नारदजी

'नारदजी ने एकबार #भोलेनाथ की #स्तुति कर पूछा– प्रभु आपको प्रसन्न करने के लिए सबसे उत्तम और सुलभ साधन क्या है. हे त्रिलोकीनाथ आप तो निर्विकार और निष्काम हैं, आप सहज ही प्रसन्न हो जाते हैं. फिर भी मेरी जानने की इच्छा है कि आपको क्या प्रिय है?
#शिवजी...

(पूरा पढ़ें)
+27 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 48 शेयर

एक बार देवर्षि नारद अपने पिता ब्रम्हा जी के सामने “नारायण-नारायण” का जप करते हुए उपस्थित हुए और पूज्य पिताजी को दंडवत प्रणाम किया ।  नारद जी को सामने देख ब्रम्हा जी ने पुछा, “नारद! आज कैसे आना हुआ ? तुम्हारे मुख के भाव कुछ कह रहे हैं! कोई विशेष प्...

(पूरा पढ़ें)
+93 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 74 शेयर

#ज्ञानवर्षा
विश्वास की गहराई

एक बार #नारदजी एक पर्वत से गुजर रहे थे। अचानक उन्होंने देखा कि एक विशाल वटवृक्ष के नीचे एक तपस्वी तप कर रहा है। उनके दिव्य प्रभाव से वह जाग गया और उसने उन्हें प्रणाम करके पूछा कि उसे प्रभु के दर्शन कब होंगे। नारदजी ...

(पूरा पढ़ें)
+389 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 200 शेयर

#राम #राम जी ---

#जय #३भोलेनाथ की --

एक थे "सर्वनिंदक" महाराज ! काम धाम कुछ करना आता नहीं था पर निंदा गजब की करते थे! दूसरे के काम में ऐसा शानदार टाँग फँसाते थे कि #नारदजी भी #शर्मिंदा हो जाते थे !

अगर कोई व्यक्ति मेहनत करने के बाद सुस्ताने के...

(पूरा पढ़ें)
+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 8 शेयर