विभीषण ने हनुमान जी को बता दिया की जानकी जी अशोक वाटिका में बैठी हुई हैं। तब हनुमान्‌जी विदा लेकर चले।

हनुमान जी ने पहले वाला अपना छोटा सा रूप बनाया है और अशोक वाटिका में पहुंचे हैं। सीताजी को देखकर हनुमान्‌जी ने उन्हें मन ही में प्रणाम किया। श्र...

(पूरा पढ़ें)
+98 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 52 शेयर

पवनपुत्र हनुमान जी को चमत्कारिक सफलता देने वाला देवता माना जाता है।
श्री हनुमान जी की भक्ति करने वाले को बल, बुद्धि और विद्या सहज में ही प्राप्त हो जाती है। भूत-पिशाचादि भक्त के समीप नहीं आते। हनुमान जी जीवन के सभी क्लेश को दूर कर देते हैं। शास्त...

(पूरा पढ़ें)
+104 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 98 शेयर

Hanuman Temple is one of the most famous shrines located in Supaal. This temple is dedicated to Lord Hanuman. Special Poojas are conducted at this sacred shrine on a regular basis. The carvings on the walls attract visitors. The idol inside the te...

(पूरा पढ़ें)
+25 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

ఆఞ్జనేయో మహావీరో హనుమాన్మారుతాత్మజః ।
తత్వజ్ఞానప్రదః సీతాదేవీముద్రాప్రదాయకః ॥ ౧॥

అశోకవనికాచ్ఛేత్తా సర్వమాయావిభఞ్జనః ।
సర్వబన్ధవిమోక్తా చ రక్షోవిధ్వంసకారకః ॥ ౨॥

పరవిద్యాపరీహారః పరశౌర్యవినాశనః ।
పరమన్త్రనిరాకర్తా పరయన్త్రప్రభేదకః ॥ ౩॥

సర్వగ్రహవిన...

(पूरा पढ़ें)
+32 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 14 शेयर

ऊँ श्री हनुमन्ते नमः । जय श्री राम ।
शुभोदयम् शुभदिनम् ।
हर दिन मंगलमय हो । हरि ऊँ ।

+101 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 230 शेयर

ऊँ श्री हनुमन्ते नमः । सुप्रभातम् ।
हर दिन मंगलमय हो । हरि ऊँ ।

+367 प्रतिक्रिया 27 कॉमेंट्स • 828 शेयर

हनुमानजी इस कलियुग के अंत तक अपने शरीर में ही रहेंगे। वे आज भी धरती पर विचरण करते हैं। वे कहां रहते हैं, कब-कब व कहां-कहां प्रकट होते हैं और उनके दर्शन कैसे और किस तरह किए जा सकते हैं, हम यह आपको बताएंगे,और हां,अंत में जानेंगे आप एक ऐसा रहस्य जिसे...

(पूरा पढ़ें)
+196 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 169 शेयर