Lalit Sharma Oct 21, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Oct 21, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Oct 10, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Sep 26, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Sep 24, 2017

*जरा सी जिन्दगी में, व्यवधान बहुत हैं,*
*तमाशा देखने को यहाँ, इन्सान बहुत हैं !!*

*खुद ही बनाते हैं हम, पेचीदा जिंदगी को,*
*वर्ना तो जीने के नुस्खे, आसान बहुत हैं !!*

*🙏🏻सुप्रभात 🙏🏻*

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Sep 21, 2017

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Sep 18, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lalit Sharma Sep 17, 2017

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर