देवोत्थान एकादशी

Babita Sharma Nov 25, 2020

🙏🙏विष्णु भगवान आपके घर मंगल ही मंगल करें, इसी कामना के साथ आप और आपके परिवार को देवउठनी एकादशी एवं तुलसी विवाह की हार्दिक शुभकामनाएं🙏🙏 🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃 हम सबके घर में विराजित मां तुलसी के 8 नामों का मंत्र या सीधे 8 नाम एकादशी के दिन बोलने से भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी भी प्रसन्न होती है। मंत्र : एतभामांष्टक चैव स्रोतं नामर्थं संयुक्तम। य: पठेत तां च सम्पूज् सौऽश्रमेघ फललंमेता।। तुलसी के 8 नाम – पुष्पसारा, नन्दिनी, वृंदा, वृंदावनी, विश्वपूजिता, विश्वपावनी, तुलसी और कृष्ण जीवनी।  तुलसी की पूजा में ये चीजें जरूरी हैं तुलसी पूजा के लिए घी दीपक, धूप, सिंदूर, चंदन, नैवद्य और पुष्प अर्पित किए जाते हैं। रोजाना पूजन करने से घर का वातावरण पूरी तरह पवित्र रहेगा। इस पौधे में ऐसे तत्व भी होते हैं जिनसे कीटाणु पास नहीं फटकते। तुलसी विवाह में शामिल शालिग्राम की पूजा के लाभ आपको अचरज में डाल देंगे, देवउठनी एकादशी के दिन उनके प्रभु निद्रा से जागते हैं और परम सती भगवती स्वरूपा मां तुलसी से उनका विवाह होता है। कार्तिक शुक्ल एकादशी और द्वादशी को तुलसी विवाह होता है जिसमें श्री शालिग्राम और तुलसी का विवाह संपन्न होता है। यह शालिग्राम, सालिग्राम आखिर कौन है:  भगवान शालिग्राम श्री नारायण का साक्षात् और स्वयंभू स्वरुप माने जाते हैं। आश्चर्य की बात है की त्रिदेव में से दो भगवान शिव और विष्णु दोनों ने ही जगत के कल्याण के लिए पार्थिव रूप धारण किया। जिस प्रकार नर्मदा नदी में निकलने वाले पत्थर नर्मदेश्वर या बाण लिंग साक्षात् शिव स्वरुप माने जाते हैं और स्वयंभू होने के कारण उनकी किसी प्रकार प्राण प्रतिष्ठा की आवश्यकता नहीं होती।  ठीक उसी प्रकार शालिग्राम भी नेपाल में गंडकी नदी के तल में पाए जाने वाले काले रंग के चिकने, अंडाकार पत्थर को कहते हैं। स्वयंभू होने के कारण इनकी भी प्राण प्रतिष्ठा की आवश्यकता नहीं होती और भक्त जन इन्हें घर अथवा मन्दिर में सीधे ही पूज सकते हैं।  शालिग्राम भिन्न भिन्न रूपों में प्राप्त होते हैं कुछ मात्र अंडाकार होते हैं तो कुछ में एक छिद्र होता है तथा पत्थर के अंदर शंख, चक्र, गदा या पद्म खुदे होते हैं। कुछ पत्थरों पर सफेद रंग की गोल धारियां चक्र के समान होती हैं। दुर्लभ रूप से कभी कभी पीताभ युक्त शालिग्राम भी प्राप्त होते हैं। हर घर में भगवान विष्णु विराजें हर घर में यश वैभव और समृद्धि आवे। हरि ॐ नमो भगवते वासुदेवाय 🌹🙏🙏

+1956 प्रतिक्रिया 561 कॉमेंट्स • 935 शेयर

🚩 *श्री गणेशाय नम:🚩* *🔴 दैनिक पंचांग 🔴* *☀ 25 - 11 - 2020* *☀ श्रीमाधोपुर-पंचांग* *🔶 तिथि एकादशी 29:12:12* *🔶 नक्षत्र उत्तराभाद्रपद 18:20:33* *🔶 करण :* *वणिज 15:56:30* *विष्टि 29:12:12* *🔶 पक्ष शुक्ल* *🔶 योग सिद्धि पूर्ण रात्रि* *🔶 वार बुधवार* *☀ सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएँ* *🔴 सूर्योदय 06:56:17* *🔴 चन्द्रोदय 14:52:00* *🔴 चन्द्र राशि मीन* *🔴 सूर्यास्त 17:33:04* *🔴 चन्द्रास्त 27:12:59* *🔴 ऋतु हेमंत* *☀ हिन्दू मास एवं वर्ष* *🔷 शक सम्वत 1942 शार्वरी* *🔷 कलि सम्वत 5122* *🔷 दिन काल 10:36:47* *🔷 विक्रम सम्वत 2077* *🔷 मास अमांत कार्तिक* *🔷 मास पूर्णिमांत कार्तिक* *☀ शुभ और अशुभ समय* *☀ शुभ समय* *🔷 अभिजित कोई नहीं* *☀ अशुभ समय* *🔲 दुष्टमुहूर्त 11:53:26 - 12:35:54* *🔲 कंटक 16:08:09 - 16:50:36* *🔲 यमघण्ट 09:03:38 - 09:46:05* *🔲 राहु काल 12:14:40 - 13:34:16* *🔲 कुलिक 11:53:26 - 12:35:54* *🔲 कालवेला या अर्द्धयाम 07:38:44 - 08:21:11* *🔲 यमगण्ड 08:15:52 - 09:35:28* *🔲 गुलिक काल 10:55:04 - 12:14:40* *☀ दिशा शूल* *🔲 दिशा शूल उत्तर* *🔲 चोघडिया-मुहूर्त 🔲* *🔲लाभ06:56:17-08:15:52* *🔲अमृत08:15:52-09:35:28* *🔲काल09:35:28-10:55:04* *🔲शुभ10:55:04-12:14:40* *🔲रोग12:14:40-13:34:16* *🔲उद्वेग13:34:16-14:53:52* *🔲चल14:53:52-16:13:28* *🔲लाभ16:13:28-17:33:04* *🔲उद्वेग17:33:04-19:13:33* *🔲शुभ19:13:33-20:54:03* *🔲अमृत20:54:03-22:34:33* *🔲चल22:34:33-24:15:03* *🔲रोग24:15:03-25:55:33* *🔲काल25:55:33-27:36:03* *🔲लाभ27:36:03-29:16:33* *🔲उद्वेग29:16:33-30:57:02* *🎾 लग्न तालिका 🎾* सूर्योदय का समय: 06:56:17 सूर्योदय के समय लग्न वृश्चिक स्थिर 218°26′08″ 🔰 वृश्चिक स्थिर शुरू: 06:16 AM समाप्त: 08:35 AM 🔰 धनु द्विस्वाभाव शुरू: 08:35 AM समाप्त: 10:39 AM 🔰 मकर चर शुरू: 10:39 AM समाप्त: 12:23 PM 🔰 कुम्भ स्थिर शुरू: 12:23 PM समाप्त: 01:52 PM 🔰 मीन द्विस्वाभाव शुरू: 01:52 PM समाप्त: 03:18 PM 🔰 मेष चर शुरू: 03:18 PM समाप्त: 04:55 PM 🔰 वृषभ स्थिर शुरू: 04:55 PM समाप्त: 06:51 PM 🔰 मिथुन द्विस्वाभाव शुरू: 06:51 PM समाप्त: 09:06 PM 🔰 कर्क चर शुरू: 09:06 PM समाप्त: 11:26 PM 🔰 सिंह स्थिर शुरू: 11:26 PM समाप्त: अगले दिन 01:42 AM 🔰 कन्या द्विस्वाभाव शुरू: अगले दिन 01:42 AM समाप्त: अगले दिन 03:58 AM 🔰 तुला चर शुरू: अगले दिन 03:58 AM समाप्त: अगले दिन 06:16 AM 2️⃣5️⃣🥎1️⃣1️⃣🥎2️⃣0️⃣ *🥎🌷जयश्रीकृष्णा🌷🥎* *ज्योतिषशास्त्री:- सुरेन्द्र कुमार चेजारा व्याख्याता राउमावि होल्याकाबास* *निवास:- श्रीमाधोपुर* 🟦🟨🟦🟨🟦🟨🟦🟨

+20 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 87 शेयर