हे प्रभु! आपका मंगलमय संकल्प पूर्ण हो।
हे प्रभु!आपके संकल्प से अलग कोई भी दूसरा संकल्प हमारे मन मे उत्तपन्न न हो।

+20 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 4 शेयर

गीताप्रेस के संस्थापक ब्रह्मलीन श्री जयदयाल गोयन्दका भगवत प्राप्त पुरूष थे।
उनके प्रवचनों से संकलित अमृत वचन आप ' श्री सेठ जी के अमृत वचन' app को गूगल प्ले स्टोर से डाऊनलोड कर सकते हैं।

+25 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 29 शेयर

+28 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 9 शेयर

अयोध्या नरेश रघु के पिता का दिलीप और माता का  नाम सुदक्षिणा था। इनके प्रताप एवं न्याय के कारण ही इनके पश्चात इक्ष्वाकुवंश रघुवंश के नाम से प्रख्यात हुआ।

महाराज रघु ने समस्त भूखण्ड पर एकछत्र राज्य स्थापित कर विश्वजीत यज्ञ किया। उस यज्ञ में उन्होंन...

(पूरा पढ़ें)
+26 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 28 शेयर