mOhAn singh bisht Jan 16, 2021

卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐 🔱🐚🔔 🔔🐚🔱 ॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐ ‼️ कर्मो से डरो ईश्वर से नही ‼️ ॐ ह्रीं नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम छायामार्तण्डसंभूतं तं नमामि शनैश्चरम।। ll जय जय शनि देव महाराज,|| जन के संकट हरने वाले तुम सूर्य पुत्र बलिधारी, भय मानत दुनिया सारी साधत हो दुर्लभ काज तुम धर्मराज के भाई, जब क्रूरता पाई घन गर्जन करते आवाज ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ तुम नील देव विकराली, है साँप पर करत सवारी कर लोह गदा रह साज ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ तुम भूपति रंक बनाओ, निर्धन स्रछंद्र घर आयो सब रत हो करन ममताज ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ राजा को राज मितयो, निज भक्त फेर दिवायो जगत में हो गयी जय जयकार ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ तुम हो स्वामी हम चरणं, सिर करत नमामी जी पूर्ण हो जन जन की आस ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ जहाँ पूजा देव तिहारी, करें दीन भाव ते पारी अंगीकृत करो कृपाल ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ कब सुधि दृष्टि निहरो, छमीये अपराध हमारो है हाथ तिहारे लाज ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥ हम बहुत विपत्ति घबराए, शरणागत तुम्हरी आये प्रभु सिद्ध करो सब काज ॥ जय जय शनि देव महाराज... ॥

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
mOhAn singh bisht Jan 16, 2021

卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐卐 🔱🐚🔔 🔔🐚🔱 ॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐ ‼️ कर्मो से डरो ईश्वर से नही ‼️ ।। ॐ शं शनैश्चराय नम:।। ।। ॐ भूर्भुव: स्व: शन्नोदेवीरभि टये विद्महे नीलांजनाय धीमहि तन्नो शनि: प्रचोदयात्।। जय शनि देवा, जय शनि देवा, जय जय जय शनि देवा । अखिल सृष्टि में कोटि-कोटि जन, करें तुम्हारी सेवा । जय शनि देवा, जय शनि देवा, जय जय जय शनि देवा ॥ जा पर कुपित होउ तुम स्वामी, घोर कष्ट वह पावे । धन वैभव और मान-कीर्ति, सब पलभर में मिट जावे । राजा नल को लगी शनि दशा, राजपाट हर लेवा । जय शनि देवा, जय शनि देवा, जय जय जय शनि देवा ॥ जा पर प्रसन्न होउ तुम स्वामी, सकल सिद्धि वह पावे । तुम्हारी कृपा रहे तो, उसको जग में कौन सतावे । ताँबा, तेल और तिल से जो, करें भक्तजन सेवा । जय शनि देवा, जय शनि देवा, जय जय जय शनि देवा ॥ हर शनिवार तुम्हारी, जय-जय कार जगत में होवे । कलियुग में शनिदेव महात्तम, दु:ख दरिद्रता धोवे । करू आरती भक्ति भाव से, भेंट चढ़ाऊं मेवा । जय शनि देवा, जय शनि देवा, जय जय जय शनि देवा ॥

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर