preeti Gidwani Jan 15, 2020

🚩🌹जय श्री गणेश जी 🌹🚩 🌹भगवान जी 🌹आप सभी को हमेशा बहुत खुश रखना जी🙏🙏🌹🌹 आप सभी को 🍫मकर संक्रांति 🍫पर्व की बहुत सारी हार्दिक शुभकामनाएं जी 🙏🙏🌹🌹 🌹देशभर में आज🌹 मकर संक्रांति 🌹की धूम है। अलग-अलग जगहों पर लोग विभिन्न तरीकों से त्यौहार मना रहे हैं। इस अवसर पर देश के कई पवित्र घाटों पर आस्था का मेला लगा हुआ है। यहां आस्था की डुबकी लगाने के लिए सुबह से ही श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ा हुआ है। कोई लेटकर आस्था की डुबकी लगाने पहुंच रहा तो कोई खिचड़ी का सामान दान कर रहा है। इस मौके पर देश में अलग-अलग जगहों पर भंडारा लगाकर प्रसाद वितरित किया जा रहा है। वहीं बिहार, गुजरात व महाराष्ट्र समेत कुछ राज्यों में इस मौके पर लोग पारंपरिक पतंगबाजी का लुत्फ ले रहे हैं। तस्वीरों के जरिये देखिये- देश भर में मकर संक्रांति के अलग-अलग रंग...🌹 🌹🌹🌷🌷💐💐 मकर संक्रांति का महत्‍व (Makar Sankranti nSignificance) इसी बात से समझा जा सकता है क‍ि तकरीबन पूरे उत्तर भारत में जैसे दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, बिहार, बंगाल और उड़ीसा में मनाया जाता है. आमतौर पर 14 और 15 जनवरी के दि‍न 🍫मकर संक्रांति 🍫मनाई जाती है. चल‍िए जानते हैं कैसे मनाते हैं मकर संक्रांत‍ि. इस दिन लोग नए कपड़े पहनते हैं और पतंगें उड़ाते हैं. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में मकर संक्रांति के मौके पर कुंभ (Kumbh 2020) की शुरुआत हो रही है जहां लाखों लोग गंगा किनारे इकट्ठा होकर स्नान (Ganga Snan) करेंगे. इसके साथ ही साथ ठंड से परेशान लोगों के लिए भी यह एक राहत भरा द‍िन है, क्‍योंक‍ि इसी दिन से मौसम करवट लेना शुरू कर द‍ेता है और मौसम हल्‍का हल्‍का गर्म होना शुरू हो जाता है. इसे बाद बसंत ऋतु (Basant Ritu) का आगमन होता है. 🙏🙏🌹🌹🍫🍫🍫🍫🍫🍰🍰🍰🍰😊

+955 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 15 शेयर
preeti Gidwani Nov 12, 2019

🌹सतनाम श्री हर वाहेगुरु जी🌹 🌹जय श्री विष्णु हरि जी🌹 🌹कार्तिक पूर्णिमा के दिन श्री गुरु नानक जी का जन्मदिन भी मनाया जाता है। गुरू नानक जी की जयंती या गुरुपूरब /गुरु पर्व सिख समुदाय मनाया जाने वाला सबसे सम्मानित दिन है। गुरू नानक जी की जयंती, गुरु नानक जी के जन्म को स्मरण करते हैं। इसे गुरुपूरब/गुरु पर्व के नाम से भी जाना जाता है, जिसका अर्थ है 'गुरुओं का उत्सव'। गुरु नानक जी निहित नैतिकता, कड़ी मेहनत और सच्चाई का संदेश देते हैं। यह दिन महान आस्था और सामूहिक भावना और प्रयास के साथ, पूरे विश्व में उत्साह के साथ मनाया जाता है। गुरु नानक जी का जीवन प्रेम, ज्ञान और वीरता से भरा था। 🌹सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव की 550वीं जयंती 12 नवंबर को है। हिन्दी पंचांग में बताया गया है कि गुरुनानक देव जी का जन्म संवत् 1526 को कार्तिक पूर्णिमा के दिन हुआ था। जबकि इंग्लिश कैलेंडर के अनुसार गुरुनानक का जन्म 1469 में हुआ था। सिख इस दिन को प्रकाश पर्व के तौर पर मनाते हैं। गुरुनानक ने सुखी और सफल जीवन के लिए कुछ सूत्र बताए थे। गुरुनानक ने किरत करो, नाम जपो, वंड छको का संदेश दिया। हमें नाम जपना, मेहनत करनी चाहिए और बांटकर खाना चाहिए। आप सभी को सपरिवार 🌷कार्तिक पूर्णिमा🌷🌹देव दीपावली🌹और 🎉श्री गुरू नानक देवजी🎉की 🎈जयंती🎈की बहुत सारी हार्दिक शुभकामनाएं जी🙏🙏🌹🌹🎉🎉 🌷श्री विष्णु हरि जी🌷आपकी और आपके पूरे परिवार की सभी मनोकामनाएं पूरी करें जी हमेशा जी🙏🙏🌹🌹🎉🎉

+1105 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 49 शेयर
preeti Gidwani Sep 12, 2019

🚩🌹जय श्री गणेश जी🌹🚩 🙏🌹भगवान जी 🌹🙏आप सभी को हमेशा बहुत बहुत खुश रखना जी🙏🙏🌹🌹 🚩🌹जय श्री गणेश जी🌹🚩 🎎🌹जय श्री राधे कृष्ण जी🎎🌹 👏👏जय श्री राधे राधे जी👏👏 🌹👏जय श्री हरि जी👏🌹 आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद जी🙏🙏🌹🌹 🌷आप सभी को सपरिवार👏 👏अनंत चतुर्थी और👏👏श्री गणेश विसर्जन👏👏 की बहुत सारी हार्दिक शुभकामनाएं जी🙏🙏🌷🌷👏👏 🌷आप सभी एक बार मेरी पोस्ट ( वीडियो )जरूर देखना जी 🙏🙏🌹🌹 👏गणपति बाप्पा मोरया,👏 अबके बरस तू जल्दी आ' इसी वाक्य के साथ जब भक्त गणपति विसर्जन करते हैं तो हर किसी की आंखें नम हो जाती हैं. हर साल गणेश चतुर्थी के दिन भक्त अपने घरों में गणपति बैठाते हैं और अनंत चतुर्दशी के दिन बप्पा को विदा देते हैं. गणेश चतुर्थी यानी कि गणेश दिन का जन्मदिन. भक्त पूरे 10 दिन तक इस उत्सव का जश्न मनाते हैं. गणेश चतुर्थी से लेकर अनंत चतुर्दशी तक यानी कि पूरे 10 दिन तक लोग गणपति बैठाते हैं इस दौरान लगातार गहर में विधिवत पूजा पाठ चलता है. लेकिन कई लोग वक्त की कमी के चलते कई बार डेढ़ दिन, चार दिन, 5 दिन या 7 वें दिन भी गणपति का विसर्जन कर देते हैं जबकि गणपति विसर्जन का उपयुक्त समय स्थापना के 11 वें दिन होता है. कुछ लोग विसर्जन कर चुके हैं और कुछ करने वाले हैं. आइए जानते हैं गणपति विसर्जन का शुभ मुहूर्त और नियम. विसर्जन का शुभ मूर्त अनंत चतुर्दशी के दिन ही गणेश जी का विसर्जन किया जाता है. इस बार 12 सितंबर गुरुवार के दिन अनंत चतुर्दशी है. शास्त्रों के अनुसार, इस दिन को शुभ माना गया है और इस दिन किसी भी समय प्रतिमा का विसर्जन किया जा सकता है. लेकिन विद्वानों के अनुसार, इस बार सुबह 6 से 7 बजे और दोपहर 1:30 से 3 बजे तक का समय प्रतिमा विसर्जन के लिए ठीक नहीं है. इसके अलावा आप किसी भी समय विसर्जन कर सकते हैं. 🙏🙏🌹🌹🌷🌷

+698 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 31 शेयर
preeti Gidwani Mar 20, 2019

जय श्री गणेश जी🙏🙏🌹🌹 भगवान जी आप सभी को हमेशा बहुत खुश रखना जी🙏🙏🌷🌷 🌷 आप सभी को 🌷होली पर्व 🌷की बहुत सारी हार्दिक शुभकामनाएं जी🙏🙏🌷🌷🌹🌹 🌷 होली के दिन हर जगह रंग ही रंग और खुशियाँ – खुशियाँ दिखाई देती हैं। जगह-जगह होली के त्यौहार से एक दिन पहले छोटी होली मान कर भी होली मनाया जाता है। 🌷होली रंगों का त्यौहार है। तह त्यौहार वसंत ऋतू का शुरुवात या अगमान मना जाता है। लोग इस दिन अपने दोस्तों और परिवार के साथ खूब साड़ी होली खेलते हैं। सभी लोग एक दुसरे पर गुलाल लगा कर होली का आनंद उठाते हैं। 🌷 होली के दिन हर जगह रंग ही रंग और खुशियाँ – खुशियाँ दिखाई देती हैं। जगह-जगह होली के त्यौहार से एक दिन पहले छोटी होली मान कर भी होली मनाया जाता है।होली रंगों का त्यौहार है। यह त्यौहार वसंत ऋतू का शुरुवात या अगमान मना जाता है। लोग इस दिन अपने दोस्तों और परिवार के साथ खूब सारी होली खेलते हैं। सभी लोग एक दुसरे पर गुलाल लगा कर होली का आनंद उठाते हैं।

+808 प्रतिक्रिया 38 कॉमेंट्स • 252 शेयर