गीताज्ञान

🚩 *श्री गणेशाय नम:🚩* *🌻23 - Feb - 2020🌻* *📓🕉गीता-ज्ञान🕉📓* *एवं बुद्धेः परं बुद्ध्वा* *संस्तभ्यात्मानमात्मना।* *जहि शत्रुं महाबाहो* *कामरूपं दुरासदम् ॥३-४३॥* *✍इस प्रकार बुद्धि से श्रेष्ठ आत्मा को जानकर और बुद्धि द्वारा मन को वश में करके हे महाबाहो! तुम इस कामरूप दुर्जय शत्रु को मार डालो॥43॥* 📜 *दैनिक पंचांग* 📜 *🌻23 - Feb - 2020🌻* *🕉पंचांग-श्रीमाधोपुर🕉* 🔅 तिथि अमावस्या 21:03:12 🔅 नक्षत्र-धनिष्ठा 13:43:11(पंचक प्रारंभ) 🔅 करण : चतुष्पाद 08:01:47 नाग 21:03:12 🔅 पक्ष कृष्ण 🔅 योग परिघ 07:31:49 🔅 वार रविवार ☀ सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएँ 🔅 सूर्योदय 06:58:21 🔅 चन्द्रोदय चन्द्रोदय नहीं 🔅 चन्द्र राशि कुम्भ 🔅 सूर्यास्त 18:24:13 🔅 चन्द्रास्त 18:11:00 🔅 ऋतु वसंत ☀ हिन्दू मास एवं वर्ष 🔅 शक सम्वत 1941 विकारी 🔅 कलि सम्वत 5121 🔅 दिन काल 11:25:51 🔅 विक्रम सम्वत 2076 🔅 मास अमांत माघ 🔅 मास पूर्णिमांत फाल्गुन ☀ शुभ और अशुभ समय ☀ शुभ समय 🔅 अभिजित 12:18:25 - 13:04:08 ☀ अशुभ समय 🔅 दुष्टमुहूर्त 16:52:46 - 17:38:29 🔅 कंटक 10:46:58 - 11:32:41 🔅 यमघण्ट 13:49:52 - 14:35:35 🔅 राहु काल 16:58:28 - 18:24:12 🔅 कुलिक 16:52:46 - 17:38:29 🔅 कालवेला या अर्द्धयाम 12:18:25 - 13:04:08 🔅 यमगण्ड 12:41:16 - 14:07:00 🔅 गुलिक काल 15:32:44 - 16:58:28 ☀ दिशा शूल 🔅 दिशा शूल पश्चिम ☀ चन्द्रबल और ताराबल ☀ ताराबल 🔅 भरणी, रोहिणी, मृगशिरा, आर्द्रा, पुनर्वसु, आश्लेषा, पूर्वा फाल्गुनी, हस्त, चित्रा, स्वाति, विशाखा, ज्येष्ठा, पूर्वाषाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, रेवती ☀ चन्द्रबल 🔅 मेष, वृषभ, सिंह, कन्या, धनु, कुम्भ 📜 *चौघडिया-मुहूर्त* 📜 🔅उद्वेग 06:58:21 - 08:24:04 🔅चल 08:24:04 - 09:49:48 🔅लाभ 09:49:48 - 11:15:32 🔅अमृत 11:15:32 - 12:41:16 🔅काल 12:41:16 - 14:07:00 🔅शुभ 14:07:00 - 15:32:44 🔅रोग 15:32:44 - 16:58:28 🔅उद्वेग 16:58:28 - 18:24:12 🔅शुभ 18:24:13 - 19:58:22 🔅अमृत 19:58:22 - 21:32:31 🔅चल 21:32:31 - 23:06:40 🔅रोग 23:06:40 - 24:40:49 🔅काल 24:40:49 - 26:14:58 🔅लाभ 26:14:58 - 27:49:07 🔅उद्वेग 27:49:07 - 29:23:16 🔅शुभ 29:23:16 - 30:57:25 *🏦लग्न-तालिका🏦* सूर्योदय का समय: 06:58:21 सूर्योदय के समय लग्न कुम्भ स्थिर 308°42′52″ 🔅 कुम्भ स्थिर शुरू: 06:31 AM समाप्त: 08:00 AM 🔅 मीन द्विस्वाभाव शुरू: 08:00 AM समाप्त: 09:26 AM 🔅 मेष चर शुरू: 09:26 AM समाप्त: 11:03 AM 🔅 वृषभ स्थिर शुरू: 11:03 AM समाप्त: 12:59 PM 🔅 मिथुन द्विस्वाभाव शुरू: 12:59 PM समाप्त: 03:14 PM 🔅 कर्क चर शुरू: 03:14 PM समाप्त: 05:34 PM 🔅 सिंह स्थिर शुरू: 05:34 PM समाप्त: 07:50 PM 🔅 कन्या द्विस्वाभाव शुरू: 07:50 PM समाप्त: 10:06 PM 🔅 तुला चर शुरू: 10:06 PM समाप्त: अगले दिन 00:24 AM 🔅 वृश्चिक स्थिर शुरू: अगले दिन 00:24 AM समाप्त: अगले दिन 02:43 AM 🔅 धनु द्विस्वाभाव शुरू: अगले दिन 02:43 AM समाप्त: अगले दिन 04:47 AM 🔅 मकर चर शुरू: अगले दिन 04:47 AM समाप्त: अगले दिन 06:31 AM 2⃣3⃣-0⃣2⃣-2⃣0⃣ *🕉🙏जयश्रीराम🙏🕉* *सुरेन्द्र चेजारा व्याख्याता* *ज्योतिषशास्त्री श्रीमाधोपुर* 🎇🍋🎇🍋🎇🍋🎇🍋

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 38 शेयर

🚩 *श्री गणेशाय नम:🚩* *🌻22 - Feb - 2020🌻* *📓🍋गीता-ज्ञान🍋📓* *इन्द्रियाणि पराण्याहु-* *रिन्द्रियेभ्यः परं मनः।* *मनसस्तु परा बुद्धिर्यो* *बुद्धेः परतस्तु सः॥३-४२॥* *✍इन्द्रियाँ स्थूल शरीर से श्रेष्ठ हैं, इन इन्द्रियों से श्रेष्ठ मन है, मन से भी श्रेष्ठ बुद्धि है और जो बुद्धि से भी अत्यन्त श्रेष्ठ है, वह आत्मा है॥42॥* 📜 *दैनिक पंचांग* 📜 *🌻22 - Feb - 2020🌻* *🕉पंचांग-श्रीमाधोपुर🕉* 🔅 तिथि चतुर्दशी 19:04:19 🔅 नक्षत्र श्रवण 11:19:46 🔅 करण शकुन 19:04:19 🔅 पक्ष कृष्ण 🔅 योग वरियान 07:12:31 🔅 वार शनिवार ☀ सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएँ 🔅 सूर्योदय 06:59:14 🔅 चन्द्रोदय 30:56:00 🔅 चन्द्र राशि मकर - 24:29:29 तक 🔅 सूर्यास्त 18:23:33 🔅 चन्द्रास्त 17:17:00 🔅 ऋतु वसंत ☀ हिन्दू मास एवं वर्ष 🔅 शक सम्वत 1941 विकारी 🔅 कलि सम्वत 5121 🔅 दिन काल 11:24:18 🔅 विक्रम सम्वत 2076 🔅 मास अमांत माघ 🔅 मास पूर्णिमांत फाल्गुन ☀ शुभ और अशुभ समय ☀ शुभ समय 🔅 अभिजित 12:18:35 - 13:04:13 ☀ अशुभ समय 🔅 दुष्टमुहूर्त : 06:59:14 - 07:44:52 07:44:52 - 08:30:29 🔅 कंटक 12:18:35 - 13:04:13 🔅 यमघण्ट 15:21:04 - 16:06:42 🔅 राहु काल 09:50:19 - 11:15:52 🔅 कुलिक 07:44:52 - 08:30:29 🔅 कालवेला या अर्द्धयाम 13:49:50 - 14:35:27 🔅 यमगण्ड 14:06:56 - 15:32:29 🔅 गुलिक काल 06:59:14 - 08:24:47 ☀ दिशा शूल 🔅 दिशा शूल पूर्व ☀ चन्द्रबल और ताराबल ☀ ताराबल 🔅 अश्विनी, कृत्तिका, रोहिणी, मृगशिरा, आर्द्रा, पुष्य, मघा, उत्तरा फाल्गुनी, हस्त, चित्रा, स्वाति, अनुराधा, मूल, उत्तराषाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तराभाद्रपद ☀ चन्द्रबल 🔅 मेष, कर्क, सिंह, वृश्चिक, मकर, मीन 📜 *चौघडिया-मुहूर्त* 📜 🔅काल 06:59:14 - 08:24:47 🔅शुभ 08:24:47 - 09:50:19 🔅रोग 09:50:19 - 11:15:52 🔅उद्वेग 11:15:52 - 12:41:24 🔅चल 12:41:24 - 14:06:56 🔅लाभ 14:06:56 - 15:32:29 🔅अमृत 15:32:29 - 16:58:01 🔅काल 16:58:01 - 18:23:33 🔅लाभ 18:23:33 - 19:57:54 🔅उद्वेग 19:57:54 - 21:32:15 🔅शुभ 21:32:15 - 23:06:36 🔅अमृत 23:06:36 - 24:40:57 🔅चल 24:40:57 - 26:15:18 🔅रोग 26:15:18 - 27:49:39 🔅काल 27:49:39 - 29:24:00 🔅लाभ 29:24:00 - 30:58:20 *🏦🍋लग्न-तालिका🍋🏦* सूर्योदय का समय: 06:59:14 सूर्योदय के समय लग्न कुम्भ स्थिर 307°42′30″ 🔅 कुम्भ स्थिर शुरू: 06:35 AM समाप्त: 08:03 AM 🔅 मीन द्विस्वाभाव शुरू: 08:03 AM समाप्त: 09:30 AM 🔅 मेष चर शुरू: 09:30 AM समाप्त: 11:07 AM 🔅 वृषभ स्थिर शुरू: 11:07 AM समाप्त: 01:03 PM 🔅 मिथुन द्विस्वाभाव शुरू: 01:03 PM समाप्त: 03:18 PM 🔅 कर्क चर शुरू: 03:18 PM समाप्त: 05:38 PM 🔅 सिंह स्थिर शुरू: 05:38 PM समाप्त: 07:54 PM 🔅 कन्या द्विस्वाभाव शुरू: 07:54 PM समाप्त: 10:10 PM 🔅 तुला चर शुरू: 10:10 PM समाप्त: अगले दिन 00:28 AM 🔅 वृश्चिक स्थिर शुरू: अगले दिन 00:28 AM समाप्त: अगले दिन 02:47 AM 🔅 धनु द्विस्वाभाव शुरू: अगले दिन 02:47 AM समाप्त: अगले दिन 04:51 AM 🔅 मकर चर शुरू: अगले दिन 04:51 AM समाप्त: अगले दिन 06:35 AM 2⃣2⃣-0⃣2⃣-2⃣0⃣ *🕉🙏जयश्रीराम🙏🕉* *सुरेन्द्र चेजारा व्याख्याता* *ज्योतिषशास्त्री श्रीमाधोपुर* 🏦🌷🏦🌷🏦🌷🏦🌷

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

🚩 *श्री गणेशाय नम:🚩* *🕉21 - Feb - 2020🕉* *📓🍋गीता-ज्ञान🍋📓* *तस्मात्त्वमिन्द्रियाण्यादौ* *नियम्य भरतर्षभ।* *पाप्मानं प्रजहि ह्येनं* *ज्ञानविज्ञाननाशनम्॥३-४१॥* *✍इसलिए हे अर्जुन! तुम पहले इन्द्रियों को वश में करके इस ज्ञान और विज्ञान का नाश करने वाले महान पापी काम को अवश्य ही बलपूर्वक मार डालो॥41॥* 📜 *दैनिक पंचांग* 📜 *🕉21 - Feb - 2020🕉* *🛑पंचांग-श्रीमाधोपुर🛑* 🕉तिथि त्रयोदशी 17:22:38 🕉नक्षत्र उत्तराषाढ़ा 09:13:38 🕉करण : वणिज 17:22:38 विष्टि 30:11:09 🕉पक्ष कृष्ण 🕉योग व्यतीपात 07:07:15 🕉 वार शुक्रवार 🕉 सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएँ 🕉 सूर्योदय 07:00:08 🕉 चन्द्रोदय 30:18:00 🕉 चन्द्र राशि मकर 🕉 सूर्यास्त 18:22:54 🕉 चन्द्रास्त 16:21:00 🕉 ऋतु वसंत 🕉 हिन्दू मास एवं वर्ष 🕉 शक सम्वत 1941 विकारी 🕉 कलि सम्वत 5121 🕉 दिन काल 11:22:45 🕉 विक्रम सम्वत 2076 🕉 मास अमांत माघ 🕉 मास पूर्णिमांत फाल्गुन 🕉 शुभ और अशुभ समय 🕉 शुभ समय 🕉 अभिजित 12:18:46 - 13:04:17 🕉 अशुभ समय 🕉 दुष्टमुहूर्त : 09:16:42 - 10:02:13 13:04:17 - 13:49:48 🕉 कंटक 13:49:48 - 14:35:19 🕉 यमघण्ट 16:51:52 - 17:37:23 🕉 राहु काल 11:16:11 - 12:41:31 🕉 कुलिक 09:16:42 - 10:02:13 🕉 कालवेला या अर्द्धयाम 15:20:50 - 16:06:21 🕉 यमगण्ड 15:32:13 - 16:57:34 🕉 गुलिक काल 08:25:29 - 09:50:50 🕉 दिशा शूल 🕉 दिशा शूल पश्चिम 🕉 चन्द्रबल और ताराबल 🕉 ताराबल 🕉 भरणी, कृत्तिका, रोहिणी, मृगशिरा, पुनर्वसु, आश्लेषा, पूर्वा फाल्गुनी, उत्तरा फाल्गुनी, हस्त, चित्रा, विशाखा, ज्येष्ठा, पूर्वाषाढ़ा, उत्तराषाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा, पूर्वाभाद्रपद, रेवती 🕉 चन्द्रबल 🕉 मेष, कर्क, सिंह, वृश्चिक, मकर, मीन *🕉चौघडिया-मुहूर्त🕉* 🕉चल 07:00:08 - 08:25:29 🕉लाभ 08:25:29 - 09:50:50 🕉अमृत 09:50:50 - 11:16:11 🕉काल 11:16:11 - 12:41:31 🕉शुभ 12:41:31 - 14:06:52 🕉रोग 14:06:52 - 15:32:13 🕉उद्वेग 15:32:13 - 16:57:34 🕉चल 16:57:34 - 18:22:54 🕉रोग 18:22:54 - 19:57:27 🕉काल 19:57:27 - 21:31:59 🕉लाभ 21:31:59 - 23:06:32 🕉उद्वेग 23:06:32 - 24:41:04 🕉शुभ 24:41:04 - 26:15:37 🕉अमृत 26:15:37 - 27:50:09 🕉चल 27:50:09 - 29:24:42 🕉रोग 29:24:42 - 30:59:14 *🕉लग्न-तालिका🕉* सूर्योदय का समय: 07:00:08 सूर्योदय के समय लग्न कुम्भ स्थिर 306°42′24″ 🕉 कुम्भ स्थिर शुरू: 06:39 AM समाप्त: 08:07 AM 🕉 मीन द्विस्वाभाव शुरू: 08:07 AM समाप्त: 09:34 AM 🕉 मेष चर शुरू: 09:34 AM समाप्त: 11:11 AM 🕉 वृषभ स्थिर शुरू: 11:11 AM समाप्त: 01:07 PM 🕉 मिथुन द्विस्वाभाव शुरू: 01:07 PM समाप्त: 03:22 PM 🕉 कर्क चर शुरू: 03:22 PM समाप्त: 05:42 PM 🕉 सिंह स्थिर शुरू: 05:42 PM समाप्त: 07:58 PM 🕉 कन्या द्विस्वाभाव शुरू: 07:58 PM समाप्त: 10:14 PM 🕉 तुला चर शुरू: 10:14 PM समाप्त: अगले दिन 00:32 AM 🕉 वृश्चिक स्थिर शुरू: अगले दिन 00:32 AM समाप्त: अगले दिन 02:51 AM 🕉 धनु द्विस्वाभाव शुरू: अगले दिन 02:51 AM समाप्त: अगले दिन 04:55 AM 🕉 मकर चर शुरू: अगले दिन 04:55 AM समाप्त: अगले दिन 06:39 AM ➖➖➖➖➖➖➖➖ *(महाशिवरात्रि 2020)* *पूजा विधि, मुहूर्त* *भगवान शिव और पार्वती के मिलन के उत्सव को भक्त महा शिवरात्रि के रूप में मनाते हैं। इस दिन जो भी भक्त देवों के देव महादेव की भक्ति में तल्लीन होकर उनकी पूजा करते हैं, भगवान शिव उनकी हर मनोकामना पूरी करते हैं। इस साल महा शिवरात्रि का त्योहार 21 फरवरी को मनाया जाएगा। इस दिन सुबह से ही मंदिरों में शिव भक्तों की भीड़ जमा हो जाती है। सभी भक्त प्रभु की पूजा-अर्चना में जुट जाते हैं। कई लोग इस दिन अपने-अपने घरों में रुद्राभिषेक भी करवाते हैं। आइए जानते हैं कि क्या है इस पर्व पर शिव जी की पूजा करने की सही विधि और किन मंत्रों का जाप करने से प्रसन्न होंगे भगवान शिव।* *ये है भगवान शिव की अराधना का सही तरीका* *✍ इस दिन सुबह जल्दी उठ कर स्नान कर लेना चाहिए। इसके अलावा, महा शिवरात्रि का व्रत रखने वाले भक्तों को पूरे समय ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करते रहना चाहिए। सुबह-सुबह मंदिर जाकर भगवान शिव की अराधना के साथ ही दूध, शहद और पानी से अभिषेक करने से भी शिव जी खुश होते हैं। इसके अलावा, बेलपत्र, भांग, धतूरा भी उन्हें बेहद प्रिय हैं। व्रतियों को पूरे दिन बिना खाए शिव जी की पूजा में लीन रहना चाहिए और शाम होने के बाद स्नान करके किसी शिव मंदिर में जाकर उनकी आरती में शामिल होना चाहिए। घर में भी लोगों को शाम में पूर्व या उत्तर दिशा में मुंह करके त्रिपुंड और रुद्राक्ष पहनकर पूजा करनी चाहिए। इसके अलावा, शिवपुराण में रात्रि के चारों प्रहर में शिव पूजा का विधान है जिसमें भक्तों को फल, फूल, चंदन, बेलपत्र, धतूरा और दीप-धूप से भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए।* *🕉🍋ॐनम:शिवाय🍋🕉* *2⃣1⃣-0⃣2⃣-2⃣0⃣* *सुरेन्द्र चेजारा व्याख्याता* *ज्योतिषशास्त्री श्रीमाधोपुर* 🎇🏦🎇🏦🎇🏦🎇🏦

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 16 शेयर

+16 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 207 शेयर