Anita Sharma May 15, 2021

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

एक बार नामदेव जी अपनी कुटिया के बाहर सोये हुए थे तभी अचानक उनकी कुटिया में आग लग गयी। नामदेव जी ने सोचा आज तो ठाकुर जी अग्नि के रूप में आये हैं तो उन्होंने जो भी सामान बाहर रखा हुआ था वो भी आग में ही डाल दिया,तब लोगों ने देखा और जैसे तैसे आग बुझा दी और चले गये। ठाकुर जी ने सोचा इसने तो मुझे सब कुछ अर्पण कर दिया है ठाकुर जी ने उनके लिए बहुत ही सुन्दर कुटिया बना दी,सुबह लोगों ने देखा कि वहाँ तो बहुत सुंदर कुटिया बनी हुई है ! उन्होंने नामदेव जी को कहा रात को तो आपकी कुटिया में आग लग गयी थी फिर ये इतनी सुंदर कुटिया कैसे बन गयी?हमे भी इसका तरीका बता दीजिए। नामदेव जी ने कहा सबसे पहले तो अपनी कुटिया में आग लगाओ फिर जो भी सामान बचा हो वो भी उसमे डाल दो। लोगो ने उन्हें ऊपर से नीचे तक देखा और कहा अजीब पागल है। नामदेव जी ने कहा :-वो ठाकुर तो पागलों के ही घर बनाता है।

+121 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 74 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

+14 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

+76 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

+11 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Anita Sharma May 14, 2021

+15 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 2 शेयर