।। श्री हनुमानजी की आरती ।।

"आरति कीजै हनुमान लला की .
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ..

जाके बल से गिरिवर काँपे
रोग दोष जाके निकट न झाँके .
अंजनि पुत्र महा बलदायी
संतन के प्रभु सदा सहायी ..
आरति कीजै हनुमान लला की .

दे बीड़ा रघुनाथ पठाये
लंका जाय सिय...

(पूरा पढ़ें)
+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺
🍃🌺🌺🍃#जय_पवनसुत_वीर_हनुमान🍃🌺🌺🍃
🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, ह्रदय बसहु सुर भूप।।

कालों के काल महाकाल शिव के अवतारी स्वरूप होने से श्री हनुमान बुरे ...

(पूरा पढ़ें)
+10 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 10 शेयर

हम सब हनुमान चालीसा पढते हैं, सब रटा रटाया।

क्या हमे चालीसा पढते समय पता भी होता है कि हम हनुमानजी से क्या कह रहे हैं या क्या मांग रहे हैं?

बस रटा रटाया बोलते जाते हैं। आनंद और फल शायद तभी मिलेगा जब हमें इसका मतलब भी पता हो।

तो लीजिए पेश है श्र...

(पूरा पढ़ें)
+17 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 7 शेयर

*१४ वर्ष के वनवास में भगवान " श्रीराम " कहां रहे....* 🚩

*श्रीराम* को १४ वर्ष का वनवान हुआ। इस वनवास काल में श्रीराम ने कई ऋषि-मुनियों से शिक्षा और विद्या ग्रहण की, तपस्या की और भारत के आदिवासी, वनवासी और तमाम तरह के भारतीय समाज को संगठित कर उन्ह...

(पूरा पढ़ें)
+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर