Archana Singh
Archana Singh May 27, 2022

🙏🌹Jai mata di 🌹🙏 🙏🌹🌹 subh ratri vandan ji 🌹🌹🙏

🙏🌹Jai mata di 🌹🙏
🙏🌹🌹 subh ratri vandan ji 🌹🌹🙏

+99 प्रतिक्रिया 36 कॉमेंट्स • 76 शेयर

कामेंट्स

dayaram birla May 27, 2022
Jay mata Di shubh ratri vandan archana g 🌺🌸🏵💐🌻💮🌼

🏵️🏵️ May 27, 2022
🙏🙏jai mata di good night ji🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

मदन पाल सिंह May 27, 2022
जय माता दी शूभ प्रभात वंदन जी माता रानी जी कि कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 🌷🌷🌷🙏🏼🙏🏼

Drgopal Tanwar May 27, 2022
जय माता दी जय अंबे गौरी जय अंबे गौरी गौरी माता की जय हो जय संतोषी माता की

suresh kumar May 28, 2022
जय श्री शनि देव महाराज की जय बजरंगबली की आपका दिन शुभ हो मंगलमय हो

Brajesh Sharma May 28, 2022
प्रेम से बोलो जय माता दी जय माता दी

Brajesh Sharma May 28, 2022
राम राम जी जय श्री राम

Ranveer Soni May 28, 2022
🌹🌹जय माता रानी🌹🌹🙏🙏

Anil May 28, 2022
good night ji 🌸🙏🙏🌸

Anil May 30, 2022
good morning ji 🌹🌹🌹🙏🌹🌹🌹

LALAN KUMAR May 30, 2022
Good night ji प्रेम से बोलो वृंदावन बिहारी लाल की जय। राधा रानी सरकार की सदा जय हो।

Kanta Jul 4, 2022

+63 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 95 शेयर

🌹🌹🌹 *इच्छापूर्ति*🌹🌹🌹 एक घने जंगल में एक इच्छा पूर्ति वृक्ष था, उसके नीचे बैठ कर कोई भी इच्छा करने से वह तुरंत पूरी हो जाती थी। यह बात बहुत कम लोग जानते थे क्योंकि उस घने जंगल में जाने की कोई हिम्मत ही नहीं करता था। एक बार संयोग से एक थका हुआ व्यापारी उस वृक्ष के नीचे आराम करने के लिए बैठ गया उसे पता ही नहीं चला कि कब उसकी नींद लग गयी। जागते ही उसे बहुत भूख लगी, उसने आस पास देखकर सोचा- 'काश कुछ खाने को मिल जाए!' तत्काल स्वादिष्ट पकवानों से भरी थाली हवा में तैरती हुई उसके सामने आ गई। व्यापारी ने भरपेट खाना खाया और भूख शांत होने के बाद सोचने लगा.. काश कुछ पीने को मिल जाए.. तत्काल उसके सामने हवा में तैरते हुए अनेक शरबत आ गए। शरबत पीने के बाद वह आराम से बैठ कर सोचने लगा- कहीं मैं सपना तो नहीं देख रहा हूँ। हवा में से खाना पानी प्रकट होते पहले कभी नहीं देखा न ही सुना.. जरूर इस पेड़ पर कोई भूत रहता है जो मुझे खिला पिला कर बाद में मुझे खा लेगा ऐसा सोचते ही तत्काल उसके सामने एक भूत आया और उसे खा गया। इस प्रसंग से आप यह सीख सकते है कि हमारा मस्तिष्क ही इच्छापूर्ति वृक्ष है आप जिस चीज की प्रबल कामना करेंगे वह आपको अवश्य मिलेगी। अधिकांश लोगों को जीवन में बुरी चीजें इसलिए मिलती हैं... क्योंकि वे बुरी चीजों की ही कामना करते हैं। इंसान ज्यादातर समय सोचता है- कहीं बारिश में भीगने से मै बीमार न हों जाँऊ.. और वह बीमार हो जाता हैं..! इंसान सोचता है - मेरी किस्मत ही खराब है .. और उसकी किस्मत सचमुच खराब हो जाती हैं ..! इस तरह आप देखेंगे कि आपका अवचेतन मन इच्छापूर्ति वृक्ष की तरह आपकी इच्छाओं को ईमानदारी से पूर्ण करता है..! इसलिए आपको अपने मस्तिष्क में विचारों को सावधानी से प्रवेश करने की अनुमति देनी चाहिए। विचार जादूगर की तरह होते है, जिन्हें बदलकर आप अपना जीवन बदल सकते है..! इसलिये सदा सकारात्मक सोचिए.। बाहर की दुनिया बिलकुल वैसी है, जैसा कि हम अंदर से सोचते हैं। हमारे विचार ही चीजों को सुंदर और बदसूरत बनाते हैं। पूरा संसार हमारे अंदर समाया हुआ है, बस जरूरत है चीजों को सही रोशनी में रखकर देखने की। 🙏🙏 *जो प्राप्त है-पर्याप्त है* *जिसका मन मस्त है* *उसके पास समस्त है!

+98 प्रतिक्रिया 44 कॉमेंट्स • 93 शेयर
kamlesh goyal Jul 4, 2022

+64 प्रतिक्रिया 26 कॉमेंट्स • 32 शेयर
Raj Azad Jul 4, 2022

+23 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 29 शेयर
Babbu Malhotra Jul 4, 2022

+30 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 9 शेयर
gudiya tiwari Jul 4, 2022

+14 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 14 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB