Sanjay Singh
Sanjay Singh Mar 27, 2020

+217 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 180 शेयर

कामेंट्स

Sweta Saxena Mar 27, 2020
Goodmorning dear brother ji mata rani aapko sda shukhi rakhe 🌷🌹🙏

Kamlesh Mar 27, 2020
जय माँ चन्द्रघंटा 🙏🙏

Radha behan Mar 27, 2020
🌷🙏जय माता दी 🙏 🌷 🙏राम राम 🙏 भैया जी 🌺

Shivsanker Shukala Mar 27, 2020
जय माता दी सुप्रभात भैया जी

Minakshi Tiwari Mar 27, 2020
*जिंदगी का कैल्कुलेशन* *बहुत बार किया।* *लेकिन, "सुख-दुःख" का* *ऐकांउट" कभी समझा ही नहीं!* *जब टोटल किया तो समझ आया...* *"कर्मो" के सिवा.....* *...कुछ भी बैलेंस रहता नहीं !* *🙏🏼🌺Good Morning🌺🙏🏼*

Rk Soni(Ganesh Mandir) Mar 27, 2020
Jai Ganesh Deva Jay Mataji Sankat ki ghadi mein Main Sabhi deshwasiyon ki Raksha karna Mata🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏🙏

Dr.ratan Singh Mar 27, 2020
🔔🚩ॐ देवी चन्द्रघण्टायै नमः 🚩🔔 🙏🌻 सुप्रभात वंदन भाई🌻🙏 या देवी सर्वभूतेषु माँ चन्द्रघंटा रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।। 👣आप और आपके पूरे परिवार पर माँ चन्द्र घंटा देवी की आशिर्वाद निरंतर बनी और सभी मनोकमनाएं पूर्ण हो जी🙏 🎎आपका शुक्रवार नवरात्रि का दिन शुभ ममतामय शांतिमय और मंगलमय हो जी🙏 🙏🦁🔔🚩जय माता दी🚩🔔🦁

Narsingh Rajput 🚩 Mar 27, 2020
जय माता दी शुभ प्रभात जी आपका दिन शुभ हो भाई जी 🙏🌹🚩

madhav Singh Ranawat Mar 27, 2020
🚩🙏🔱जय माता दी🔱🙏🚩 🙏🙏🙏🙏🙏 🙏🙏🙏🙏 🙏🙏🙏

मेरे साईं (Indian women ) Mar 27, 2020
*🕉️✡️सर्व मंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते.✡️🕉️* *•||जय माता दी🚩🙏 *✡️🕉️सुख, शान्ति एवम समृध्दि की *🌱मंगलमयी* *🌷कामनाओं के साथ🌷* *🙏माँ अम्बे आपको सुख समृद्धि वैभव ख्याति प्रदान करे।🙏* _*||🦁जय माँ भवानी🦁||*_ 🌴🌱🚩🌻🌷🌺🙏

BIJAY PANDAY May 8, 2020

+84 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 3 शेयर
ShubhAm SaiNi May 8, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

🌹🙏जय माता दी 🌹🙏 *🔴भक्त और भगवान🙏* ************************ दो भक्त थे । एक भगवान् श्रीरामका भक्त था, दूसरा भगवान् श्रीकृष्ण का । दोनों अपने-अपने भगवान् (इष्टदेव)-को श्रेष्ठ बतलाते थे । एक बार वे जंगल में गये। वहाँ दोनों भक्त अपने-अपने भगवान को पुकारने लगे। उनका भाव यह था कि दोनों में से जो भगवान् शीघ्र आ जायँ वही श्रेष्ठ हैं। भगवान् श्रीकृष्ण शीघ्र प्रकट हो गये। इससे उनके भक्त ने उन्हें श्रेष्ठ बतला दिया। थोड़ी देर में भगवान् श्रीराम भी प्रकट हो गये। इसपर उनके भक्त ने कहा कि आपने मुझे हरा दिया; भगवान् श्रीकृष्ण तो पहले आ गये, पर आप देर से आये, जिससे मेरा अपमान हो गया ! ***** भगवान् श्रीराम ने अपने भक्तसे पूछा‒‘तूने मुझे किस रूप में याद किया था ?’ भक्त बोला ‘राजाधिराज के रूप में।’ तब भगवान् श्रीराम बोले‒‘बिना सवारी के राजाधिराज कैसे आ जायँगे। पहले सवारी तैयार होगी, तभी तो वे आयँगे !’ कृष्ण-भक्त से पूछा गया तो उसने कहा‒‘मैंने तो अपने भगवान् को गाय चराने वाले के रूप में याद किया था कि वे यहीं जंगलमें गाय चराते होंगे।’ इसीलिये वे पुकारते ही तुरन्त प्रकट हो गये। **** दुःशासन के द्वारा भरी सभा में चीर खींचे जाने के कारण द्रौपदी ने ‘द्वारकावासिन् कृष्ण’ कहकर भगवान् को पुकारा, तो भगवान् के आने में थोड़ी देर लगी। इस पर भगवान् ने द्रौपदी से कहा कि तूने मुझे ‘द्वारकावासिन्’ (द्वारका में रहने वाले) कहकर पुकारा, इसलिये मुझे द्वारका जाकर फिर वहाँ से आना पड़ा। यदि तुम कहती कि यहीं से आ जाओ तो मैं यहीं से प्रकट हो जाता। भगवान् सब जगह हैं। जहाँ हम हैं, वहीं भगवान् भी हैं। भक्त जहाँ से भगवान् को बुलाता है, वहीं से भगवान् आत हैं। भक्त की भावना के अनुसार ही भगवान् प्रकट होते हैं।

+937 प्रतिक्रिया 137 कॉमेंट्स • 178 शेयर
kamlash May 8, 2020

+19 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 21 शेयर

+165 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 2 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB