aman
aman Sep 17, 2017

मिठो मिठो बोल

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+20 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर
jatan kurveti Oct 19, 2020

+55 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 44 शेयर

+11 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Reena Dwivedi Oct 18, 2020

+156 प्रतिक्रिया 30 कॉमेंट्स • 99 शेयर
Pritam Chhabariy Oct 19, 2020

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Arvind punmiya Oct 18, 2020

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+422 प्रतिक्रिया 95 कॉमेंट्स • 223 शेयर

. . कभी फुर्सत हो तो जगदंबे 🚩🚩🚩🚩🚩🌹🌹 #निर्धन_के_घर_भी_आ_जाना कभी फुर्सत हो तो जगदम्बे, निर्धन के घर भी आ जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। ना छत्र बना सका सोने का, ना चुनरी घर मेरे तारों जड़ी । ना पेड़े बर्फी मेवा है माँ, बस श्रद्धा है नैन बिछाए खड़े।। इस श्रद्धा की रख लो लाज हे माँ, इस विनती को ना ठुकरा जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। जिस घर के दिए में तेल नहीं, वहाँ जोत जगाऊँ कैसे। मेरा खुद ही बिछोना धरती माँ, तेरी चौकी लगाऊं मैं कैसे।। जहाँ मैं बैठा वही बैठ के माँ, बच्चों का दिल बहला जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। तू भाग्य बनाने वाली है, माँ मैं तकदीर का मारा हूँ। हे दाती संभाल भिखारी को, आखिर तेरी आँख का तारा हूँ।। मैं दोषी, तू क्षमा है माँ, मेरे दोषों को तू भुला जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। 🕉‼जय जय माँ विन्ध्यवासिनी ‼🕉 #निर्धन_के_घर_भी_आ_जाना कभी फुर्सत हो तो जगदम्बे, निर्धन के घर भी आ जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। ना छत्र बना सका सोने का, ना चुनरी घर मेरे तारों जड़ी । ना पेड़े बर्फी मेवा है माँ, बस श्रद्धा है नैन बिछाए खड़े।। इस श्रद्धा की रख लो लाज हे माँ, इस विनती को ना ठुकरा जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। जिस घर के दिए में तेल नहीं, वहाँ जोत जगाऊँ कैसे। मेरा खुद ही बिछोना धरती माँ, तेरी चौकी लगाऊं मैं कैसे।। जहाँ मैं बैठा वही बैठ के माँ, बच्चों का दिल बहला जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। तू भाग्य बनाने वाली है, माँ मैं तकदीर का मारा हूँ। हे दाती संभाल भिखारी को, आखिर तेरी आँख का तारा हूँ।। मैं दोषी, तू क्षमा है माँ, मेरे दोषों को तू भुला जाना। जो रूखा सूखा है हमरे पास, कभी उस का भोग लगा जाना।। 🕉‼जय जय माँ विन्ध्यवासिनी ‼🕉 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🌹🌹🌹🙏🙏🙏☕☕

+651 प्रतिक्रिया 137 कॉमेंट्स • 968 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB