Dr Rajeev Saxena Dec 6, 2018

कृष्ण यजुर्वेद में चक्षु रोगों को दूर करने हेतु चाक्षुषोपनिषद की सामर्थ्य का वर्णन किया गया है। चक्षु रोगों को दूर करने के लिए सूर्यदेव से प्रार्थना करते हुए कहा गया है कि हे सूर्यदेव आप हमें अज्ञान-रूपी अन्धकार के बन्धनों से मुक्त करके दिव्य तेज़...

(पूरा पढ़ें)
Pranam +2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Dr Rajeev Saxena Dec 6, 2018

गणपति अथर्वशीर्ष एक उपनिषद है। इस उपनिषद में गणपति को परमब्रह्म बताया गया है। यहअथर्ववेद का भाग है।

अथर्वशीर्ष :-
***********

ॐ नमस्ते गणपतये।
त्वमेव प्रत्यक्षं तत्वमसि।
त्वमेव केवलं कर्तासि।
त्वमेव केवलं धर्तासि।
त्वमेव केवलं हर्तासि।
त्वमेव सर...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like +3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Dr Rajeev Saxena Dec 6, 2018

!! ॐ नमो नारायण !!

प्रत्येक व्यक्ति अपनी सामाजिक एवं आर्थिक उन्नति के साथसाथ मान प्रतिष्ठा सम्पत्ति वैभव शांति तथा निष्कंटक जीवन की अभिलाषा रखता है। मनुष्य की इन कामनाओं की पूर्ति के लिए मां कामाख्या का कवच अत्यंत ही प्रभावी एवं लाभकारी है।

नारद...

(पूरा पढ़ें)
Flower Pranam Bell +99 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 123 शेयर
Dr Rajeev Saxena Dec 3, 2018

शारदा भुजङ्ग

सुवक्षोजकुम्भां सुधापूर्णकुम्भां
प्रसादावलम्बां प्रपुण्यावलम्बाम् ।
सदास्येन्दुबिम्बां सदानोष्ठबिम्बां
भजे शारदाम्बामजस्रं मदम्बाम् ॥१॥
Suvakssoja-Kumbhaam Sudhaa-Puurnna-Kumbhaam
Prasaada-Avalambaam Prapunnya-Avalambaam |
Sadaa-[Aa]...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like +5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर