ज्योतिषीय_दृष्टिकोण

397 साल बाद फिर करीब आ रहे बृहस्पति और शनि, सोमवार को दिखेगा प्रकृति का अद्भुत नजारा सौरमंडल में सोमवार को एक बड़ी खगोलीय घटना देखने को मिलेगी। इस दौरान हमारे सौर मंडल के दो बड़े ग्रह बृहस्पति और शनि एक दूसरे के बेहद नजदीक आ जाएंगे। ये दोनों ग्रह इससे पहले 17वीं शताब्दी में महान खगोलविद गैलीलियो के जीवनकाल में इतने पास आए थे।      केप केनवरल सौरमंडल में सोमवार को एक बड़ी खगोलीय घटना देखने को मिलेगी। इस दौरान हमारे सौर मंडल के दो बड़े ग्रह बृहस्पति और शनि एक दूसरे के बेहद नजदीक आ जाएंगे। ये दोनों ग्रह इससे पहले 17वीं शताब्दी में महान खगोलविद गैलीलियो के जीवनकाल में इतने पास आए थे। इस घटना को लोग सोमवार को सूर्यास्त के बाद लोग बिना किसी उपकरण की मदद के देख सकते हैं शनि और बृहस्पति ग्रह का मिलन आसानी से देखा जा सकता है ग्रहों का मिलन अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि हमारे सौरमंडल में दो बड़े ग्रहों का नजदीक आना बहुत दुर्लभ नहीं है। बृहस्पति ग्रह अपने पड़ोसी शनि ग्रह के पास से प्रत्येक 20 साल पर गुजरता है, लेकिन इसका इतने नजदीक आना खास है। वैज्ञानिकों का कहना है कि दोनों ग्रहों के बीच उनके नजरिए से सिर्फ 0.1 डिग्री की दूरी रह जाएगी। अगर मौसम स्थिति अनुकूल रहती है तो ये आसानी से सूर्यास्त के बाद दुनिया भर से देखे जा सकते हैं।

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Neeru Miglani Mar 22, 2020

*Corona Virus* *"धन्य है प्रभु तेरा इशारा"* ++++++++++++++++++++ एक झटके में घुटनों पर ला दिया समस्त मानव 👨‍👩‍👧‍👦 जाति को! उड़े जा रहे थे, 🦇 उड़े जा रहे थे 🦇🦇 कोई चाँद 🌕 पर कब्जे की तैयारी कर रहा है तो कोई मंगल पर 🪐🪐🪐 , कोई सूरज 🌝 को छूने की कोशिश कर रहा है तो कोई अंतरिक्ष में आशियाँ ढूँढ रहा है! चीन पड़ोसी देशों की जमीन हड़पने की तैयारी में था/है तो रूस और अमेरिका nuclear power 🌈 के नशे में पूरे विश्व को ध्वस्त करने की कोशिश में लगे हैं! कहीं धर्म के नाम पर नरसंहार चल रहा है तो कहीं जाति के नाम पर अत्याचार! छोटे-छोटे बच्चों 🤷‍♂🤷‍♀ के बलात्कार किये जा रहे हैं! मानवता तो जैसे समाप्त ही हो चुकी है! ईश्वर ने मानो इशारा किया है - ++++++++++++++++++++ कि, "मैंने तो तुम लोगों को इतनी खूबसूरत धरती पर, स्वर्ग के मानिंद, रहने के लिए भेजा था😌 मगर, तुम लोगों ने तो इसे नर्क बनाकर रख दिया! मेरे लिये तो आज भी तुम सभी, एक छोटे से प्यारे से परिवार 👨‍👩‍👦‍👦 की तरह हो। मुझे नहीं पता कि कहाँ चीन की सीमा खत्म होकर भारत की सीमा शुरू होती है? कहाँ ईरान है? कहाँ इटली?? और कहाँ जर्मनी??? ये सीमाएँ तुम लोगों ने बनायी हैं! मुझे नहीं पता कि कौन ईसाई 👨‍🍳 है? कौन मुस्लिम 👦? कौन हिन्दू 👨‍🦲? कौन सिक्ख👳‍♂?कौन यहूदी 👨‍⚖? और कौन बौद्ध🧓 है? मुझे नहीं पता कि कौन ऊँची जाति का है? और कौन नीची जाति का? मैंने तो सिर्फ़ इंसान बनाया था! क्यों एक दूसरे को मार रहे हो? प्यार से क्यों नहीं रह पा रहे हो? जानते हो कि सब छोड़कर मेरे पास ही आना है! तब भी छीना-झपटी, नोचा-खसोटी और कत्ले-आम मचा रखा है! अभी तो मैंने तीसरा नेत्र 👁 थोड़ा सा मिच-मिचाया है! संभल जाओ और सुधर जाओ 🤔! फिर मत कहना कि मैंने मौका नहीं दिया🤷‍♂ एक बार वासुदेव-कुटुम्बकम की तरह रहकर तो देखो, सब ठीक हो जाएगा। 🙏🌹🤷‍♂🌹🙏 कृप्या इस मैसेज को इतना फैलाएँ कि मानवजाति सुधर जाए। 🙏🌹🤷‍♂🌹🙏 🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌱🌿🌿🌿🌿🍀☘🌿🌱🌴🌳🌲 🍂🍃💐🌹🍂🍃💐🌹🍂🍃💐

+142 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 104 शेयर
white beauty Jul 20, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर