ISKCON Desire Tree Jun 24, 2019

अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस | मनीषा जखमोला | 26 जून “अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस” प्रत्येक वर्ष 26 जून को मनाया जाता है । नशीली वस्तुओं और पदार्थों के निवारण हेतु 'संयुक्त राष्ट्र महासभा' ने 7 दिसम्बर 1987 को प्रस्ताव संख्या 42/112 पारित कर हर वर्ष 26 जून को 'अंतर्राष्ट्रीय नशा व मादक पदार्थ निषेध दिवस' मनाने का निर्णय लिया था । यह कार्यक्रम एक तरफ़ लोगों में चेतना फैलाता है, वहीं दूसरी ओर नशे के शिकार लोगों के उपचार की दिशा में भी महत्त्वपूर्ण कार्य करता है । ' अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस' के अवसर पर मादक पदार्थ एवं अपराध से मुक़ाबले के लिए 'संयुक्त राष्ट्र संघ' का कार्यालय ड्रग्स एवं क्राइम (UNODC) द्वारा प्रति वर्ष कार्यक्रम मनाने हेतु एक थीम विषयक नारा दिया है । इस अवसर पर मादक पदार्थों से मुक़ाबले के लिए विभिन्न देशों द्वारा उठाये गये क़दमों तथा इस मार्ग में उत्पन्न चुनौतियों और उनके निवारण का उल् लेख किया जाता है । इसी कारण से '26 जून' का दिन मादक पदार्थों से मुक़ाबले का प्रतीक बन गया है । इस अवसर पर मादक पदार्थों के उत्पादन, तस्करी एवं सेवन के दुष्परिणामों से लोगों को अवगत कराया जाता है । https://www.youtube.com/watch?v=s_xxcZSBgLw

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
ISKCON Desire Tree Jun 12, 2019

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
ISKCON Desire Tree Jun 12, 2019

सामान्यता भारतीय सौर वर्ष में चौबीस एकादशियां आती हैं, परंतु अधिकमास की दो एकादशियों सहित 26 एकादशी व्रत का विधान है परंतु सभी एकादशियों में ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी सर्वाधिक फलप्रदाय समझी जाती है क्योंकि ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी का व्रत रखने से वर्ष भर की एकादशियों के व्रत का फल प्राप्त होता है। ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी कहा जाता है। पंचाग अनुसार वृष व मिथुन संक्रांति के बीच शुक्ल पक्ष की एकादशी निर्जला एकादशी कहलाती है। निर्जला अर्थात बिना जल व अन्न ग्रहण किए। निर्जला एकादशी के दिन आहार के साथ ही जल का संयम भी जरुरी है। इस व्रत में जल ग्रहण नहीं किया जाता है। अतः निर्जला एकादशी व्रत कठिन तप के समान महत्त्व रखता है। इस व्रत को भीमसेन एकादशी या पांडव एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। https://www.youtube.com/watch?v=0SAL5eAHvTY

+49 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 24 शेयर
ISKCON Desire Tree May 30, 2019

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर