🌹🌹🌹राधे राधे जी 🌹🌹🌹 वाह रे पैसा तेरे कितने नाम? मंदिर मे दिया जाये तो ( चढ़ावा ) स्कुल में ( फ़ीस ) ) शादी में दो तो ( दहेज ) तलाक देने पर ( गुजारा भत्ता ) आप किसी को देते हो तो ( कर्ज ) अदालत में ( जुर्माना ) सरकार लेती है तो ( कर ) सेवानिवृत्त होने पे ( पेंशन ) अपहर्ताओ के लिए ( फिरौती ) होटल में सेवा के लिए ( टिप ) बैंक से उधार लो तो ( ऋण ) श्रमिकों के लिए ( वेतन ) मातहत कर्मियों के लिए ( मजदूरी ) अवैध रूप से प्राप्त सेवा ( रिश्वत ) किसी को खुशी से दोगे तो (गिफ्ट) मैं पैसा हूँ मुझे आप मरने के बाद ऊपर नहीं ले जा सकते; मगर जीते जी मैं आपको बहुत ऊपर ले जा सकता हूँ मैं पैसा हूँ मुझे पसंद करो सिर्फ इस हद तक कि लोग आपको नापसन्द ना करने लगे

+458 प्रतिक्रिया 132 कॉमेंट्स • 370 शेयर

🌹जय माता सरस्वती🌹 🎸🎸🎸🎸🎸🎸🎸 दरअसल, सरस्वती के हाथ की वीणा का अर्थ होता है जीवन में रस होना। वहीं, पुस्तक का अर्थ है ज्ञान और जिज्ञासा होना। यानी सरस्वती जीवन में रस और कला के साथ-साथ ज्ञान का भी प्रतीक होती हैं। लेकिन कला और रसिक जगत के ज़्यादातर लोग अपनी-अपनी सरस्वती बना लेते हैं। इसका मतलब, वो सरस्वती को अपने ही ढंग से मानते हैं। ऐसा देखा जाता है कि इस समाज के लोग कला और रस पर ध्यान तो देते हैं, लेकिन ज्ञान पर नहीं। यानी वो सरस्वती के हाथ की पुस्तक को भुला देते हैं। वहीं ज्ञान वाले लोगों का जीवन शुष्क हो जाता है क्योंकि वे लोग रस को बिल्कुल भूल जाते हैं। वो सिर्फ किताब पर ध्यान देते हैं, वीणा पर नहीं। ((अज्ञान के अंधकार)) 🌱🌱🌱🌱🌱📝🌹 देवी सरस्वती के हाथ में जो वीणा है उसे "ज्ञान वीणा" कहा जाता है। यह ज्ञान, अध्यात्म, धर्म और अन्य सभी भौतिक बस्तुओं से संबंधित है। जब वीणा को बजाया जाता है, उसमें से निकलने वाली धुन चारों ओर फैले अज्ञान के अंधकार का नाश करती हैं। ((निपुणत)) 🌱🌱🌱📙🌹 सरस्वती देवी, वीणा के ऊपरी भाग को अपने बाएं हाथ से निचले भाग को अपने दाएं हाथ से थामे नजर आती हैं। यह ज्ञान के हर क्षेत्र पर निपुणता के साथ उनके नियंत्रण को दर्शाता है। ((न्य देवी-देवता)) 🌱🌱🌱🌱📝🌹 वीणा के भीतर अन्य देवी-देवता भी विराजते हैं। ऐसा माना जाता है कि वीणा की गर्दन के भाग में महादेव, इसकी तार में पार्वती, पुल पर लक्ष्मी, सिरे पर विष्णु और अन्य सभी स्थानों पर सरस्वती का वास होता है। वीणा को समस्त सुखों का स्रोत भी माना जाता है। ((भारतीय संगीत)) 🌱🌱🌱🌱📙🌹 वीणा, भारतीय संगीत की हर व्यवस्था को प्रदर्शित करती है। तार वाले वाद्य यंत्रों को सामान्य तौर पर वीणा का ही नाम दे दिया जाता है। ((वीणा कीधुन )) 🌱🌱🌱🌱📝🌹 वीणा की धुन रचना के मौलिकता को प्रदर्शित करती है। ये ब्रह्मांड में प्राण भरने का कार्य करती है। बीणा की धुन, उसकी तारें जीवन को दर्शाती हैं। इसके स्वर स्त्री रवर से मेल खाते हैं। ((वीणा की कंपन)) 🌱🌱🌱🌱🌱📙🌹 वीणा की कंपन दैवीय ज्ञान की ओर इशारा करती हैं। वीणा के बजने पर ये ज्ञान पानी की तरह बहने लगता है। 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

+657 प्रतिक्रिया 107 कॉमेंट्स • 453 शेयर

+364 प्रतिक्रिया 84 कॉमेंट्स • 108 शेयर