Sanjeev Bunty Midha
Sanjeev Bunty Midha Aug 20, 2017

*😡क्रोध😡*

#ज्ञानवर्षा
एक राजा घने जंगल में भटक गया, राजा गर्मी और प्यास से व्याकुल हो गया।
इधर उधर हर जगह तलाश करने पर भी उसे कहीं पानी नही मिला।
प्यास से गला सूखा जा रहा था।
तभी उसकी नजर एक वृक्ष पर पड़ी जहाँ एक डाली से टप टप करती थोड़ी -थोड़ी पानी की बून्द गिर रही थी।
वह राजा उस वृक्ष के पास जाकर नीचे पड़े पत्तों का दोना बनाकर उन बूंदों से दोने को भरने लगा।
जैसे तैसे बहुत समय लगने पर आखिर वह छोटा सा दोना भर ही गया।
राजा ने प्रसन्न होते हुए जैसे ही उस पानी को पीने के लिए दोने को मुँह के पास लाया तभी वहाँ सामने बैठा हुआ एक तोता टें टें की आवाज करता हुआ आया उस दोने को झपट्टा मार कर सामने की और बैठ गया उस दोने का पूरा पानी नीचे गिर गया।
राजा निराश हुआ कि बड़ी मुश्किल से पानी नसीब हुआ और वो भी इस पक्षी ने गिरा दिया।
लेकिन, अब क्या हो सकता है । ऐसा सोचकर वह वापस उस खाली दोने को भरने लगा।
काफी मशक्कत के बाद आखिर वह दोना फिर भर गया।
राजा पुनः हर्षचित्त होकर जैसे ही उस पानी को पीने लगा तो वही सामने बैठा तोता टे टे करता हुआ आया और दोने को झपट्टा मार के गिरा कर वापस सामने बैठ गया ।
अब राजा *हताशा के वशीभूत हो क्रोधित* हो उठा कि मुझे जोर से प्यास लगी है ,मैं इतनी मेहनत से पानी इकट्ठा कर रहा हूँ और ये दुष्ट पक्षी मेरी सारी मेहनत को आकर गिरा देता है अब मैं इसे नही छोड़ूंगा अब ये जब वापस आएगा तो इसे खत्म कर दूंगा।
अब वह राजा अपने एक हाथ में दोना और दूसरे हाथ में चाबुक लेकर उस दोने को भरने लगा।
काफी समय बाद उस दोने में फिर पानी भर गया।
अब वह तोता पुनः टे टे करता हुआ जैसे ही उस दोने को झपट्टा मारने पास आया वैसे ही राजा उस चाबुक को तोते के ऊपर दे मारा।और हो गया बेचारा तोता ढेर।लेकिन दोना भी नीचे गिर गया।
राजा ने सोचा इस तोते से तो पीछा छूट गया लेकिन ऐसे बून्द -बून्द से कब वापस दोना भरूँगा कब अपनी प्यास बुझा पाउँगा इसलिए जहाँ से ये पानी टपक रहा है वहीं जाकर झट से पानी भर लूँ।
ऐसा सोचकर वह राजा उस डाली के पास गया, जहां से पानी टपक रहा था वहाँ जाकर राजा ने जो देखा तो उसके पाँवो के नीचे की जमीन खिसक गई।
उस डाल पर एक भयंकर अजगर सोया हुआ था और उस अजगर के मुँह से लार टपक रही थी राजा जिसको पानी समझ रहा था वह अजगर की जहरीली लार थी।
राजा के मन में पश्चॉत्ताप का समन्दर उठने लगता है, हे प्रभु ! मैने यह क्या कर दिया। जो पक्षी बार बार मुझे जहर पीने से बचा रहा था क्रोध के वशीभूत होकर मैने उसे ही मार दिया ।
काश मैने सन्तों के बताये उत्तम क्षमा मार्ग को धारण किया होता,अपने क्रोध पर नियंत्रण किया होता तो मेरे हितैषी निर्दोष पक्षी की जान नही जाती।
मित्रों,कभी कभी हमें लगता है, अमुक व्यक्ति हमें नाहक परेशान कर रहा है लेकिन हम उसकी भावना को समझे बिना क्रोध कर न केवल उसका बल्कि अपना भी नुकसान कर बैठते हैं।
हैं ना☑☑☑☑
इसीलिये कहते हैं कि,क्षमा औऱ दया धारण करने वाला सच्चा वीर होता है।
क्रोध वो जहर है जिसकी उत्पत्ति अज्ञानता से होती है और अंत पाश्चाताप से ही होता है।

Pranam Agarbatti Like +117 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 159 शेयर

कामेंट्स

satish sharma Aug 20, 2017
koi bhi kam karnay se pahelay soch vichar kar leni chahiea

*आ गया है मौसम इस संजीवनी नास्ते के नियमित सेवन कर आरोग्य बनने का*

*संजीवनी नास्ता*

*ये है 4 औषधियों का संजीवनी नाश्ता जो 100 वर्षों तक जवां बनाकर सभी रोगों से दूर रखेगी, जरूर पढ़े!!*
*आज हम आपको ऐसे भोजन के बारे में बताने जा रहें है, जिसको अगर स...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like +9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 40 शेयर

क्या आप जानते है, भक्ति मार्ग में विरह भाव कितना महत्वपूर्ण है ?https://www.shriharinam.com/single-post/2018/10/18/Viraha-Sahayak-hi-hai

Like Pranam +2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Dhanraj Maurya Oct 18, 2018

Om Jai Jai

Pranam Like Flower +10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 145 शेयर
Aechana Mishra Oct 18, 2018

Like Jyot Pranam +60 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 390 शेयर

Chapter - 01,  Serial No  366 –370

भक्ति की बात करना और श्रीमद भागवतजी महापुराण का उल्लेख नहीं करना यह तो संभव हो ही नहीं सकता ।

हम कोई भी कर्म या पूजा करते हैं तो अंत में मंत्र कहलाया जाता है कि यह कर्म या यह पूजा मैंने प्रभु को अर्पण कर दिया क...

(पूरा पढ़ें)
0 कॉमेंट्स • 10 शेयर

Fruits Tulsi Pranam +51 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 304 शेयर
Balvant Gutte BG Oct 17, 2018

*⚜⛳सनातन धर्मरक्षक समिति⛳⚜*

*⛳सनातन धर्म की जय⛳*


*ब्रह्म मुहूर्त में उठने की परंपरा क्यों ?*
========================
रात्रि के अंतिम प्रहर को ब्रह्म मुहूर्त कहते हैं। हमारे ऋषि मुनियों ने इस मुहूर्त का विशेष महत्व बताया है। उनके अनुसार य...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like +8 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 65 शेयर
T.K Oct 18, 2018

🚩जय श्री राम🚩

Flower Jyot +2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 69 शेयर
T.K Oct 18, 2018

🚩शुभ रात्रि🚩

Pranam Sindoor Dhoop +44 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 260 शेयर

विशेषताएं एवं कार्य
१. सर्वार्थ से आदर्श
अ. आदर्श पुत्र
राम ने माता-पिता की आज्ञा का पालन किया; परंतु प्रसंग पडने पर बडों को उपदेश भी दिया, उदा. वनवास के समय उन्होंने अपने माता-पिता से कहा, ‘दुःख न करो’ । जिस कैकेयी  के कारण राम को १४ वर्ष वनवास ह...

(पूरा पढ़ें)
Sindoor Dhoop Belpatra +13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB