कल कृष्ण जन्माष्टमी विशेष

कृष्ण जन्माष्टमी विशेष

श्री कृष्ण ने कैसे तीर्थंकर नामगोत्र का उपार्जन किया ?

श्री कृष्ण वासुदेव बाइसवें तीर्थंकर भगवान् श्री अरिष्टनेमि के समकालीन हुए हैं।श्री कृष्ण उनके चचेरे या मौसेरे भाई थे।

कृष्ण वासुदेव जब ...

(पूरा पढ़ें)
+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 18 शेयर

चातुर्मास याने.......

अध्यात्म कि आहलेक का अनमोल अवसर

आराधना की अपूर्व आलबेल

अहिंसा का अंतर से आहवान

अभय का अनन्य वरदान

अनेकांत वाद कि अटारी

अनुकंपा का आदेश

अनुग्रह का अमृत

समता की सीडी

साधर्मिकता का पासपोर्ट

विनय और विवेक का विझा...

(पूरा पढ़ें)
+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

*अस्थियाँ बिखरने से पहले जीवन में*
*" आस्था " पैदा हो जाये .....!!*
*और " चिता " जलने से पहले अपनी चेतना जाग जाये*
*जीवन सार्थक हो जायेगा ....*
*सिर्फ दरवाज़ों पर शुभ - लाभ लिखने से कुछ नहीं होगा , शुभ विचार रखिए , अपने लिये भी और दूसरों...

(पूरा पढ़ें)
+18 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 43 शेयर

+15 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 31 शेयर

☄☘🌺 *सुंदर पंक्तियां* 🌻🥀

*कहीं ना कहीं कर्मों का डर है !*
*नहीं तो गंगा पर इतनी भीड़ क्यों है?*

*जो कर्म को समझता है उसे*
*धर्म को समझने की जरुरत ही नहीं*

*पाप शरीर नहीं करता विचार करते है*

*और गंगा विचारों को नहीं !*
*सिर्फ शरीर को धोती...

(पूरा पढ़ें)
+25 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 55 शेयर

Please Visit प्रतिमाजी दर्शन
••••••••••••••••••••••••••••••••

*पर्वाधिराज पर्युषण, दशलक्षण पर्व*
*आज नवम दिवस- उत्तम त्याग धर्म*
🔸
*'उत्तम त्याग करे जो कोई, भोगभूमि सुर शिवसुख होई।'-*
*अर्थात*
उत्तम त्याग करने वा...

(पूरा पढ़ें)
+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर