शुभ--बुधवार

*🛕🕉️ॐ श्री गणेशाय नमः🕉️🛕* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* ⛅ *दिनांक 27 जनवरी 2021* ⛅ *दिन - बुधवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - पौष* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - चतुर्दशी 28 जनवरी रात्रि 01:17 तक तत्पश्चात पूर्णिमा* ⛅ *नक्षत्र - पुनर्वसु 28 जनवरी प्रातः 03:49 तक तत्पश्चात पुष्य* ⛅ *योग - विष्कम्भ रात्रि 08:57 तक तत्पश्चात प्रीति* ⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:52 से दोपहर 02:15 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:18* ⛅ *सूर्यास्त - 18:24* ⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण* - 💥 *विशेष - चतुर्दशी और पूर्णिमा के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *पुष्य नक्षत्र योग* 🌷 ➡ *28 जनवरी 2021 गुरुवार को सूर्योदय से 29 जनवरी प्रातः 03:51 तक गुरुपुष्यामृत योग है ।* 🙏🏻 *१०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य है पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति | पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है | उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये | ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –* *ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |...... ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |* 🙏🏻 *- Shri Sureshanandji Kharghar -Navi Mumbai 7th Apr'13* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *कैसे बदले दुर्भाग्य को सौभाग्य में* 🌷 🌳 *बरगद के पत्ते पर गुरुपुष्य या रविपुष्य योग में हल्दी से स्वस्तिक बनाकर घर में रखें |* 🙏🏻 *-लोककल्याण सेतु – जून २०१४ से* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *गुरुपुष्यामृत योग* 🌷 🙏🏻 *‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है | पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं | ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य: |’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है | पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है |* 🙏🏻 *इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* *सिद्ध-सिदन, गज-बदन, विनायक*। *कृपा-सिंधु, सुंदर सब-लायक*॥ *मोदक-प्रिय, मुद-मंगल-दाता*। *विद्या-वारिध, बुद्धि-विधाता*॥ *माँगत तुलसिदास कर जोरे*। *बसहिं रामसिय मानस मोरे*॥ *🙏🙏ॐ राम ॐ🙏🙏* 🛕🛕🎪🎪🕉️🚩🕉️🎪🎪🛕🛕

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

*🛕🕉️ॐ श्री गणेशाय नमः🕉️🛕* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* ⛅ *दिनांक 20 जनवरी 2021* ⛅ *दिन - बुधवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - पौष* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - सप्तमी दोपहर 01:16 तक तत्पश्चात अष्टमी* ⛅ *नक्षत्र - रेवती दोपहर 12:37 तक तत्पश्चात अश्विनी* ⛅ *योग - सिद्ध रात्रि 07:31 तक तत्पश्चात साध्य* ⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:50 से दोपहर 02:13 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:19* ⛅ *सूर्यास्त - 18:20* ⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - बुधवारी अष्टमी (दोपहर 01:16 से 21 जनवरी सूर्योदय तक)* 💥 *विशेष - सप्तमी को ताड़ का फल खाने से रोग बढ़ता है तथा शरीर का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *करेला सेवन* 🌷 👉🏻 *हफ्ते में एक दिन करेला खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है (कड़वा रस भी शरीर के स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी है)* 🙏🏻 *पूज्य बापूजी - 1st March'09, Nanded* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *कालसर्प दोष से मुक्ति* 🌷 ➡ *‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’ जप करें तो कालसर्प दोष की शांति हो जाती है |* 👉🏻 *विषम संख्या ३ बार, ७ बार, ११ बार, २१ बार, ३१ बार, ५१ बार, १०१ बार विषम संख्या में जप करने से – ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’, किसी को कालसर्प दोष हो तो उसी को बता देना |* 🙏🏻 *- Shri Sureshanandji Prayagraj 6th Feb' 2013* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *घर में शांति आने का अद्भुत चमत्कार* 🌷 🔥 *शुद्ध घी या तिल के तेल का दीपक जलाकर गहरा श्वास लेके रोकें फिर ‘ॐ तं नमामि हरिं परम् |’ मंत्र बोले | ऐसा १५ – २० मिनट नियत समय, नियत स्थान पर कुटुम्ब के सभी लोग करें | ३ – ४ दिन में अद्भुत चमत्कार होगा, घर में शांति होगी |* 🙏🏻 *ऋषिप्रसाद – जनवरी २०१९ से* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* *सिद्ध-सिदन, गज-बदन, विनायक*। *कृपा-सिंधु, सुंदर सब-लायक*॥ *मोदक-प्रिय, मुद-मंगल-दाता*। *विद्या-वारिध, बुद्धि-विधाता*॥ *माँगत तुलसिदास कर जोरे*। *बसहिं रामसिय मानस मोरे*॥ *🙏🙏हरि ॐ 🙏🙏* 🛕🛕🎪🎪🕉️🚩🕉️🎪🎪🛕🛕

+14 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 6 शेयर