Shivsanker Shukla
Shivsanker Shukla Apr 19, 2021

शुभ सोमवार की शुभ संध्या में मंदिर परिवार के सभी आदरणीय भगवत प्रेमी भाई बहन आप सभी को संध्या की राम राम आज भगवती मां दुर्गा का सप्तम स्वरूप कालरात्रि के रूप में पूजा जाता है मां कालरात्रि का स्वरूप अति प्रचंड क्रोध से परिपूर्ण रौद्र रूप है भगवान शिव जिनके सामने स्वयं शव बनकर लेट जाते हैं लेकिन मां कालरात्रि साधक की साधना से अति शीघ्र प्रसन्न होती है तो मां कालरात्रि की आरती का हम आप सभी भाई-बहन श्रवण लाभ लेते हुए भगवती मां के दिव्य दर्शन कर स्वयं को कृतार्थ करें जय माता दी जय मां कालरात्रि

+231 प्रतिक्रिया 44 कॉमेंट्स • 76 शेयर

कामेंट्स

sanjay choudhary Apr 19, 2021
जय माता दी।।।। आपकी रात्रि शुभ रहे।।।🙏🙏

BK WhatsApp STATUS Apr 19, 2021
जय माता सेरोवाली दुर्गा भवानी मां नमो नमः शुभ रात्रि स्नेह वंदन धन्यवाद 🌹🌹🙏🙏

Archana Singh Apr 19, 2021
,🙏🌹जय माता दी🌹🙏 शुभ रात्रि वंदन भाई जी🙏🌹 माता रानी आपका हर सपना साकार करें🙏🙏🌹🌹

🙋🅰NJALI😊ⓂISH®🅰🙏 Apr 19, 2021
☘️!!*श्री शिवाय नमस्तुभ्यं*!!🌺या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कालरात्रि रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥🌺जय माता दी🌺शुभ रात्रि वंदन भाई जी 🙏अक्षय ,पुण्य ,लोकों के सुख, की देवी 👁️मांँ👁️कालरात्रि एवं देवाधिदेव महादेव मेरे भोले नाथ जी की कृपा दृष्टि आशीर्वाद आप एवं आपके संपूर्ण परिवार परसदैव बना रहे,🙌🌺🍃🌺🍃🌺 सुख, शान्ति एवम समृध्दि की मंगलमय कामनाओं के साथ आप एवं आपके पूरे परिवार को नवरात्रि के सप्तम दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 💐💖 🌹मेरे आदरणीय भाई जी🙏माता रानी आप सभी की रक्षा करें....!!! 🙌💐🙏🌹जय माता दी🌹 ☘️हर हर महादेव 🙏🔱🚩🔱🚩🚩🔱🚩🔱🚩🍹🍹🍋🍋🍊🍊🍇🍇🍍🍍🍎🍎👈

K L Tiwari Apr 19, 2021
🌺🌺🌺ॐ कालरात्रि नमोस्तुते🌺🌺🌺 🌸🚩🌸राम राम भाई जी,जय श्रीमाता की🌷🚩🌷भोलेनाथ की जय🍂🌼🌾🌼 🌺🚩🌺मातारानी की कृपा आप पर सदा बनी रहे भाई जी,आप स्वस्थ रहें प्रसन्न रहें,शुभरात्रि वन्दन जी🌹🙏🌹

Ansouya M 🍁 Apr 19, 2021
शुभ रात्रि माननीय शिव जी जय माता दी 🙏🌹 जय श्री राधे कृष्ण 🙏🙏🕉

Ansouya M 🍁 Apr 20, 2021
जय सिया राम 🙏🌷 जय माता दी 🙏🌹 सादर शुभ प्रभात माननीय शिव जी 🙏 आप का दिन शुभ और मंगलमय हो 🙏

BK WhatsApp STATUS Apr 20, 2021
जय माता दुर्गा अष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं जय माता दी शुभ प्रभात स्नेह वंदन धन्यवाद 🌹🙏🙏🙏🙏

p kumar Apr 20, 2021
🙏🌷सुप्रभात🌷🙏 🙏🌷जय माता दी🌷🙏 🙏🌷जय श्री राम🌷🙏 🙏🌷जय हनुमान🌷🙏 🙏🌷ॐ नमः शिवाय🌷🙏 🙏🌷हर हर महादेव🌷🙏 🌷जय श्री महाकाल🌷 ॐ नमो भगवते वासुदेवाय

Manoj manu Apr 20, 2021
🚩🔔🌹जय माता दी आप सभी को महाअष्टमी की अनेकानेक हार्दिक शुभकामनाएँ जी ,जगत जननी माँ भगवती की अनंत सुंदर एवं ममतामयी कृपा के साथ में शुभ दिन मधुर मंगल भाई जी 🌹🌿🙏

पं. सर्व कान्त शुक्ला Apr 20, 2021
।।।।। माता रानी के पावन श्री चरणों में कोटि कोटि प्रणाम।।।। ।।।। शुभ प्रभात वंदन नमन।।।।

Renu Singh Apr 20, 2021
🙏🌹 Jai Mata Di 🌹🙏 Shubh Prabhat Bhai Ji 🙏 Maa Gauri Avam Hanuman Ji ki Anant kripa Aap aur Aàpke Pariwar pr Sadaiv Bni rhe Aàpka Din Shubh ho Bhai Ji 🙏🌹

sanjay Sharma Apr 20, 2021
जय श्री राम जय श्री सीताराम जय श्री राधे कृष्णा जय बजरंग बली जय माता दी या देवी सर्वभूतेषु बुद्धि रूपेण संस्थिता नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम शुभ दोपहरी जी भाई आप कैसे हैं भाई आप सदा खुश रहिए और जीवन में सदैव कामयाबी हासिल करते रहे माता महागौरी सदा आप सभी का भंडार भरा रखें

sanjay Sharma Apr 20, 2021
जय श्री राधे कृष्णा जय श्री सीताराम जय माता दी जय बजरंग बली शुभ दोपहरी जी भाई ईश्वर आपके जीवन में सदैव हर खुशी प्रदान करें आपका हर पल सुखमय हो

Ansouya M 🍁 Apr 20, 2021
जय माता दी 🌷🌷 सादर सप्रेम शुभ दोपहर माननीय शिव जी दुर्गा अष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं आपको सपरिवार माननीय शिव जी 🙏 सर्व मंगल मागल्ये शिवे सर्वाथ साघिके शरणये त्रयमबके गौरी नारायणी नमोस्तुते 🌷🌷🌷🌷🙏🙏🙏

Ansouya M 🍁 Apr 20, 2021
माता रानी उत्तम स्वस्थिय सुख समृद्धि यश कीर्ति की संपन्नता बनाये रखें माननीय शिव जी 🙏

r h Bhatt Apr 20, 2021
Jai matage aapko our AAP k Parivar Ko happy Durga ashtami ki Hardik Shubh Kamna ji Vandana ji

Shanti pathak May 16, 2021

+39 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 39 शेयर
Sweta Saxena May 16, 2021

+25 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Ramesh Agrawal May 16, 2021

+17 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 45 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

पुराने समय की बात है। मोहन काका डाक विभाग के कर्मचारी थे। बरसों से वे माधोपुर और आस पास के गाँव में चिट्ठियां बांटने का काम करते थे। एक दिन उन्हें एक चिट्ठी मिली, पता माधोपुर के करीब का ही था लेकिन आज से पहले उन्होंने उस पते पर कोई चिट्ठी नहीं पहुंचाई थी। रोज की तरह आज भी उन्होंने अपना थैला उठाया और चिट्ठियां बांटने निकल पड़े। सारी चिट्ठियां बांटने के बाद वे उस नए पते की ओर बढ़ने लगे। दरवाजे पर पहुँच कर उन्होंने आवाज़ दी, “पोस्टमैन!” अन्दर से किसी लड़की की आवाज़ आई, “काका, वहीं दरवाजे के नीचे से चिट्ठी डाल दीजिये।” “अजीब लड़की है, मैं इतनी दूर से चिट्ठी लेकर आ सकता हूँ और ये महारानी दरवाजे तक भी नहीं निकल सकतीं !”, काका ने मन ही मन सोचा। “बाहर आइये! रजिस्ट्री आई है। हस्ताक्षर करने पर ही मिलेगी!”, काका खीजते हुए बोले। “अभी आई।”, अन्दर से आवाज़ आई। काका इंतज़ार करने लगे, पर जब 2 मिनट बाद भी वह नहीं आयी तो उनके सब्र का बाँध टूटने लगा। “यही काम नहीं है मेरे पास, जल्दी करिए और भी चिट्ठियां पहुंचानी है।” ऐसा कहकर काका दरवाज़ा पीटने लगे। कुछ देर बाद दरवाज़ा खुला। सामने का दृश्य देख कर काका चौंक गए। एक 12-13 साल की लड़की थी जिसके दोनों पैर कटे हुए थे। उन्हें अपनी अधीरता पर शर्मिंदगी हो रही थी। लड़की बोली, “क्षमा कीजियेगा मैंने आने में देर लगा दी, बताइए हस्ताक्षर कहाँ करने हैं?” काका ने हस्ताक्षर कराये और वहां से चले गए। इस घटना के आठ-दस दिन बाद काका को फिर उसी पते की चिट्ठी मिली। इस बार भी सब जगह चिट्ठियां पहुँचाने के बाद वे उस घर के सामने पहुंचे! “चिट्ठी आई है, हस्ताक्षर की भी ज़रूरत नहीं है…नीचे से डाल दूँ।”, काका बोले। “नहीं-नहीं, रुकिए मैं अभी आई।”, लड़की भीतर से चिल्लाई। कुछ देर बाद दरवाजा खुला। लड़की के हाथ में गिफ्ट पैकिंग किया हुआ एक डिब्बा था। “काका लाइए मेरी चिट्ठी और लीजिये अपना तोहफ़ा।”, लड़की मुस्कुराते हुए बोली। “इसकी क्या ज़रूरत है बेटा”, काका संकोचवश उपहार लेते हुए बोले। लड़की बोली, “बस ऐसे ही काका…आप इसे ले जाइए और घर जा कर ही खोलियेगा!” काका डिब्बा लेकर घर की और बढ़ चले, उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि डिब्बे में क्या होगा? घर पहुँचते ही उन्होंने डिब्बा खोला और तोहफ़ा देखते ही उनकी आँखों से आंसू टपकने लगे। डिब्बे में एक जोड़ी चप्पलें थीं। काका बरसों से नंगे पाँव ही चिट्ठियां बांटा करते थे लेकिन आज तक किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया था। ये उनके जीवन का सबसे कीमती तोहफ़ा था…काका चप्पलें कलेजे से लगा कर रोने लगे। उनके मन में बार-बार एक ही विचार आ रहा था कि बच्ची ने उन्हें चप्पलें तो दे दीं पर वे उसे पैर कहाँ से लाकर देंगे? दोस्तों, संवेदनशीलता या sensitivity एक बहुत बड़ा मानवीय गुण है। दूसरों के दुःखों को महसूस करना और उसे कम करने का प्रयास करना एक महान काम है। जिस बच्ची के खुद के पैर न हों उसकी दूसरों के पैरों के प्रति संवेदनशीलता हमें एक बहुत बड़ा सन्देश देती है। आइये हम भी अपने समाज, अपने आस-पड़ोस, अपने यार-मित्रों,अजनबियों सभी के प्रति संवेदनशील बनें…। आइये हम भी किसी के नंगे पाँव की चप्पलें बनें और दुःख से भरी इस दुनिया में कुछ खुशियाँ फैलाएं... 🌈 राह दे राधे राधे 🌈

+247 प्रतिक्रिया 54 कॉमेंट्स • 322 शेयर
surandar Nagar May 16, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर
shiva May 16, 2021

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB