विनायकचतुर्थी

+49 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 2 शेयर

1. विष्णु गायत्री महामंत्र: ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।। 2. पंचरूप मंत्र: ॐ ह्रीं कार्तविर्यार्जुनो नाम राजा बाहु सहस्त्रवान, यस्य स्मरेण मात्रेण ह्रतं नष्‍टं च लभ्यते। 3. विष्णु रूपं पूजन मंत्र: शांता कारम भुजङ्ग शयनम पद्म नाभं सुरेशम। विश्वाधारं गगनसद्र्श्यं मेघवर्णम शुभांगम। लक्ष्मी कान्तं कमल नयनम योगिभिर्ध्यान नग्म्य्म। 4. विष्णु कृष्ण अवतार मंत्र: श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।। ऐसे करें मंत्रों का जाप इस दिन स्नान के बाद पीले कपड़े पहनें। फिर भगवान विष्णु की पूजा करें। इसके बाद उनको खीर या दूध से बनी मिठाई का भोग लगाएं। साथ ही पीले रंग के फूल अर्पित करें। अब पूजा वाले आसन पर ध्यान मुद्रा में बैठ जाएं। फिर मंत्रों का जाप करें। ॐ गं गणपतये ॐ नमः शिवाय ॐ नमो नारायणाय ॐ नमो भगवते वासुदेवाय जय श्री राम जय श्री कृष्ण जय श्री हरी ॐ 🙏 शुभ 🌅 वंदन 👣 💐 👏 शुभ बुधवार ॐ गं गणपतये नमः 👏 🚩 🐚🌹🚩💫✨🎉🎊🎈 🌷 🎪 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹नमस्कार 🙏 🚩

+101 प्रतिक्रिया 44 कॉमेंट्स • 137 शेयर