💥🌴 श्रद्धा 👣 सबूरी🌴💥 ✻ღϠ₡ღ✻ (¯`•☆•´¯).`•.¸¸.☆•*´¯`.`•.¸¸.☆•*´¯` ┅━❀‼️🌋 शुभ रात्रि साई भक्तों 🌋‼️❀━┅ ‼💥1⃣7⃣ जनवरी 2⃣0⃣2⃣1⃣...शुभ रविवार 💥‼ 🌹 ●*.¸.*✻ღϠ₡ღ¸.✻´´¯`✻.¸¸ღ¸.✻´´¯`✻●🌹 💐😊🙏👣🌷🌹🌺🌾💐 🌺🍂☀ अनंत कोटी ब्रह्मांड नायक राजाधिराज योगीराज परब्रह्म सच्चिदानंद समर्थ सद्गुरु श्री साईनाथ महाराज की जय ☀🍂🌺 💐😊🙏👣🌷🌹🌺🌾💐 ✤🙏┈┈┈••✦🙏✦••┈┈┈┈┈🙏✤ 💎🅱🅰🅱🅰💎 💙 💎 💙💎 💙 🌹💦✍🏻💦🌹 🌺🍂☀ ☀🍂🌺 🌹👏 ऐ मेरे सदगुरू साँईयां जी 👏🌹 🌹👏☀पुकार लीजिए प्यार से हमें, ☀हम दौड़े चले आयेंगे.. 😘 बाबा 😘 ☀आपका दिल ही तो है मेरा आशियाना, ☀इसे छोड़ कर अब और कहाँ जायेंगे... 🙏⚜️🙏 सबका मालिक एक 🙏⚜️🙏 ‼️‼️सद्गुरू साँई नाथ महाराज की जय ‼️‼️ ❤🎅 लव यू बाबा साँई 🎅❤ 🍁🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿🍁 ༺💥༻🌹 ૐ साई Զเम जी 🌹༺💥༻ 💥प्रेम से बोलो ૐ साईं Զเम 💥🙏🌹 💞💕💞💕💞💕💞💕💞💕💞 ✤┈┈┈┈┈••✦✦••┈┈┈┈┈✤ 💐😊🙏👣🌷🌹🌺🌾💐 🌺🍂☀ श्री सच्चिदानंद साईं नाथ महाराज के 👣 चरणो 👣 में हमारा बार बार नमस्कार☀🍂🌺जय श्री राम जय पवन पत्र हनुमान जी 🌷 मंगलमय दिन की बधाई एवं शुभकामनाएँ🌷 ૐ🌋ૐ 🌋ૐ 🌋ૐ 🌋ૐ 🌋ૐ

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

*🙏‼️मकर संक्रांति‼️🙏* की बधाई और शुभकामनाएं। मंदिर की घंटी, आरती की थाली, नदी के किनारे सूरज की लाली, जिदगी मे आए खुशियो की बाहर, *आपको मुबारक हो मकर संक्रांति का* *त्योहार.* *🙏 हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏* 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 *सुख, शांति व समृद्धि की मंगलकामनाओं के साथ दान - धर्म एवं उत्साह, उमंग के पावन पर्व मकर संक्रांति की समस्त देशवासियों को हार्दिक बधाई शुभकामनाएँ* 🙏 *आप सभी को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं* 🙏 *यह पर्व आपके जीवन में खुशहाली एवं नवीन ऊर्जा का संचार करे, ऐसी हम कामना करते हैं*... 🙏 *हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे*🙏 *🙏🌹सुप्रभात🌹🙏* 🟣🌞🙏☕🙏🌞🟣 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

*🌺गजाननं भूतगणादिसेवितं कपित्थजंबूफलचारुभक्षणम्‌। उमासुतं शोकविनाशकारकं नमामि विघ्नेश्वरपादपङ्कजम्‌॥* *🙏भगवान गणेश आपकी हर मनोकामना पूर्ण करें!🙏🏼* *#ॐ_गं_गणपतयै_नमः🚩* *#ॐ_गणेशाय्_नमः🚩* *🌹🙏 #शुभप्रभात 🙏🌹* *#प्रभात_दर्शन_ :- गुणी गुणं वेत्ति न वेत्ति निर्गुणो बली बलं वेत्ति न वेत्ति निर्बल:, पिको वसन्तस्य गुणं न वायस: करी च सिंहस्य बलं न मूषक:।* *#भावार्थ* - जिस प्रकार बलवान् पुरुष ही दूसरे का बल जानता है, बलहीन नही। वसन्त ऋतु आए तो उसे कोयल पहचानती है, कौआ नही। शेर के बल को हाथी पहचानता है, चूहा नही। उसी प्रकार जो व्यक्ति स्वयं गुणवान् होते हैं, वे ही दूसरे के गुणों को भली भाँति समझ सकते हैं, जो स्वयं गुणहीन है वह दूसरों के गुणों को क्या समझेगा। *🌺🌺#सुप्रभात🌺🌺* *🌷आज बुधवार का दिन मंगलमय हो🌷* 🕉️🙏🌞☕🌞🕉️🙏

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर