प्रवचन

एक किसान बहुत परेशान हो गया।
हर वर्ष कुछ गड़बड़ कभी कुछ...
कभी बाढ़ आ जाए,
कभी आंधी तूफान आ जाएं,
कभी पाला पड़ जाए,
कभी ओले गिर जाएं,
कभी वर्षा कम कभी वर्षा ज्यादा।

किसान थक गया। एक दिन उसने
परमात्मा से कहा कि तुम्हें किसानी नहीं आती।
तुमने क...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Flower Dhoop +6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर

~~~~~~~~~~~
एक बार श्री राधा अपनी सखियों के संग यमुना किनारे बैठी होती हैँ। सभी सखी आपस में श्री राधा और श्यामसुन्दfर के प्रेम की बातें करती हैं। कोई कहती है राधा के रोम रोम में श्यामसुन्दर बसे हैँ । राधा के समान श्यामसुन्दर को कोई प्रेम नहीं कर स...

(पूरा पढ़ें)
Flower Pranam Bell +9 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 28 शेयर

लीला का मतलब क्या होता है? लीला है क्या? यह प्रश्न हमारे मन में होता है कि यह लीलाओं में जो होता है यह क्या सत्य है या असत्य है। क्योंकि लीला में असंभव भी संभव होने लग जाता है। जैसे वेद कहता है कि भगवान का कोई पिता नहीं है। लेकिन फिर भी श्री कृष्ण...

(पूरा पढ़ें)
Pranam +3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर

*।।ॐ श्रीसद्गुरवे नमः।।*
*बोध-कथाएँ - 13. सबको दैविक बुद्धि चाहिए*
*(“महर्षि मेँहीँ की बोध-कथाएँ” नामक पुस्तक से) - सम्पादक : श्रद्धेय छोटे लाल बाबा*

उपनिषद् की कथा है कि देवताओं के राजा इन्द्र और दानवों के राजा विरोचन ने आपस में आत्मज्ञान प्राप्...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Tulsi +2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Arvind KumarTiwari Oct 16, 2018

Pranam Flower +2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 49 शेयर