर दी । अमर सिंह नहीं रहे लेकिन उनका स्वाभिमान इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में प्रकाशित है । इतिहास में ऐसी बहुत सी कथाएँ हैं जिनसे सबक़ लेना आज भी बाकी है । शाहजहाँ के दरबारी, इतिहासकार और यात्री अब्दुल हमीद लाहौरी की किताब बादशाहनामा से ली गईं ऐतिहासिक कथा । कृप्या इस संदेश को अपने मित्रों को शेयर करें । 70 साल में हिंदू नहीं समझा कि एक परिवार देश को मुस्लिम राष्ट्र बनाना चाहता है 😡 7 साल में मुसलमान समझ गया कि मोदी हिन्दू राष्ट्र बनाना चाहता हैं। 😷😷 देश के दो टुकड़े कर दिए गये, मगर कही से कोई आवाज नहीं आई?😒 आधा कश्मीर चला गया कोई शोर नहीं?😒 तिब्बत चला गया कही कोई विद्रोह नहीं हुआ?😒 आरक्षण, एमरजेंसी, ताशकंद, शिमला, सिंधु जैसे घाव दिए गये मगर किसी ने उफ्फ नहीं की ?😒 2G स्पेक्ट्रम, कोयला, CWG, ऑगस्टा वेस्टलैंड, बोफोर्स जैसे कलंक लगे मगर किसी ने चूँ नहीं की?😒 वीटो पावर चीन को दे आये कही ट्रेन नहीं रोकी.😒 लाल बहादुर जैसा लाल खो दिया किसी ने मोमबत्ती जलाकर सीबीआई जाँच की मांग नहीं की?😒 माधवराव, राजेश पायलट जैसे नेता मार दिये, कोई फर्क नहीं?😒 परन्तू जैसे ही गौ मांस बंद किया, प्रलय आ गई..🙁 जैसे ही राष्ट्रगान अनिवार्य किया चींख पड़े..😕 वंदे मातरम्, भारत माता की जय बोलने को कहा तो जीभ सिल गई..🙁 नोटबंदी, GST पर तांडव करने लगे..🙁 आधार को निराधार करने की होड़ मच गई..😕 अपने ही देश में शरणार्थी बने कश्मीर के पंडितो पर किसी को दर्द नहीं हुआ..☹️ रोहिंग्या मुसलमानो के लिये दर्द फूट रहा हैं।😠 किसी ने सच ही कहा था: देश को डस लिया ज़हरीले नागो ने, घर को लगा दी आग घर के चिरागों ने। विचार करना...... काग्रेस ने हिन्दूओ को नामर्द बना दिया है👆 आतंकवाद के कारण कश्मीर में बंद हुए व तोड़े गए कुल 50 हजार मंदिर खोले व बनवाये जाएंगे* - केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी बहुत अच्छी खबर है, पर 50 हजार? 😳 ये आंकड़ा सुनकर ही मन सुन्न हो गया एक चर्च की खिड़की पर पत्थर पड़े या मस्जिद पर गुलाल पड़ जाए तो मीडिया सारा दिन हफ्तों तक बताएगी पर एक दो एक हजार नहीं,,, बल्कि पूरे 50 हजार मंदिर बंद हो गए इसकी भनक तक किसी हिन्दू को न लगी ? 😒 पहले हिन्दुओ को घाटी से जबरन भगा देना, फिर हिंदुत्व के हर निशान को मिटा देना, सोचिए कितनी बड़ा षड्यंत्र था.. पूरी घाटी से पूरे धर्म को जड़ से खत्म कर देने का ? 😕🙁 अगर मोदी सरकार न आती तो शायद ही ये बात किसी को पता चलती !😞 वामपंथी पत्रकारों, मुस्लिम बुद्धिजीवियों और कांग्रेस और उसके चाटुकारो ने कभी इस मुद्दे को देश के समक्ष क्यो नही रखा?🙁 *यह है कांग्रेस की उपलब्धि और वामपंथी पत्रकारों और मुस्लिम बुद्धिजीवियों की चतुराई कि आम हिन्दू अपने इतिहास से अनभिज्ञ रहा.🙁* ऐसा लगता है की पूरी कायनात जैसे साज़िशें कर रही थी और इतनी शांति से कि हमें पता न चले।। 🙏जय भारत महान 👎 झुकेगा सारा जहान *धर्मों रक्षति रक्षितः* *।।जय श्री राम।।* *सेवार्थ-धर्मार्थ* *सादर- एक हिन्दू*

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर