रावण

white beauty Apr 19, 2020

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर

रावण को लेकर आज हमारी मानसिकता हमारी सोच बहुत खराब हो चुकी है , हम रावण को केवल दैत्य / राक्षस के रूप में ही मानते हैं लेकिन ऐसा नहीं है _ रावण जैसा शिव भक्त कोई संसार में न दूजा है उसने श्री शिव जी को सिर काट काट कर पूजा है रावण एक अादर्श ब्राह्मण , शिव भक्त , वीणावादक , संपूर्ण वेदों शास्त्रों का ज्ञाता, महादानी ,प्रकाण्ड विद्वान, राजनीतिज्ञ आदि था । रावण बनना भी आसान कहाँ? रावण में अहंकार था तो पश्चाताप भी था रावण में वासना थी तो संयम भी था रावण में सीता के अपहरण की ताकत थी, तो बिना सहमति पराए स्त्री को स्पर्श न करनें का संकल्प भी था सीता जीवित मिलीं ये राम की ताकत थी पर पवित्र मिलीं ये रावण की मर्यादा थी ......... प्रस्तुत वीडियो में रावण की महानता उसके बल शौर्य और उसके पराक्रम का वर्णन है

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर