J. JHA Sep 20, 2018

*कोई नहीं*

सीता के राम थे रखवाले
जब हरण हुआ तब कोई नहीं,

द्रौपदी के पाँच पाण्डव थे
जब चीर हरा तब कोई नहीं,

दशरथ के चार दुलारे थे
जब प्राण तजे तब कोई नहीं,

रावण भी शक्तिशाली थे
जब लंका जली तब कोई नहीं,

श्री कृष्ण सुदर्शनधारी थे
जब तीर चुभा तब ...

(पूरा पढ़ें)
Sindoor Dhoop Belpatra +13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
J. JHA Sep 20, 2018

नमो नारायण🌷

जिसको नही है बोध तो गुरु ज्ञान क्या करे,
निज रूप को जाना नहीं पुराण क्या करे ।
हरि ॐ

घट घट में ब्रह्मजोत का प्रकाश हो रहा,
मिटा न द्वैतभाव तो फिर ध्यान क्या करे ।
हरि ॐ

रचना प्रभू की देख कर ज्ञानी बड़े बड़े,
पावे न कोई पार तो नादान क...

(पूरा पढ़ें)
Sindoor Dhoop Belpatra +13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
J. JHA Sep 19, 2018

*परेशान मत हो मस्त रहो और*
*व्यस्त रहो क्योंकि..........*

*1. चालीस साल की अवस्था में*
*"उच्च शिक्षित" और "अल्प*
*शिक्षित" एक जैसे ही होते हैं।*

*2. पचास साल की अवस्था में "रूप"*
*और "कुरूप" एक जैसे ही ह...

(पूरा पढ़ें)
Sindoor Dhoop Belpatra +13 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
J. JHA Sep 19, 2018

*ख्वाहिशों से नहीं गिरते है फूल झोली में,
कर्म की शाखा को हिलाना पडता है।

कुछ नहीं होता कोसने से अँधेरे को,
अपने हिस्से का दीया खुद ही जलाना पडता है।

आप अपने कर्मों से ही वक्त को दिशा देते हैं

*🍁 कर्म से ही फल अच्छे मिलते है।🍁*
💫💫 OM NAM...

(पूरा पढ़ें)
Like +1 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
J. JHA Sep 19, 2018

Like +1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर