sushil dhiman Jul 20, 2019

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sushil dhiman Jul 20, 2019

+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 9 शेयर
sushil dhiman Jul 20, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sushil dhiman Jul 19, 2019

*🏵॥ ॐ श्रीमहादेव्यै नमः ॥🏵* *💥श्री महामाई वंदना 💥* *🚩प्रातः स्मरामि शरदिन्दुकरोज्ज्वलाभां सद्रत्नवन्मकरकुण्डलहार-भूषाम् दिव्यायुधैर्जितसुनील-सहस्रहस्तां रक्तोत्पलाभचरणां भवतीं परेशाम् 🚩* *🚩भावार्थः शरद् कालीन चन्द्रमा के समान उज्ज्वल आभावाली, उत्तम रत्नों से जड़ित मकरकुण्डलों तथा हारों से सुशोभित, दिव्यायुधों से दीप्त सुन्दर नीले हजारों हाथों वाली, लाल कमल की आभायुक्त चरणों वाली परम ईशरूपिणी भगवती दुर्गा देवी का मैं प्रातः काल स्मरण करता हूँ🚩* 🎊🎊🎊🎊🎊🎊🎊🎊 🚩🏵🚩🏵🚩🏵🚩🏵 *सुप्रभात मित्रों----* *आपका आज का दिवस शुभ एवं मंगलमय हो, श्री भगवती देवी माँ , आपकी समस्त कामनाओं की पूर्ति करें, आपका सदा कल्याण करें----* 🚩🏵🚩🏵🚩🏵🚩🏵 *💥जय माता दी 💥*

+26 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर
sushil dhiman Jul 18, 2019

🔱 *ॐ नमः शिवायः* 🙏 *सभी भक्तगण ध्यान दें* आजकलकल प्रतिदिन संदेश आ रहे हैं कि महादेव को दूध की कुछ बूंदें चढाकर शेष निर्धन बच्चों को दे दिया जाए। सुनने में बहुत अच्छा लगता है लेकिन हर हिन्दू त्योहार पर ऐसे संदेश पढ़कर थोड़ा दुख होता है। दीवाली पर पटाखे ना चलाएं, होली में रंग और गुलाल ना खरीदें, श्रावण में दूध ना चढ़ाएं, उस पैसे से गरीबों की मदद करें। लेकिन त्योहारों के पैसे से ही क्यों? ये एक साजिश है हमें अपने रीति-रिवाजों से विमुख करने की। हम सब प्रतिदिन दूध पीते हैं तब तो हमें कभी ये ख्याल नहीं आया कि लाखों गरीब बच्चे दूध के बिना जी रहे हैं। अगर दान करना ही है तो अपने हिस्से के दूध का दान करिए और वर्ष भर करिए। कौन मना कर रहा है। शंकर जी के हिस्से का दूध ही क्यों दान करना? मेरे आप अपने व्यसन का दान कीजिये दिन भर में जो आप सिगरेट, पान-मसाला, शराब, मांस अथवा किसी और क्रिया में जो पैसे खर्च करते हैं उसको बंद कर के गरीब को दान कीजिये | इससे आपको दान के लाभ के साथ साथ स्वास्थ्य का भी लाभ होगा । महादेव ने जगत कल्याण हेतु विषपान किया था इसलिए उनका अभिषेक दूध से किया जाता है। जिन महानुभावों के मन में अतिशय दया उत्पन्न हो रही है उनसे मेरा अनुरोध है कि एक महीना ही क्यों, वर्ष भर गरीब बच्चों को दूध का दान दें। घर में जितना भी दूध आता हो उसमें से ज्यादा नहीं सिर्फ आधा लीटर ही किसी निर्धन परिवार को दें। महादेव को जो 50 ग्राम दूध चढ़ाते हैं वो उन्हें ही चढ़ाएं। कोई भी ज्ञानचंद, रायचंद, होशियार सिंह अपनी राय ना दे कि श्रावण मास में शिवजी पर दूध ना चढाए और गरीब बच्चों मे बांट दे..... सौ सौ रू के विमल खा कर थूकने वाले और गोल्ड फ्लेक पी कर धुंआ ऊडाने वालो अपने मौज शौक मे से निकाल कर दान करो ना... सब राय चंदो से और हर हिंदू त्योहार पर टर्राने वाले मेंढको से निवेदन है की अपनी राय का बंडल बना कर रख लेवे.... ये बात सबको बोल देवे। भोले बाबा पर जो चढ़ना है वो तो चढ़ेगा। जय भोले बाबा की......

+33 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 58 शेयर