शहर मेरा आज गाँव हो गया है पड़ोसी कौन है मालूम हो गया है गाड़ी मोटर की आवाज नही है पंछियों की आवाज से सवेरा हो गया है। सड़को के दर्द को महसूस कर रहा हूँ पेड़ पौधों को सुकून की सांस दे रहा हूँ दौड़ भाग भरी जिंदगी मे सुकून हो गया है। सुनो शहर मेरा आज गाँव हो गया है। वो कूकर की सीटियां सुन रहा हूँ वो छत पे झगड़ते बच्चो को देख रहा हूँ पेड पे हिलते पत्तों की आवाज सुन रहा हूँ बहती हवाओं का भी एहसास हो गया है। शहर मेरा आज गाँव हो गया है। आज समझ आ रहा है दो निवाले ही बहुत थे गाड़ी बंगला सब फिज़ूल ही तो है देखा देखी मे क्या क्या जाने जोड़ दिया है। यार शहर मेरा आज गाँव हो गया है। समझूँगा बैठ कर विज्ञान ने क्या जिंदगी आसान बनायी है ? पसीना बहाना छोड़ कर पसीना आना सिखाया है। कुदरत से कहीं खिलवाड़ ज्यादा तो नही हो गया है यार शहर मेरा आज गाँव हो गया है। महामारी से निपटने को सब साथ खड़े हो गये है। हम सब खुद को भूल आज अपनो के लिये लड़ रहे है। ये अपनापन दिल को आज सुकून दे गया है। यार शहर मेरा आज गाँव हो गया है। 🙏🏻🙏🏻🙏🏻किसीके गुजर जाने के बाद शहर बंद होना हमने बहुत बार देखा है मगर कोई गुजर न जाए इसलिए शहर को बंद होते पहली बार देखा हैं🙏🌷🌼🌺🌻🍀🌹🌳🙏🌷🌼🌺🌻🍀🌹🙏 🙏🌹!!जय मां अष्ट भवानी 🌹🙏 🙏🌹🌳🌷🌼🌺🌻🍀🙏🌹🌳🌷🌼🌺🌻🙏 गंगा गीता गायत्री हरिद्वार !! 🙏🍀🌻🌺🌹🌳🌷🌼🙏🍀🌻🌺🌹🌳🌷🙏🌹🌹🌹सेवक भरत व्यास बांगा

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Rajkumar Agarwal May 31, 2020

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Shyam Amarnani May 31, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Radhe Chouhan May 31, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Rajkumar Agarwal May 31, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB