उज्जैनदर्शन

एक मात्र स्थान जहाँ *शक्तिपीठ* भी है *ज्योतिर्लिंग* भी है *कुम्भ महापर्व* का भी आयोजन किया जाता है यहाँ साढ़े तीन काल विराजमान है *(महाँकाल,कालभैरव,गढ़कालिका और अर्धकाल भैरव)* यहाँ तीन गणेश विराजमान है। *(चिंतामन,मंछामन, इच्छामन)* *यहाँ 84 महादेव है* *यही सात सागर है।।* ये भगवान कृष्ण की *शिक्षा स्थली है।।* *ये मंगल ग्रह की उत्पत्ति का स्थान है।।* यही वो स्थान है जिसने *महाकवि कालिदास* दिए। उज्जैन विश्व का एक मात्र स्थान हे जहाँ *अष्ट चरिंजवियो का मंदिर* हे यह वह ८ देवता हे जिन्हें अमरता का वरदान हे *(बाबा गुमानदेव हनुमान अष्ट चरिंजीवि मंदिर)* *राजा विक्रमादित्य ने इस धरा का मान बढ़ाया।।* विश्व की एक मात्र उत्तर प्रवाह मान *क्षिप्रा नदी* इसके शमशान को भी तीर्थ का स्थान प्राप्त है(चक्र तीर्थ)(महाभारत की एक कथानुसार) *मेरा उज्जैन स्वर्ग है।।* यदि आप भी अवंतिका प्रेमी हे तो यह संदेश अपनो तक भेजिए।

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Parveen Gupta Nov 3, 2017

श्री उज्जैन जी में आधी रात में निकली श्री महाकालँ जी की पालकी, हरि-हर मिलन हुआ।

🌹🌸🌹🌸🌹🌸🌹🌸🌹

भगवान शिव पूरे लाव-लश्कर के साथ सृष्टि का भार श्रीहरि विष्णु को सौंपने उनके दरबार पहुंचे। आतिशबाजी के साथ दोनों देवों के मिलन हुआ। जहां दोनों देव...

(पूरा पढ़ें)
+122 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 54 शेयर