इस दीवाली इन स्थानों पर दीया जरूर जलाएं।

इस दीवाली इन स्थानों पर दीया जरूर जलाएं।

+251 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 484 शेयर

कामेंट्स

pari Oct 18, 2017
Happy diwali my mndir team🙏

Dhananjay Khanna Dec 16, 2019

+15 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Virandra kr sharma Dec 16, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Virandra kr sharma Dec 16, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Virandra kr sharma Dec 16, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Murli Wani Dec 16, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🙏🏼🌹 ओम नमः शिवाय हर हर महादेव जय भोले🌹🙏🏼🙏🏼🌹 जय शंभू शिव गौरी शंकर जय शंभू जय भोले🌹🙏🏼🌹 हर हर महादेव शुभ सोमवार जी जय भोले..🌹🌹🌹🌹🌹🌹 हर हर महादेव🌹🌹🌹🌹🌹🌹 यकीन मानिए ll एक हुनर मुझे भी दिया है महादेव ने दर्द तो बहुत है मगर कभी किसी को दिखाया नहीं है ll जो बिना दिखाई मेरे दर्द को समझ सके ऐसा महादेव ने मेरे लिए कोई बनाया ही नहीं है ll. हर हर महादेव 🤲 दुआएं मांगी थी आशियाने की ll चल पड़ी आंधियां जमाने की ll मेरे दिल का दर्द कोई नहीं समझ पाया। ll क्योंकि मेरी आदत है😊 मुस्कुराने की 🙏🏼 हर हर महादेव🙏🏼 सो बार चमन महका सो बार बहार आई लेकिन मंदिर में रोनक तब आई जब चारों ओर हर-हर महादेव की आवाज आई। " जय भोले " 🙏 प्यारे मित्रों मौन रहने की रीति छोड़ दो जब प्रीत लगी है * महादेव जी* से तो 😊 हर हर महादेव बोल दो..🙏🏼 🙏🏼 भगवान की कथा और इंसान की व्यथा बे अंत है... जो समझ गया वही संत है.... बाकी सब मोह माया😊 🙏🏼🌹 जय हो महाकाल की🌹🙏🏼

+76 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 6 शेयर

🙏🏽 जय श्री राधे कृष्णा जी 🙏🏽 "सच्चाई का फल" 🌹🍀🌹🍀🌹🍀🌹🍀🌹🍀🌹🍀🌹🍀 किसी नगर में एक बूढ़ा चोर रहता था। सोलह वर्षीय उसका एक लड़का भी था। चोर जब ज्यादा बूढ़ा हो गया तो अपने बेटे को चोरी की विद्या सिखाने लगा। कुछ ही दिनों में वह लड़का चोरी विद्या में प्रवीण हो गया। दोनों बाप बेटा आराम से जीवन व्यतीत करने लगे। एक दिन चोर ने अपने बेटे से कहा-- ”देखो बेटा, साधु-संतों की बात कभी नहीं सुननी चाहिए। अगर कहीं कोई महात्मा उपदेश देता हो तो अपने कानों में उंगली डालकर वहाँ से भाग जाना, समझे ! ”हां बापू, समझ गया!“ एक दिन लड़के ने सोचा, क्यों न आज राजा के घर पर ही हाथ साफ कर दूँ। ऐसा सोचकर उधर ही चल पड़ा। थोड़ी दूर जाने के बाद उसने देखा कि रास्ते में बगल में कुछ लोग एकत्र होकर खड़े हैं। उसने एक आते हुए व्यक्ति से पूछा,-- ”उस स्थान पर इतने लोग क्यों एकत्र हुए हैं ?“ उस आदमी ने उत्तर दिया- ”वहां एक महात्मा उपदेश दे रहे हैं !“ यह सुनकर उसका माथा ठनका। ‘इसका उपदेश नहीं सुनूँगा ऐसा सोचकर अपने कानों में उंगली डालकर वह वहाँ से भाग निकला। जैसे ही वह भीड़ के निकट पहुँचा एक पत्थर से ठोकर लगी और वह गिर गया। उस समय महात्मा जी कह रहे थे, ”कभी झूठ नहीं बोलना चाहिए। जिसका नमक खाएँ उसका कभी बुरा नहीं सोचना चाहिए। ऐसा करने वाले को भगवान सदा सुखी बनाए रखते हैं।“ ये दो बातें उसके कान में पड़ीं। वह झटपट उठा और कान बंद कर राजा के महल की ओर चल दिया। महल पहुंचकर जैसे ही अंदर जाना चाहा कि उसे वहाँ बैठे पहरेदार ने टोका,- ”अरे कहां जाते हो ? तुम कौन हो ?“ उसे महात्मा का उपदेश याद आया, ‘झूठ नहीं बोलना चाहिए।’ चोर ने सोचा, आज सच ही बोल कर देखें। उसने उत्तर दिया- ”मैं चोर हूँ, चोरी करने जा रहा हूँ।“ ”अच्छा जाओ।“ उसने सोचा राजमहल का नौकर होगा। मजाक कर रहा है। चोर सच बोलकर राजमहल में प्रवेश कर गया। एक कमरे में घुसा। वहाँ ढे़र सारा पैसा तथा जेवर देख उसका मन खुशी से भर गया। एक थैले में सब धन भर लिया और दूसरे कमरे में घुसा, वहाँ रसोई घर था। अनेक प्रकार का भोजन वहाँ रखा था। वह खाना खाने लगा। खाना खाने के बाद वह थैला उठाकर चलने लगा कि तभी फिर महात्मा का उपदेश याद आया, ‘जिसका नमक खाओ, उसका बुरा मत सोचो।’ उसने अपने मन में कहा, ‘खाना खाया उसमें नमक भी था। इसका बुरा नहीं सोचना चाहिए।’ इतना सोचकर, थैला वहीं रख वह वापस चल पड़ा। पहरेदार ने फिर पूछा-- ”क्या हुआ, चोरी क्यों नहीं की ?“ देखिए जिसका नमक खाया है, उसका बुरा नहीं सोचना चाहिए। मैंने राजा का नमक खाया है, इसलिए चोरी का माल नहीं लाया। वहीं रसोई घर में छोड़ आया।“ इतना कहकर वह वहाँ से चल पड़ा। उधर रसोइए ने शोर मचाया- ”पकड़ो, पकड़ों चोर भागा जा रहा है।“ पहरेदार ने चोर को पकड़कर दरबार में उपस्थित किया। राजा के पूछने पर उसने बताया कि एक महात्मा के द्वारा दिए गए उपदेश के मुताबिक मैंने पहरेदार के पूछने पर अपने को चोर बताया क्योंकि मैं चोरी करने आया था। आपका धन चुराया लेकिन आपका खाना भी खाया, जिसमें नमक मिला था। इसीलिए आपके प्रति बुरा व्यवहार नहीं किया और धन छोड़ दिया। उसके उत्तर पर राजा बहुत खुश हुआ और उसे अपने दरबार में नौकरी दे दी। वह दो-चार दिन घर नहीं गया तो उसके बाप को चिंता हुई कि बेटा पकड़ लिया गया- लेकिन चार दिन के बाद लड़का आया तो बाप अचंभित रह गया अपने बेटे को अच्छे वस्त्रों में देखकर। लड़का बोला- ”बापू जी, आप तो कहते थे कि किसी साधु संत की बात मत सुनो, लेकिन मैंने एक महात्मा के दो शब्द सुने और उसी के मुताबिक काम किया तो देखिए सच्चाई का फल। सच्चे संत की वाणी में अमृत बरसता है, आवश्यकता आचरण में उतारने की है। "जय जय श्री राधे" 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🙏🏻🌹 जय श्री राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे माँ राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे माँ राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे माँ जी की जयhttps://youtu.be/hNfLFDFZcWY

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Radheyshyam Sharma Dec 16, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Mohan Patidar Dec 16, 2019

+48 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 6 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB