रमेश Dec 17, 2017

*💧आज का मीठा मोती 💧*

*"याद आना"* और
*"याद करना"*
दोनों अलग अलग बातें है,
*याद* हम उन्हें करते है,
*जो हमारे अपने होते है*
और *याद* हम उन्हें आते हैं,
*जो हमें अपना समझते है*

*🌻सुप्रभात🌻*
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹...

(पूरा पढ़ें)
+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
रमेश Dec 17, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
रमेश Dec 16, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
रमेश Dec 16, 2017

Respect all person.

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर