Manoj manu Sep 18, 2020

+717 प्रतिक्रिया 241 कॉमेंट्स • 336 शेयर
Manoj manu Sep 15, 2020

🚩🙏🌹जय श्री राम जी 🌹🌿🙏 🌹🌿आपदामपहर्तारं दातारां सर्वसम्पदाम्। 🌿लोकाभिरामं श्रीरामं भूयो-भूयो नामाम्यहम्॥ जीवन (जीवित प्राणियों) के सभी प्रकार के प्रतिकूल परिस्थितियों और पीड़ा को कौन निकालता है, जो सभी तरह के पक्ष, सम्मान और धन प्रदान करता है, जिन्हें देखकर दुनियाँ बहुत प्रसन्न महसूस करती है, उन श्रीराम के लिए, मैं बार-बार अपना सर झुकाता हूँ। 🌹रामाय रामभद्राय रामचन्द्राय वेधसे। 🌿रघुनाथाय नाथाय सीतायाः पतये नमः॥ श्री रामभद्रा को, श्री रामचंद्र को, वेदों के स्वामी के लिए, रघु कबीले के प्रमुख को, सभी संसारों के स्वामी और सीता के भगवान के लिए, भगवान राम को मेरा नमस्कार है। 🌹.नीलाम्बुजश्यामलकोमलाङ्गं। --सीतासमारोपितवामभागम। 🌿पाणौ महासायकचारूचापं नमामि रामं रघुवंशनाथम॥ कमल की तरह नील रंग और कोमल कौन है, जिनके शरीर के अंग बहुत नरम हैं, जिनकी बाईंओर सीता जो उनकी अपनी प्रिय पत्नी है, जिनके हाथों में एक दिव्य तीर और एक सुंदर धनुष है, मैं उस राजवंश के भगवान श्री राम से प्रार्थना करता हूं।🌹🌿प्रभु श्री रामचंद्र जी सदा सहाय करें,सदा मंगल प्रदान करें जय सियाराम जी 🌹🙏

+534 प्रतिक्रिया 108 कॉमेंट्स • 116 शेयर
Manoj manu Sep 14, 2020

🚩🔱🌿ऊँ नमःशिवाय 🔔🌺🙏 🌹🌹शिव दर्शन ,महामृत्युंजय मंत्र- ॐ ह्रौं जू सः। ॐ भूः भुवः स्वः। ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्‌। उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्‌। स्वः भुवः भूः ॐ। सः जू ह्रौं ॐ ॥ 🌹🌿शिव के गण :- शिव के गणों में भैरव, वीरभद्र, मणिभद्र, चंदिस, नंदी, श्रृंगी, भृगिरिटी, शैल, गोकर्ण, घंटाकर्ण, जय और विजय प्रमुख हैं। इसके अलावा, पिशाच, दैत्य और नाग-नागिन, पशुओं को भी शिव का गण माना जाता है। 🌹🌹शिव का विरोधाभासिक परिवार :- शिवपुत्र कार्तिकेय का वाहन मयूर है, जबकि शिव के गले में वासुकि नाग है। स्वभाव से मयूर और नाग आपस में दुश्मन हैं। इधर गणपति का वाहन चूहा है, जबकि सांप मूषकभक्षी जीव है। पार्वती का वाहन शेर है, लेकिन शिवजी का वाहन तो नंदी बैल है। इस विरोधाभास या वैचारिक भिन्नता के बावजूद परिवार में एकता है। 🌹🌹शिव का दर्शन : शिव के जीवन और दर्शन को जो लोग यथार्थ दृष्टि से देखते हैं वे सही बुद्धि वाले और यथार्थ को पकड़ने वाले शिवभक्त हैं, क्योंकि शिव का दर्शन कहता है कि यथार्थ में जियो, वर्तमान में जियो, अपनी चित्तवृत्तियों से लड़ो मत, उन्हें अजनबी बनकर देखो और कल्पना का भी यथार्थ के लिए उपयोग करो। 🌹🌹सभी के शिव :-दैत्यों, राक्षसों सहित देवताओं ने भी शिव को कई बार चुनौती दी, लेकिन वे सभी परास्त होकर शिव के समक्ष झुक गए इसीलिए शिव हैं देवों के देव महादेव। वे दैत्यों, दानवों भगवान शिव को देवों के साथ असुर, दानव, राक्षस, पिशाच, गंधर्व, यक्ष आदि सभी पूजते हैं।और भूतों के भी प्रिय भगवान हैं। वे राम को भी वरदान देते हैं और रावण को भी। 🌿🌹🌿🌹सत्यंम शिवमं सुंदरंम 🌿🌹🌿🌹 🌿🌺भोलेनाथ सभी का सदा कल्याण करें 🌿🌺 सदा मंगल प्रदान करें ऊँ नमःशिवाय राधे राधे जी 🌺🙏

+511 प्रतिक्रिया 66 कॉमेंट्स • 152 शेयर
Manoj manu Sep 13, 2020

🚩🙏🌺जय श्री राम जी 🌿🌺🙏 🌹🌿‘‘राम:शस्त्र भृतामहम्।।’’🌹🌿 🌿‘‘यसमात्क्षरमतीतोऽहम क्षरादपि चोत्तम:। 🌹अतोऽस्मि लोके वेदे च प्रथित: पुरषोत्तम:।।’’ 🌹🌿अर्थात - शस्त्र धारियों में श्री राम मैं ही हूँ, मैं नाशवान शरीर से तथा नाशवान जड़वर्ग से अतीत हूँ , तथा अविनाशी जीवात्मा से भी उत्तम हूँ ,इसलिए लोक और वेद में भी पुरुषोत्तम नाम से प्रसिद्ध हूं। 🌹"बिनु श्रम तुम्ह जानब सब सोऊ। 🌿नित नव नेह राम पद होऊ॥ 🌹जो इच्छा करिहहु मन माहीं। 🌿हरि प्रसाद कछु दुर्लभ नाहीं॥" भावार्थ :-- तुम उन सबको भी बिना ही परिश्रम जान जाओगे। राम जी के चरणों में तुम्हारा नित्य नया प्रेम हो। अपने मन में तुम जो कुछ इच्छा करोगे, श्री हरि की कृपा से उसकी पूर्ति कुछ भी दुर्लभ नहीं होगी॥ 🌿🌺प्रभु श्री राम जी सदा मंगल करें 🌺🌿 🌺🌿सदा कल्याण करें जय श्री राम जी 🌺🙏

+416 प्रतिक्रिया 64 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Manoj manu Sep 11, 2020

🚩🙏जय जय श्री राधे जी 🌺🙏 🌹🌹है ऐसा मायमंदिर परिवार हमारा :- 🌿है मन कृम वचन से आराधना शिव की, 🌹शिव त्रपुंड की महिमा है, 🌿है सत्यंम शिवंम सुंदरंम वाणी 🌹सबकी यहाँ कल्पना है, 🌿भगवती की आराधना सुंदर 🌹तो माँ की ममता रची- बसी , 🌿राम और सीता का परम् सत्य है 🌹तान मधुर कृष्णा की सजी, 🌿हनुमान और भरत के जैसे राम 🌹भक्त हैं यहाँ मिले , 🌿मानस की चौपाई से लेकर 🌹गीता का भी ज्ञान मिले , 🌿है गणपति की वंदना 🌹सारे उत्सव तीज सजे, 🌿सत्गुरुऔं की गुरुवाणी का भी 🌹तो देखो कितना सारा ज्ञान मिले, 🌿बृमह्म ,विष्णु महेश के संग -संग 🌹अपनी सुबहा और शाम ढले, 🌿सत्य सनातन धर्म हमें तो 🌹ये शिक्षा है देता , 🌿करें सम्मान हम सभी अन्य का 🌹सदा -सदा ये हमको कहता , 🌿आओ बनायें मंदिर को मन के 🌹मंदिर सा सुंदर, 🌿सब मिल फहरायें धर्म पताका 🌹अवनि से फिर अंबर तक, 🙏🌹हरि ऊँ वंदन जी 🌹🙏

+513 प्रतिक्रिया 91 कॉमेंट्स • 43 शेयर