Sukhdev Singh
Sukhdev Singh Nov 26, 2021

🔱🌺 जय श्री महाकाल 🌺🔱 श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन मध्य प्रदेश से आज संध्या आरती के बाबा श्री महाकाल के दिव्य श्रृंगार दर्शन 👏👏 🔱शुक्रवार 26 नवंबर 2021🔱

🔱🌺 जय श्री महाकाल 🌺🔱
श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन मध्य प्रदेश से आज संध्या आरती के बाबा श्री महाकाल के दिव्य श्रृंगार दर्शन 👏👏
🔱शुक्रवार 26 नवंबर 2021🔱

+19 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 11 शेयर

कामेंट्स

कमलेश चंद्र सोलंकी Nov 26, 2021
जय हो जय हो जय हो जय श्री राम जय श्री महाकाल जय श्री महाकाल जय श्री महाकाल बाबा जी की जय जयकार है शुभ संध्या की राम राम ॐ नमः शिवाय हर हर महादेव हर हर हर

SK Shastri ji Nov 26, 2021
opi Shastri parobalm solution #सिर्फ 📲एक #कॉल कीजिये +91-7976163354( जैसा #चाहोगे वैसा #पाओगे ) #समस्या दो समाधान 📲 #whats app #available. (प्रेम-विवाह) (मनचाहा प्यार ) (काम-कारोबार) ( पति -पत्नी में अनबन)जैसी सभी समस्या के लिए सम्पर्क करे (#SPECIALIST GET LOST YOUR LOVE BACK) जिनका काम अभी तक नही होया वो जरूर फ़ोन करे.+91-7976163354 Whats app available Get 100% satisfaction result guaranteed. 77 yrs of experience.) Vashikaran , Specialist , Expert Indian Astrology Whats App {[(Available) WORLD,s NO.1 Astrologer pandit +91-7976163354 FIVE TIME GOLD MEDALIST. ALL TYPES PROBLEM SOLVE IN 2 HOURS WITH 100% GUARANTED := love marriage := Business problem := Problem in husband wife := Foreign traveling := Problem in study := Problem as childless := Physical problem := Problem in family relations := problem in your love := Willful marriage LOVE PROBLEM SOLUTION Whats app available Call Now +9-7976163354

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

महामृत्युंजय मंत्र का संपूर्ण अर्थ-ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़ सभी शिव भक्तों को शुभ सोमवार की हार्दिक शुभकामनाएं एवं बधाई ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़ एवं समस्त दोस्तों मित्रों साथियों की तरफ से आओ स्तुति करें महामृत्युंजय मंत्र की संपूर्ण जानकारी के साथ...........ब्रह्मदत्त ||महामृत्युंजय मंत्र।। ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥ अर्थः हमारे पूजनीय भगवान शिव के तीन नेत्र हैं, जो प्रत्येक श्वास में जीवन शक्ति का संचार करते हैं, जिनकी शक्ति से सम्पूर्ण विश्व का पालन-पोषण हो रहा है. हम उनसे प्रार्थना करते हैं कि वह हमें मृत्यु के बंधनों से मुक्त करें ताकि प्राणी को मोक्ष की प्राप्ति हो. जिस प्रकार एक ककड़ी अपनी बेल में पक जाने के उपरांत उस बेल-रूपी संसार के बंधन से मुक्त हो जाती है. उसी प्रकार हम भी इस संसार-रूपी बेल में पक जाने के उपरांत जन्म-मृत्यु के बन्धनों से सदा के लिए मुक्त हो जाएं तथा आपके चरणों की अमृतधारा का पान करते हुए शरीर को त्यागकर आप ही में लीन हो जाएं. महामृत्युंजय मंत्र को काल को टालने वाला मंत्र कहा गया है. जब यमदूत मृकण्ड ऋषि के पुत्र मार्कण्डेय के पास आए तो वह इस मंत्र का पाठ कर रहे थे. काल को हिम्मत नहीं हुई कि वह महाकाल के उपासक को छू सके और उनकी मृत्यु टल गई. ऋषि-मुनियों ने महामृत्युंजय मंत्र को वेद का ह्रदय कहा है. चिंतन और ध्यान के लिए प्रयोग किए जाने वाले अनेक मंत्रों में गायत्री मंत्र के साथ इस मंत्र का सर्वोच्च स्थान है.।। इति संपूर्णम्।। प्रस्तुतकर्ता ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB