+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+16 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

एक बार रूप गोस्वामी जी राधाकुंड के किनारे बैठकर भजन करने में इतने खो गए कि उन्हें ध्यान ही न रहा कि सूरज ठीक सिर के ऊपर आ गए हैं। झुलसाती गर्मी के दिन थे किन्तु रूप गोस्वामी जी पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा था वह निरंतर भजन किये ही जा रहे थे।
दूर...

(पूरा पढ़ें)
+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर

आप सभी को
चौथा माता की जय हो

आप देख रहे हैं मंदिर चौथा माता का है

+16 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

जय हो बांके बिहारी जी की जय हो

मेरे बांके बिहारी लाल
तू इतना ना करियो सिंगार

नजर तोहे लग जाएगी
मेरे बांके बिहारी लाल

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर