Namrata chhabra May 11, 2021

+16 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 42 शेयर
Namrata chhabra May 11, 2021

+27 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 40 शेयर
Namrata chhabra May 10, 2021

+26 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 38 शेयर
Namrata chhabra May 9, 2021

*ॐ श्री सतगुरुवे नमः*🙏🏻🙏🏻🙏🏻 *गुरु भगवान जी को नमन है* 🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀🙇🏼‍♀ • हमारी तीन माँ है :- 🙏🏻🙇🏼‍♀भगवान हमारी जन्मों - जन्मों की माँ है जो हमे स्वांस , दिल की धड़कन सब कुछ देते है। 🙏🏻🙇🏼‍♀दूसरी माँ गुरु है जो हमें भगवान से जोड़ते है , सारा ज्ञान , समझ देकर हमें एक उन्नत जीवन देकर जन्म - मरण से छुड़ाते है। 🙏🏻🙇🏼‍♀हमारी जन्म देने वाली माँ जो सब कष्ट सहन करके हमे पालती है , अपने जीवन का एक अनमोल हिस्सा हमारी परवरिश में देती है। बच्चे उसकी दिल जहान होते है। *माँ तुझे सलाम , माँ तुझे दंडवत प्रणाम* 🙏🏻🙇🏼‍♀🙏🏻🙇🏼‍♀🙏🏻🙇🏼‍♀🙏🏻🙇🏼‍♀🙏🏻💐💐💐💐💐💐💐💐💐 *HAPPY MOTHER'S DAY*

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Namrata chhabra May 9, 2021

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Namrata chhabra May 9, 2021

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Namrata chhabra May 8, 2021

*गुरु की उत्पत्ति* 〰️🌼〰️🌼〰️🌼〰️ *एक बार देवर्षि नारद बैकुंठ में पहुंचे तो उन्होंने वहां भगवान को उदास पाया। महर्षि नारद ने भगवान से इसका कारण पूछा तो भगवान ने कहा कि मैंने ये सृष्टि बनाई।* *पशु-पक्षी, कीड़े-मकौड़े, जानवर, पेड़-पौधे आदि सभी कुछ बनाए। लेकिन जब से मैंने मनुष्य को बनाया है तब से ही मैं परेशान हो गया हूं।* *बाकी जीव जंतु कभी कोई मांग नहीं करते लेकिन मनुष्य है कि इसकी मांगें पूरी ही नहीं होती। रोजाना मेरे द्वार पर आ जाता है और नई-नई चीजों की मांग करता है। इसलिए मैं परेशान हूं।* *तब नारद जी ने सुझाव दिया कि भगवान एक उपाय हो सकता है। आपको मनुष्य हमेशा बाहर की चीजों में ढूंढने की कोशिश करता है, आप मनुष्य के अंदर ही छिपकर बैठ जाएं।* *मनुष्य कभी अपने अंदर झांकने का प्रयास नहीं करेगा और इसलिए आपको ढूंढ भी नहीं पाएगा।* *भगवान ने कहा सुझाव तो ठीक है, लेकिन इसमें एक समस्या है। मनुष्य अगर मुझे ढूंढ ही नहीं पाएगा तो वह हमेशा आनंद से वंचित हो जाएगा। मनुष्य मुझे प्यारा है। मैं नहीं चाहता कि ये दुखी रहे।* *इस पर महर्षि नारद ने सुझाव दिया कि भगवन फिर तो आप स्वयं सतगुरु बनकर मनुष्य की परेशानियों का समाधान कर सकते हैं।* *भगवान ये सुझाव सुनकर अति प्रसन्न हुए। इस तरह मनुष्य की परेशानियों को दूर करने के लिए भगवान ने गुरु की उत्पत्ति का मार्ग निकाला।* 〰️🌼〰️🌼〰️🌼〰️ *कहानी अच्छी लगे तो शेयर जरूर करना जी* https://chat.whatsapp.com/GSp3KaFt2DV4vzAfrBnifa

+24 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 27 शेयर