विष्णु मंदिर

राहुल Jul 17, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Kumkum Agarwal Jul 16, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Narayansingh Gurjar Jul 16, 2019

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Anuradha Tiwari Jul 15, 2019

क्या आप जानते हैं ? प्रम्बनन मंदिर जावा ( इंडोनेशिया) से जुड़े रोचक तथ्य... प्रम्बनन (परब्रह्मन् का विकृत रूप) जावा में एक विशाल हिन्दु मन्दिर-परिसर है। इसका निर्माण 850 में हुआ। यह युनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों में शामिल है और लोकप्रिय पर्यटन स्थल और तीर्थस्थान भी है। इसमें तीन प्रमुख मन्दिर शिव, विष्णु और ब्रह्मा की हैं। शिव मन्दिर में तीन और मूर्तियां हैं- दुर्गा, गणेश और अगस्त्य की। कहते हैं काफी समय पूर्व की बात है जावा में प्रबुबका नामक राक्षस राजा राज्य करता था। उसकी रोरो जोंग्गरंग नाम की खूबसूरत बेटी थी। बांडुंग बोन्दोवोसो नामक युवक ने रोरो जोंग्गरंग को विवाह का प्रस्ताव दिया। उसे दिल से यह प्रस्ताव स्वीकार न था। उसने सीधे तौर पर उस युवक को मना न करते हुए उसके आगे शर्त रखी की उसे एक ही रात में एक हजार मूर्तियां बनानी होंगी। बांडुंग बोन्दोवोसो राजी हो गया। जब उसने 999 मूर्तियां बना दी और वह आखिरी मूर्ति पर काम कर रहा था तो रोरो जोंग्गरंग ने पूरे शहर में जितने भी चावल के खेत थे उनमें आग लगवा दी। आग की वजह से ऐसा आभास हुआ की भोर हो गई है। उसकी आखिरी मूर्ति अधूरी ही रह गई। जब बांडुंग बोन्दोवोसो को सच ज्ञात हुआ तो उसे बहुत क्रोध आया और उसने रोरो जोंग्गरंग को आखिरी मूर्ति बन जाने का श्राप दे दिया। रोरो जोंग्गरंग की मूर्ति को भगवती दुर्गा का रूप मान पूजा जाता है। इंडोनेशिया के लोग इस मंदिर को जोंग्गरंग से संबंधित होने के कारण रोरो जोंग्गरंग मंदिर के नाम से पुकारते हैं। हिंदू लोगों के लिए प्रम्बनन मंदिर आस्था का केंद्र है। प्रम्बनन मंदिर इतना सुंदर है कि वहां की बनावट किसी को भी अपने मोहपाश में बांध लेगी। मंदिर की दीवारों पर रामायण काल के चित्र भी अंकित हैं। ये चित्र रामायण की गाथा को बयां करते हैं। यह मंदिर तीनों देवों के वाहनों को समर्पित हैं। ब्रह्मा मंदिर के सामने हंस, विष्णु मंदिर के सामने गरूड़ और शिव मंदिर के सामने नन्दीश्वर का मंदिर है। इसके अतिरिक्त मंदिर परिसर में और भी बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं।

+34 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 3 शेयर