गौरी शंकर मंदिर

New Delhi, Delhi (state), India

बजरंगबली की कृपा आप सब पर सदा बनी रहे 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Like +1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

सृष्टि के निर्माण के हेतु शिव ने अपनी शक्ति को स्वयं से पृथक किया। शिव स्वयं पुरूष लिंग के द्योतक हैं तथा उनकी शक्ति स्त्री लिंग की द्योतक| पुरुष (शिव) एवं स्त्री (शक्ति) का एका होने के कारण शिव नर भी हैं और नारी भी, अतः वे अर्धनरनारीश्वर हैं। जब ...

(पूरा पढ़ें)
Pranam +3 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 3 शेयर

जब मन सहज रूप में लगे, तब ही मंत्र जप कर लें। तारक मंत्र 'श्री' से प्रारंभ होता है। 'श्री' को सीता अथवा शक्ति का प्रतीक माना गया है। राम शब्द 'रा' अर्थात् र-कार और 'म' मकार से मिल कर बना है। 'रा' अग्नि स्वरुप है। यह हमारे दुष्कर्मों का दाह करता है...

(पूरा पढ़ें)
Flower Pranam Sindoor +24 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 25 शेयर

ॐ गणेशाय नमः ।

Pranam +2 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर

ॐ इस एकाक्षर मंत्र में तीनों गुणों से अतीत, सर्वज्ञ, सर्वकर्ता, द्युतिमान सर्वव्यापी प्रभु शिव ही प्रतिष्ठित हैं। ईशान आदि जो सूक्ष्म एकाक्ष रूप ब्रह्म हैं, वे सब 'नमः शिवाय' इस मंत्र में क्रमशः स्थित हैं। सूक्ष्म षड़क्षर मंत्र में पंचब्रह्मरूपधारी...

(पूरा पढ़ें)
Like Pranam +3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

हनुमान (संस्कृत: हनुमान्, आंजनेय और मारुति भी) परमेश्वर की भक्ति हिंदू धर्म में भगवान की भक्ति) की सबसे लोकप्रिय अवधारणाओं और भारतीय महाकाव्य रामायण में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों में प्रधान हैं। वह कुछ विचारों के अनुसार भगवान शिवजी के ११वें रुद्र...

(पूरा पढ़ें)
Pranam +1 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 1 शेयर

Good afternoon

Milk Like Pranam +37 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 470 शेयर