aayush rampal Dec 20, 2018

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
aayush rampal Dec 20, 2018

*सतलोक से आ रही इस धुन को अन्तर में पकड़ना बच्चों का काम नहीं, इस धुन को सिपाही की तरह अनुशासन संयम और दृढ़ निशचय से मेहनत करने वाला कोई साधक ही पकड़ सकता है, जो नाम लेने के बाद भी, न रहनी को निर्मल बनाते हैं न ही हक हलाल की कमाई को जीवन का अभिन्न...

(पूरा पढ़ें)
+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
aayush rampal Dec 12, 2018

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
aayush rampal Dec 11, 2018

+1 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर