Prieti Gupta Jan 20, 2019

*मंगल कामना* *एक ध्यान विधि* बुद्ध अपने भिक्षुओं से कहते थे कि तुम चौबीस घण्टे, राह पर कोई दिखे उसकी मंगल की कामना करना। वृक्ष भी मिल जाए तो उसकी मंगल की कामना करके उसके पास से गुजरना। पहाड़ भी दिख जाए तो मंगल की कामना करके उसके निकट से गुजरना। राहगीर दिख जाए अनजान, तो उसके पास से मंगल की कामना करके राह से गुजरना। एक भिक्षु ने पूछा, इससे क्या फायदा? बुद्ध ने कहा, इसके दो फायदे हैं। पहला तो यह कि तुम्हें गाली देने का अवसर न मिलेगा। तुम्हें बुरा खयाल करने का अवसर न मिलेगा। तुम्हारी शक्ति नियोजित हो जाएगी मंगल की दिशा में। और दूसरा फायदा यह कि जब तुम किसी के लिये मंगल की कामना करते हो तो तुम उसके भीतर भी रिजोनेंस, प्रतिध्वनि पैदा करते हो। वह भी तुम्हारे लिए मंगल की कामना से भर जाता है। *- ओशो*

+18 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Prieti Gupta Jan 18, 2019

+11 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Prieti Gupta Jan 15, 2019

+12 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Prieti Gupta Jan 15, 2019

+20 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 1 शेयर