एकादसी

TR Madhavan Dec 17, 2018

#मोक्षदा एकादशी2018 पूर्वजों के साथ अपने लिए भी खोलें मोक्ष का द्वार... पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक मोक्षदा एकादशी का व्रत बहुत शुभ माना जाता है. मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु की पूजा-पाठ और कीर्तन करने से पाप का नाश होता है. इसीलिए इस दिन पापों को नष्ट करने और पितरों के लिए मोक्ष के द्वार खोलने के लिए श्री हरि की तुलसी की मंजरी और धूप-दीप से पूजा की जाती है.  मोक्षदा एकादशी व्रत कथा मोक्षदा एकादशी की प्रचलित कथा के अनुसार चंपा नगरी में चारों वेदों के ज्ञाता राजा वैखानस रहा करते थे । वे बहुत ही प्रतापी और धार्मिक थे ।उनकी प्रजा भी खुशहाल थी. लेकिन एक दिन राजा ने सपना देखा कि उनके पिता नरक की यातनाएं झेल रहे हैं , ये सपना देख राजा अचानक उठ गए और सपने के बारे में पत्नी को बताया । इस पर पत्नी ने राजा को आश्रम जाने की सलाह दी । राजा आश्रम गए और वहां कई सिद्ध गुरुओं से मिले । सभी गुरु तपस्या में लीन थे , उन्हें देख राजा गुरुओं के समीप जाकर बैठ गए । राजा को देख पर्वत मुनि मुस्कुराए और आने का कारण पूछा , राजा ने बहुत ही दुःखी मन से अपने सपने के बारे में उन्हें बताया । इस पर पर्वत मुनि राजा के सिर पर हाथ रखकर बोले, 'तुम एक पुण्य आत्मा हो, जो अपने पिता के दुःख से इतने दुःखी हो, तुम्हारे पिता को उनके कर्मों का फल मिल रहा है, उन्होंने तुम्हारी माता को तुम्हारी सौतेली माता के कारण बहुत यातनाएं दीं, इसी कारण वे पाप के भागी बने और अब नरक भोग रहे हैं । इस बात को जान राजा ने पर्वत मुनि से इस समस्या का हल पूछा, इस पर मुनि ने उन्हें मोक्षदा एकादशी के व्रत का पालन करने को कहा । राजा ने विधि पूर्वक व्रत किया और व्रत का पुण्य अपने पिता को अर्पण कर दिया. व्रत के प्रभाव से राजा के सभी कष्ट दूर हो गए और उनके पिता को नरक से मुक्ति मिल गई । 

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर

🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻
*जलझूलनी एकादशी की आपको हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं*
❤हेमंत गिरि गोस्वामी❤
🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

+86 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 19 शेयर
Pankaj Khandelwal Sep 2, 2017

+56 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर

आज #एकादसी के भव्य आलौकिक संध्या श्रृंगार दर्शन
श्री खाटूश्याम जी के खाटूधाम राजस्थान से ...
04-07-2017

बोल खाटू नरेश की जय
जय श्री श्याम...

(पूरा पढ़ें)
+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर