सत्संग की महिमा

🌿सत्संग की महिमा 🌿
मनुष्य के जीवन में अशांति ,परेशानियां तब शुरु हो जाती है जब मनुष्य के जीवन मे सत्संग नही होता.संतो के संग से मिलने वाला आनंद तो बैकुण्ठ मे भी दुर्लभ है.

कबीर जी कहते है की:- राम बुलावा भेजिया , दिया कबीरा रोय ,,, जो सुख साधू संग में , सो बैकुंठ न होय!!

रामचरितमानस मे भी लिखा है की:-तात स्वर्ग अपवर्ग सुख धरि तुला एक अंग। तुल न ताहि सकल मिलि जो सुख लव सतसंग।।

हे तात ! स्वर्ग और मोक्ष के सब सुखों को तराजू के एक पलड़े में रखा जाये ते भी वे सब सुख मिलकर भी दूसरे पलड़े में रखे हुए उस सुख के बराबर नहीं हो सकते, जो क्षण मात्र के सत्संग से मिलता है।’

सत्संग की बहुत महिमा है, सत्संग तो वो दर्पण है जो मनुष्य के चरित्र को दिखाता है ओर साथ साथ चरित्र को सुधारता भी है.

सत्संग से मनुष्य को जीवन जीने का तरीका पता चलता है, सत्संग से ही मनुष्य को अपने वास्तविक कर्तव्य का पता चलता है.

मानस मे लिखा है की:- सतसंगत मुद मंगल मुला,सोई फल सिधि सब साधन फूला…

सत्संग सब मङ्गलो का मूल है,,जैसे फूल से फल ओर फल से बीज ओर बीज से वृक्ष होता है उसी प्रकार सत्संग से विवेक जागृत होता है ओर विवेक जागृत होने के बाद भगवान से प्रेम होता है ओर प्रेम से प्रभु प्राप्ति होती है.

जिन्ह प्रेम किया तिन्ही प्रभु पाया…सत्संग से मनुष्य के करोडो करोडो जन्मो के पाप नष्ट हो जाते है,सत्संग से मनुष्य का मन बुद्धि शुद्ध होती है, सत्संग से ही भक्ति मजबूत होती है..

भक्ति सुतंत्र सकल सुखखानि,,बिनु सत्संग न पावहि प्राणी… भगवान की जब कृपा होती है तब मनुष्य को सत्संग ओर संतो का संग प्राप्त होता है…

सत्संग मे बतायी जाने वाली बातो को जीवन मे धारण करने पर भी आनंद की प्राप्ति ओर प्रभु से प्रीति होती है.
जीवन से सत्संग को अलग नही करना चाहिये।जब सत्संग जीवन मे नही रहेगा तो संसार के प्रति आकर्षण बढेगा
🙏🏻🕉🙏🏻

Water Flower Milk +95 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 73 शेयर

कामेंट्स

Anjesh Mittal Sep 11, 2017
बहुत प्रेरित करने के लिए आपका समर्पण सराहनीय है।

Anjesh Mittal Sep 23, 2017
@gajanand.airen भगवांन की इच्छा से कुछ पंक्तियाँ लिख लेता हूँ मुझे व्यर्थ अभिमान है आपको नमन

Dayanand Sharma Jangid Sh Sep 24, 2017
@anjesh.mittal सब कुछ परमात्मा की कृपा से हि संमभव है सत्य यहि है एक परमात्मा का ध्यान कोई भी दो ढाई अक्षर का नाम राम शिव ओम राधे आदि का सुमरण ही सत्य है जो आप को लक्ष्य तक पंहुचा देगा आध्यात्म को जानने के लिए यथार्थ गीता का अध्यन्न. ओम ओम ओम

Balvant Gutte BG Oct 17, 2018

*⚜⛳सनातन धर्मरक्षक समिति⛳⚜*

*⛳सनातन धर्म की जय⛳*


*ब्रह्म मुहूर्त में उठने की परंपरा क्यों ?*
========================
रात्रि के अंतिम प्रहर को ब्रह्म मुहूर्त कहते हैं। हमारे ऋषि मुनियों ने इस मुहूर्त का विशेष महत्व बताया है। उनके अनुसार य...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like +8 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 61 शेयर
Dhanraj Maurya Oct 17, 2018

Om jai jai Om Jai Jai Om

Lotus Pranam Like +21 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 238 शेयर
T.K Oct 17, 2018

🚩सुप्रभात🚩

Flower Pranam Bell +20 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 460 शेयर
Aechana Mishra Oct 17, 2018

Like Pranam Jyot +133 प्रतिक्रिया 49 कॉमेंट्स • 438 शेयर

श्रीधाम वृन्दावन का वास | कितना सुलभ और कितना दुर्लभ https://www.shriharinam.com/single-post/2018/10/17/Dhaam-Vaas

Jyot +1 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

कौन से ड्राईफुट के क्या हैं फायदे, जानिए और सेहत बनाइए ।

-----------------------------------------------काजू------------------------------------------------

विटामिन E से भरपूर काजू में एंटी एजिंग प्रोपर्टीज होती हैं। काजू के सेवन से त्वचा खिली ...

(पूरा पढ़ें)
Like Pranam Flower +20 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 69 शेयर

🌷🌷राम राम जी 🌷🌷
👉राम राम क्यों कहा जाता है,
👉क्या कभी आपने सोचा है कि जब हम आपस मिलते हैं तो राम राम का उच्चारण ही निकलता है,,
👉दो बार राम कहने का बड़ा ही गूढ़ रहस्य है, कयोंकि यह आदि काल से चला आ रहा है,
👉हिंदी की शब्दावली में "र"सत्ता...

(पूरा पढ़ें)
Pranam +2 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Dhanraj Maurya Oct 17, 2018

Om jai jai Om jai jai

Lotus Like Pranam +5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 116 शेयर

श्रीकृष्ण का विवाह
---------------------------

समुद्र भीष्मक है , उसकी पुत्री है लक्ष्मी -- स्वर्ण लक्ष्मी रुक्मिणी । उसका भाई विष है --रुक्मी । वह रुक्मिणी एवं रुक्मिणीबल्लभ श्रीकृष्ण के सम्बन्ध मे बाधक है । अतःरुक्मिणी -श्रीकृष्ण का विवाह ...

(पूरा पढ़ें)
0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Seema Sharma Oct 17, 2018

Flower Pranam Like +157 प्रतिक्रिया 71 कॉमेंट्स • 499 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB