+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 29 शेयर

कामेंट्स

Manoj manu May 11, 2021

🚩🌹जय श्री राम जी जय वीर बजरंग वली 🌹🙏 🌿🌹राम नाम कहते रहो, धरे रहो मन धीर। 🌿🌹 🌹🌿कारज वही सुधारिहें ,कृपा सिंधु रधुवीर।🌹🌿 🌹🌹तन के साथ मन की निर्मलता कैसे हो श्री राम चरित मानस ज्ञान से बाबा तुलसी दास जी ,चौपाई :- 🌹🌹 रघुपति भगति सजीवन मूरी। अनूपान श्रद्धा मति पूरी॥ एहि बिधि भलेहिं सो रोग नसाहीं। नाहिं त जतन कोटि नहिं जाहीं॥ 🌿🌿भावार्थ:-श्री रघुनाथजी की भक्ति संजीवनी जड़ी है। श्रद्धा से पूर्ण बुद्धि ही अनुपान (दवा के साथ लिया जाने वाला मधु आदि) है। इस प्रकार का संयोग हो तो वे रोग भले ही नष्ट हो जाएँ, नहीं तो करोड़ों प्रयत्नों से भी नहीं जाते॥ 🌹🌹 जानिअ तब मन बिरुज गोसाँई। जब उर बल बिराग अधिकाई॥ सुमति छुधा बाढ़इ नित नई। बिषय आस दुर्बलता गई॥ 🌿🌿भावार्थ:-हे गोसाईं! मन को निरोग हुआ तब जानना चाहिए, जब हृदय में वैराग्य का बल बढ़ जाए, उत्तम बुद्धि रूपी भूख नित नई बढ़ती रहे और विषयों की आशा रूपी दुर्बलता मिट जाए॥ 🌹🌹 बिमल ग्यान जल जब सो नहाई। तब रह राम भगति उर छाई॥ सिव अज सुक सनकादिक नारद। जे मुनि ब्रह्म बिचार बिसारद॥ 🌿🌿भावार्थ:-इस प्रकार सब रोगों से छूटकर जब मनुष्य निर्मल ज्ञान रूपी जल में स्नान कर लेता है, तब उसके हृदय में राम भक्ति छाई रहती है। शिवजी, ब्रह्माजी, शुकदेवजी, सनकादि और नारद आदि ब्रह्मविचार में परम निपुण जो मुनि हैं,॥ 🌹🌹सब कर मत खगनायक एहा। करिअ राम पद पंकज नेहा॥ श्रुति पुरान सब ग्रंथ कहाहीं। रघुपति भगति बिना सुख नाहीं॥ 🌿🌿भावार्थ:-हे पक्षीराज! उन सबका मत यही है कि श्री रामजी के चरणकमलों में प्रेम करना चाहिए। श्रुति, पुराण और सभी ग्रंथ कहते हैं कि श्री रघुनाथजी की भक्ति के बिना सुख नहीं है॥ 🌹🌿🌹प्रभु श्री राम चंद्र जी सभी का सदा कल्याण करें सदा मंगल प्रदान करें जय श्री राम जी 🌹🌿🌹🌿🙏

+365 प्रतिक्रिया 106 कॉमेंट्स • 249 शेयर
sushma May 11, 2021

+15 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB