स्तुति🌸🌸🌸

Shyam laadla Apr 7, 2020

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

⛳️🕉️जय श्री जगदम्बके दुर्गाय नमः🙏⛳️ 🌷🌷🌷🌷⛳️🌷🌷🌷🌷 *!! द्वितीय दिवस*!! माँ ब्रम्हचारिणी 🙏⛳️ ◆◆◆◆◆◆☆◆◆◆◆◆◆ _____________________ °°°°°°°°°°°☆°°°°°°°°°° हिन्दू नववर्ष (विक्रम संवत 2077*) चैत्र नवरात्रि के दूसरे स्वरूप में माता ब्रम्हचारिणी की पूजा अर्चना की जाती है। ब्रम्हचारिणी देवी माँ दुर्गा ज्ञान,वैराग्य और ध्यान की अधिष्ठात्री है। *!! ब्रम्हा जी की शक्ति होने से माँ का यह स्वरूप माता ब्रम्हचारिणी के नाम से लोक प्रसिद्ध हुआ ,इनका उद्भव ब्रम्हा जी के कमंडल से माना जाता है। ब्रम्हा जी सृष्टि के सर्जक है,ब्रम्हचारिणी उनकी शक्ति। जब मानस पुत्रो से सृष्टि का विस्तार नही हो सका,तो ब्रम्हा जी की इसी शक्ति ने सृष्टि का विस्तार किया । इसी कारण स्त्री को सृष्टि माना गया है।। *!! माँ ब्रम्हचारिणी उपासना मन्त्र** *!!या देवी सर्वभूतेषु सृष्टिरूपेण संसिथता * नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः!! ⛳️⛳️⛳️⛳️⛳️🙏⛳️⛳️⛳️⛳️ *!! हे माँ !शोक दुःख निवारनी !! हे सर्वमंगल कारिणी *!! *!!हे चंद-मुंड विधारनी , तू ही शम्भू निशम्भु संघारनी*!! हे माता ! सृष्टि का विस्तार करने वाली ब्रम्हचारिणी देवी आज यह धरा धाम संकट में है माँ! इससे रक्षा करो,, हम सब आपकी शरण में है माँ आपका ही सहारा है माँ ,रक्षा करो!! रक्षा करो !!⛳️🙏 *!! जय माँ भगवती दुर्गा जी🙏⛳️⛳️

+342 प्रतिक्रिया 92 कॉमेंट्स • 12 शेयर