यमदूतों

Vijay Pithadiya Sep 8, 2018

#महामृत्युंजय-मंत्र की रचना कैसे हुई?

#शिवजी के अनन्य भक्त #मृकण्ड ऋषि संतानहीन होने के कारण दुखी थे. विधाता ने उन्हें संतान योग नहीं दिया था.

#मृकण्ड ने सोचा कि #महादेव संसार के सारे विधान बदल सकते हैं. इसलिए क्यों न #भोलेनाथ को प्रसन्नकर यह वि...

(पूरा पढ़ें)
+183 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 415 शेयर

#श्रीराम राम रामेति......

एक बार #महादेवजी को बिना कारण के किसी को प्रणाम करते देखकर #पार्वती-जी ने पूछा - आप किसको प्रणाम करते रहते हैं ?

#शिवजी पार्वती जी से कहते हैं कि - हे देवी! जो व्यक्ति एक बार #राम कहता है उसे मैं तीन बार प्रणाम करता हूँ...

(पूरा पढ़ें)
+38 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 49 शेयर

#शिवजी के अनन्य भक्त #मृकण्ड ऋषि संतानहीन होने के कारण दुखी थे. विधाता ने उन्हें संतान योग नहीं दिया था.

#मृकण्ड ने सोचा कि #महादेव संसार के सारे विधान बदल सकते हैं. इसलिए क्यों न #भोलेनाथ को प्रसन्नकर यह विधान बदलवाया जाए.

#मृकण्ड ने घोर तप किय...

(पूरा पढ़ें)
+25 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 45 शेयर

#महामृत्युंजय-मंत्र की रचना कैसे हुई?

#शिवजी के अनन्य भक्त #मृकण्ड ऋषि संतानहीन होने के कारण दुखी थे. विधाता ने उन्हें संतान योग नहीं दिया था.

#मृकण्ड ने सोचा कि #महादेव संसार के सारे विधान बदल सकते हैं. इसलिए क्यों न #भोलेनाथ को प्रसन्नकर यह वि...

(पूरा पढ़ें)
+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर